Submit your post

Follow Us

तालिबान पर पूर्व अफगान उप-राष्ट्रपति के भाई की हत्या का आरोप, मारने से पहले बुरी तरह टॉर्चर किया

अफगानिस्तान के पूर्व उप राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के भाई रोहुल्लाह सालेह की कथित तौर पर हत्या कर दी गई है. हत्या का आरोप है तालिबान पर. घटना पंजशीर घाटी की बताई जा रही है, जहां नेशनल रेज़िस्टेंस फ्रंट (NRF) और तालिबान के बीच बीते कई दिनों से जबर्दस्त जंग चल रही है. हालांकि तालिबान का दावा है कि उसने पंजशीर पर कब्जा कर लिया है, लेकिन NRF लगातार इस दावे को नकार रहा है.

इस बीच शुक्रवार 10 सितंबर को आई तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तालिबान के लड़ाके पंजशीर में अमरुल्लाह सालेह के घर तक पहुंच गए. यहां अमरुल्लाह तो नहीं मिले, लेकिन उनके भाई रोहुल्लाह घर पर थे. तमाम न्यूज एजेंसियों के हवाले से इंडिया टुडे ने बताया है कि तालिबान ने पहले रोहुल्लाह को काफी टॉर्चर किया और बाद में उनकी हत्या कर दी. रॉयटर्स की ख़बर के मुताबिक- रोहुल्लाह के भतीजे इबादुल्लाह ने बताया कि तालिबान ने रोहुल्लाह के मृत शरीर को दफनाने भी नहीं दिया. कहा कि ‘इसके शरीर को सड़ने दो’. ये भी ख़बर आ रही है कि तालिबान के पंजशीर पर बढ़ते दबदबे के बीच अमरुल्लाह सालेह पड़ोसी मुल्क ताजिकिस्तान भाग गए हैं. हालांकि ताजिकिस्तान इस बात को नकार रहा है.

अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पंजशीर पर फतेह हासिल करने के लिए तालिबान क्रूरता पर उतर आया है. टोलो न्यूज़ के मुताबिक उसने पंजशीर की बिजली काट दी है, वहां कनेक्टिविटी के सभी संसाधन बंद कर दिए गए हैं. राशन की आपूर्ति भी रोके जाने की ख़बर आ रही है. इसका सीधा असर पंजशीर के आम अफगान नागरिकों पर पड़ रहा है. तालिबान का कहना है कि घाटी में स्थिति सामान्य होने पर वो बिजली कनेक्शन चालू करेगा, लेकिन ऐसा अभी तक हुआ नहीं है.

Amrullah Saleh
अफगानिस्तान के पहले उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह की पुरानी तस्वीर. (पीटीआई)

कथनी-करनी में अंतर

दूसरी तरफ तालिबान की कथनी और करनी में अंतर लगातार सामने आ रहा है. कुछ दिन पहले तक महिलाओं का हिमायती दिख रहा तालिबान अब अपना रंग दिखा रहा है. टोलो न्यूज की एक क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें पत्रकार तालिबान के प्रवक्ता से सवाल पूछता है. जवाब में तालिबान प्रवक्ता कहते हैं कि,

“एक महिला मंत्री नहीं हो सकती, ये ऐसा है जैसे आप उसके गले में कुछ डालते हैं जिसे वो संभाल नहीं सकती. एक महिला के लिए कैबिनेट में होना जरूरी नहीं है, उन्हें बच्चे पैदा करने चाहिए. महिला प्रदर्शनकारी पूरे अफगानिस्तान का प्रतिनिधित्व नहीं करती हैं.”

इससे पहले बीती 7 सितंबर को तालिबान ने कथित तौर पर दो पत्रकारों को भी बेरहमी से पीटा था. दोनों पत्रकार तालिबान के खिलाफ महिलाओं के विरोध प्रदर्शन की रिपोर्टिंग कर रहे थे. इन दोनों पत्रकारों के नाम तकी दरयाबी और नेमत नकदी हैं. दरयाबी और नकदी अफगानिस्तान के मीडिया ऑउटलेट ‘इतिलात-ए-रोज’ के लिए काम करते हैं. इन दोनों पत्रकारों की तस्वीर काफी वायरल हुई. इसमें उनके शरीर पर पिटाई से हुई चोटों के निशान साफ दिखाई दे रहे थे.

बताते चलें कि 11 सितंबर यानी शनिवार को तालिबान की नवनियुक्त सरकार का शपथ ग्रहण भी होना है.


महिलाओं पर तालिबान की घटिया सोच बेनकाब, बच्चे पैदा करने पर ‘गंदी बात’ बोली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.

लखीमपुर का रोंगटे खड़े करने वाला वीडियो, प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पीछे से कैसे चढ़ा दी गाड़ी!

लखीमपुर का रोंगटे खड़े करने वाला वीडियो, प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पीछे से कैसे चढ़ा दी गाड़ी!

घटना में घायल शख्स ने 'दी लल्लनटॉप' को बताई पूरी कहानी.

फोन पर नेताओं की कुर्सी फिक्स करती थी, अब नई तरह की हैट्रिक बनाई है

फोन पर नेताओं की कुर्सी फिक्स करती थी, अब नई तरह की हैट्रिक बनाई है

पनामा हो या पैराडाइज़, या हो पैंडोरा. लीक जहां, नीरा राडिया का नाम वहां.