Submit your post

Follow Us

अमिताभ ने 'कमला पसंद' से कॉन्ट्रैक्ट ख़त्म कर लिया, जो वजह बताई वो वाजिब लगती है

पिछले दिनों एक नया चलन शुरू होता नज़र आया था. हिंदी फिल्मों के तमाम सुपरस्टार्स पान मसाला के ऐड में नज़र आने लगे. विमल के ऐड में अजय देवगन नज़र आ रहे थे. फिर उसी पान मसाला ब्रैंड से शाहरुख खान जुड़ गए. इसके बाद सलमान खान राजश्री नाम की पान मसाला कंपनी के साथ जुड़े. पिछले कुछ समय से अमिताभ बच्चन भी कमला पसंद के ऐड में नज़र आ रहे थे. मगर अब अमिताभ ने इस कंपनी के साथ अपना कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर लिया है. इस बारे में बाकायदा एक स्टेटमेंट जारी किया गया है. इसमें अमिताभ के हवाले से बताया गया है कि उन्हें नहीं पता था कि ये कंपनी सरोगेट एडवर्टाइज़मेंट करती है. सरोगेट एडवर्टाइज़मेंट का मतलब प्रचार किसी और प्रोडक्ट का दिखाना और उसके नाम पर दूसरा प्रोडक्ट बेचना. खैर, इस स्टेटमेंट में ये बताया गया कि अमिताभ ने न सिर्फ कमला पसंद के साथ कॉन्ट्रैक्ट टर्मिनेट कर दिया है बल्कि प्रमोशन के लिए मिले पैसे भी वापस कर दिए हैं.

अमिताभ बच्चन के इस कदम के पीछे नेशनल एंटी-टोबैको ऑर्गनाइज़ेशन का हाथ बताया जा रहा है. उन्होंने अमिताभ से गुज़ारिश की कि अगर वो इस ऐड कैंपेन से दूर हो जाएंगे, तो ये नौजवानों में तंबाकू की लत को कम करने में मददगार साबित होगा. इस बारे में अमिताभ बच्चन के ऑफिस से जारी किए गए ऑफिशियल स्टेटमेंट में क्या लिखा गया है, वो हम आपको नीचे पढ़वा रहे हैं-

”कमला पसंद कमर्शियल के टीवी पर आने के कुछ ही समय बाद मिस्टर बच्चन ने ब्रांड को कॉन्टैक्ट किया और पिछले हफ्ते उससे अलग हो गए. जब मिस्टर बच्चन उस ब्रांड से जुड़े, तब उन्हें नहीं पता था कि वो भी सरोगेट एडवर्टाइज़िंग के अंतर्गत आता है. ऐसे में मिस्टर बच्चन ने उस ब्रांड के साथ अपना कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर लिया है. साथ ही प्रमोशन के लिए मिले पैसे भी वापस कर दिए.”

सुपरस्टार्स का पान मसालों के ऐड में दिखने का मसला काफी समय से चर्चा में बना हुआ है. पिछले दिनों नेशनल ऑर्गनाइज़ेशन फॉर टोबैको एराडिकेशन के प्रेज़िडेंट शेखर सालकर ने अमिताभ बच्चन को संबोधित करते हुए एक लेटर लिखा था. जिसमें ये बताया गया था कि पान मसाले का सेवन लोगों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. इसमें ये भी कहा गया था कि अमिताभ पल्स पोलियो जैसे सरकारी कैंपेन के ब्रैंड एम्बैसेडर हैं. इसलिए उन्हें पान मसाले के एडवर्टाइज़मेंट से खुद को फौरन अलग कर लेना चाहिए.

पान मसाले के विज्ञापन में नज़र आने के बाद से अमिताभ बच्चन के फैंस भी काफी निराश नज़र आ रहे हैं. उनके सोशल मीडिया पोस्ट पर ढेर सारे कमेंट इसी विषय से जुड़े हुए हैं. कमला पसंद के ऐड में नज़र आने के बाद परमवीर राठौर नाम के एक फेसबुक यूज़र ने अमिताभ के पोस्ट पर कमेंट करते हुए लिखा-

”एक बुजुर्ग और सम्मानित अमिताभ बच्चन कमला पसंद जैसे कैंसर कारक गुटखे का प्रचार करेंगे यह कभी सपने में नहीं सोचा था. अमिताभ बच्चन के लिए पैसा ही सब कुछ है. पैसा दो और इनसे कुछ भी काम करवा लो. इनका कोई भी एथिक्स नहीं है.”

इसके जवाब में अमिताभ ने लिखा-

”मान्यवर, कमला पसंद पदार्थ, मुख शुद्धि है, सौंफ है… गुटखा नहीं!!! गुटखा तो सरकार ने बैन कर दिया है!”

मगर इस तरह के कमेंट्स फिर भी नहीं रुके. एक फेसबुक यूज़र ने अमिताभ के एक पोस्ट पर कमेंट करते हुए लिखा कि उन्हें कमला पसंद का विज्ञापन करने की क्या ज़रूरत पड़ गई. इसे जवाब में अमिताभ लिखते हैं-

”मान्यवर, क्षमा प्रार्थी हूं. किसी भी व्यवसाय में यदि किसी का भला हो रहा है, तो ये नहीं सोचना चाहिए कि हम उसके साथ क्यों जुड़ रहे हैं! हां, यदि व्यवसाय है, तो उसमें हमें भी अपने व्यवसाय के बारे में सोचना पड़ता है. अब आपको ये लग रहा है कि मुझे ये नहीं करना चाहिए था. लेकिन इसको करने से मुझे भी धनराशि मिलती है.”

कमला पसंद ऐड पर अमिताभ और उनके फैंस के बीच हुई बातचीत का स्क्रीनग्रैब.
कमला पसंद ऐड पर अमिताभ और उनके फैंस के बीच हुई बातचीत का स्क्रीनग्रैब.

और अब फाइनली अमिताभ ने कमला पसंद से अलग होने का फैसला ले लिया है. अमिताभ बच्चन आने वाले दिनों में अयान मुखर्जी की ‘ब्रह्मास्त्र’, नागराज मंजुले की ‘झुंड’ और सूरज बड़जात्या की फिल्म ‘ऊंचाई’ में नज़र आने वाले हैं.


वीडियो देखें: अमिताभ बच्चन को यूज़र ने डोनेट करने को कहा तो बिग बी ने पूरा दान खाता सोशल मीडिया पर डाल दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.