Submit your post

Follow Us

आनंदपाल सिंह एनकाउंटरः उस गैंगस्टर की कहानी जिसने राजस्थान की राजनीति को हिला दिया

शनिवार रात राजस्थान पुलिस ने गैंगस्टर आनंदपाल सिंह को एनकाउंटर में मार दिया है. 

पुलिस की हिरासत से भाग निकले आनंदपाल सिंह की फरारी का मामला बीते दो साल से चर्चा में था. इतने लंबे वक्त तक अखबारों के पहले पन्ने, राजस्थान पुलिस और सरकारी अधिकारियों की मीटिंग्स इस केस में बहुत उलझे रहे थे. एक साल पहले पुलिस ने कार में सोते हुए उसके दोस्त गैंगस्टर सुभाष मूंड को पकड़ा तो पता चला था कि पांच लाख का ईनामी गैंगस्टर आनंदपाल सीने पर बुलेट प्रुफ जैकेट पहने और हाथ में एके-47 लिए खेतों में किसानों की बकरियां चुरा रहा है. वह बीकानेर, नागौर या शेखावाटी के खेतों में, तो कभी गाड़ियों में रात-दिन निकाल रहा था लेकिन पुलिस के हाथ नहीं आ रहा था.

उसके परिवार और रिश्तेदारों को भी पुलिस ने पकड़ा लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. फिर आनंदपाल ने अपनी मां और प्रेमिका के जरिए अपील करवाई. सुप्रीम कोर्ट के वकील एपी सिंह ने जयपुर में राज्यपाल कल्याण सिंह से मुलाकात की और कहा कि सुरक्षा दी जाए तो आनंदपाल सामने आने और सरेंडर करने को तैयार है. वकील ने ये भी कहा कि आनंदपाल देशभक्त है, उसने पंचायत चुनाव लड़ा था और उसके बाद स्थानीय नेताओं ने अत्याचार करके उसे जुर्म के दलदल में धकेला जबकि वो एक प्रतिभाशाली नौजवान था.

वकील एपी सिंह ने राजस्थान हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को भी चिट्ठी दी थी जिसमें कहा है कि इस आपराधिक मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाए क्योंकि आनंदपाल और जेल में बंद उसकी प्रेमिका ने कोई अपराध नही किया है. कि उनके खिलाफ ये आरोप गलत हैं कि उसने एके-47 से गोलियां चलाकर पुलिसवालों को घायल किया और भागा. सिंह का कहना था कि आनंदपाल जेल से नहीं भागता तो उसके साथी बलवीर बानूड़ा की तरह उसका दुश्मन गैंगस्टर राजू ठेहट भी उसे जेल में मरवा देता.

anand pal singh
आनंदपाल सिंह अपनी एक पेशी के दौरान.

खैर, अब ये कहानी खत्म हो चुकी है. मंगलवार रात 11.30 बजे के करीब बीकानेर के पास चुरू जिले के मालासर में पुलिस की एक टीम ने पूरी तैयारी से दबिश दी. आनंदपाल सिंह वहीं रहने वाले श्रवण सिंह के घर में छुपा हुआ था जबकि एक वक्त ये खबरें चल रही थीं कि वो दुबई जा चुका है. तो मालासर के इस घर में पुलिस का आनंदपाल से एनकाउंटर हुआ. पुलिस के मुताबिक उनके और आनंदपाल व उसके दो साथियों के बीच गोलियों के 100 से ज्यादा राउंड चले. इसी दौरान वो ढेर हो गया. बताया जाता है कि उसे सीने पर छह गोलियां लगीं. इस मुठभेड़ में कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हुए. इससे पहले आनंदपाल के दो भाइयों को हरियाणा के सिरसा से पकड़ लिया गया था. माना जा रहा है कि उसके भाइयों ने ही दबाव में खुलासा किया कि आनंदपाल कहां छुपा हुआ था. 

आनंदपाल का शव और वो घर जहां एनकाउंटर हुआ था.
आनंदपाल का शव और वो घर जहां एनकाउंटर हुआ था.

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, उनके मंत्रियों और राज्य के सीनियर पुलिस ऑफिसर्स पर आनंदपाल को पकड़ने का बहुत भारी दबाव था और दो साल से उनकी बड़ी किरकिरी हो रही थी.  आनंदपाल के जाने के बाद अब उसकी कहानी ही है जो बहुत ध्यान से पढ़ी जाएगी जिसकी कई परतें, कई स्थितियां और अलग ही पॉलिटिक्स है.

जानिए इस गैंगस्टर और उसकी फरारी की कहानी

#1. आनंदपाल राजस्थान के नागौर जिले की लाडनूं तहसील के एक छोटे से गांव का रहने वाला था. लूट, वसूली, मर्डर और गैंगवार के करीब 24 मामलों में वो शामिल था.

#2. उसकी महत्वाकांक्षा लिकर किंग बनने की बताई जाती है. जिसके कारण विरोधी गैंग से उसकी लड़ाई होती रही. बीकानेर जेल में 2015 में उसका गैंगवार हुआ था. आनंदपाल को भी गोली लगी थी.

#3. कहा जाता है कि वो हथियारों और खून-खराबे के सहारे राजस्थान के अपराध जगत में पहले नंबर पर आना चाहता था.

#4. अपराध की दुनिया में उसका प्रवेश 2006 में हुआ. उसने तब डीडवाना में जीवनराम गोदारा की गोली मारकर हत्या कर दी थी. डीडवाना में दर्ज 13 मामलों में से 8 में उसे भगौड़ा घोषित किया हुआ था.

#5. सीकर में हुए गोपाल फोगावट हत्याकांड में भी उसी का हाथ बताया जाता है. ये मामला विधानसभा में उठा था.

anand-pal-singh
आनंदपाल सिंह अपनी एक पेशी के दौरान.

#6. जून, 2011 में उसने बीकानेर के सुजानगढ़ में भोजलाई चौराहे पर गोलीबारी की थी. तीन लोग घायल हुए थे. आरोप था कि उसी दिन उसने गनौड़ा जगह में शराब ठेके पर सेल्समैन के भाई को मार दिया.

#7. आनंदपाल के नाम के अनेक किस्से शेखावाटी क्षेत्र में हीरोइक तरीके से चाव से सुने-सुनाए जाते हैं जहां का वो रहने वाला था.

#8. पहले वह बीकानेर और फिर अजमेर जेल में बंद था. 3 सितंबर 2015 को आनंदपाल और उसके साथी सुभाष मूंड की नागौर कोर्ट में पेशी थी. पुलिस वैन में उसे फिर अजमेर सेंट्रल जेल लाया जा रहा था.

#9. लौटते हुए आनंदपाल ने पुलिस वालों को मिठाई खिलाई जिससे उन्हें नशा आ गया. आगे उसके साथियों ने सड़क रोक ली और गोलियां चलाते हुए उसे भगाकर ले गए. इसमें एक पुलिसकर्मी मारा गया था.

#10. तमाम पुलिस महकमे की सक्रियता के बावजूद वह किसी के हाथ नहीं आया था. उसे लेकर सरकार और पुलिस की इतनी किरकिरी हुई थी कि पूरा अंदेशा था कि उसका एऩकाउंटर किया जाएगा.

और पढ़ें:
फेसबुक पर धमकी देकर AK-47 से पुलिस वालों को मारता है राजस्थान का डॉन आनंदपाल
फिल्मों में महात्मा गांधी के ये 16 चित्रण आपने देखे हैं?
फ्रैंक अंडरवुड की बोली 36 बातें: ये आदमी बता रहा है आपके नेता कितने बड़े दरिंदे होते हैं
Cannes-2017 की 8 धाकड़ फिल्में, जो ऐश्वर्या-सोनम के गाउन की खबरें भुला देंगी
पॉर्न फिल्मों के वो 8 सीन जो आपको नहीं दिखाए जाते हैं
कुरोसावा की कही 16 बातें: फिल्में देखना और लिखना सीखने वालों के लिए विशेष
फिदेल कास्त्रो पर बनी दो डॉक्यूमेंट्री फिल्में ‘कोमान्दांते’ और ‘638 वेज़ टु किल कास्त्रो’
सब BLACKS को गोली मार दो और कदीर के कैनवस में भेज दो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

दिल्ली में कार लेने पर डेढ़ लाख और बाइक पर मिलेगी 30 हज़ार की छूट!

सीएम अरविंद केजरीवाल ने यह ऐलान किया है.

ICC ने बताया, भारत और ऑस्ट्रेलिया में से कौन होस्ट करेगा T20 वर्ल्ड कप 2021

2022 के T20 वर्ल्ड कप पर भी हुआ फैसला.

केरल: रनवे से फिसलकर दो टुकड़ों में बंटा एयर इंडिया का विमान, पायलट सहित 16 की मौत

वंदे भारत मिशन के अंतर्गत दुबई से 191 यात्रियों को लेकर आ रहा था विमान.

दिशा सालियान की मौत वाली रात क्या हुआ था? वॉट्सऐप मैसेज से हुआ खुलासा

दिशा की मौत सुशांत से पांच दिन पहले हुई थी.

तैयार हो जाइये! टीम इंडिया अगले साल किस-किस से भिड़ेगी, पता चल गया है

अगले साल होने वाले T20 वर्ल्डकप को लेकर आ गया बड़ा अपडेट.

सर्वे: कितने प्रतिशत भारतीय मानते हैं कि भारत को चीन के साथ युद्ध करना चाहिए?

इंडिया टुडे और कार्वी इनसाइट्स के मूड ऑफ द नेशन सर्वे में लोगों ने क्या बताया?

8 साल पुराना मामला, जिसमें SC ने केंद्र से कहा- इटली से मुआवजा दिलवाओ, तब केस बंद होगा

इटली के नौसैनिकों ने भारतीय मछुआरों को मारा था.

यशराज की बवाल एक्शन फिल्म 'पठान' से वापसी करने जा रहे हैं शाहरुख खान

'पठान' में शाहरुख के साथ चौथी बार दीपिका पादुकोण नज़र आ सकती हैं.

लगातार दूसरे दिन पानी पिलाने पहुंचे सरफराज़, मिस्बाह ने बताया क्यों करवा रहे हैं ऐसा!

ब्रैडमेन, पोन्टिंग, धोनी की लिस्ट में शामिल हुए सरफराज़ अहमद.

रिया ने बीते एक साल में किसे और कितनी बार कॉल किया, पता चल गया है

रिया की कॉल डिटेल्स सामने आई हैं.