Submit your post

Follow Us

अलीगढ़ मर्डर केस: क्यों पीड़ित परिवार ने सीएम योगी से मिलने से इनकार किया

अलीगढ़ में 2.5 साल की बच्ची की हत्या के बाद तनाव है. मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है. बच्ची के परिवार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने से इनकार कर दिया है. सीएम ने परिवार को मिलने के लिए लखनऊ बुलाया था. लेकिन बच्ची के पिता ने सीएम से मिलने से मना कर दिया. 9 जून को एसडीएम पीड़ित परिवार के घर पहुंचे थे. उन्होंने परिवार से उन लोगों की लिस्ट मांगी, जो सीएम से मिलने के लिए लखनऊ जाएंगे. इस पर बच्ची के पिता ने कहा कि इस समय वो या उनका परिवार मुख्यमंत्री से मिलने नहीं जा सकता. पिता ने बच्ची के हत्यारों के लिए फांसी की मांग की है.

पुलिस इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है. मोहम्मद असलम, जाहिद, जाहिद का भाई मेंहदी और जाहिद की पत्नी को गिरफ्तार किया गया है. बच्ची का शव जिस दुपट्टे में लिपटा मिला वह जाहिद की पत्नी का था. एक आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.

2 जून को यूपी के अलीगढ़ में एक बच्ची का शव कूड़े के ढ़ेर पर मिला था. कुत्ते उसे नोंच-नोंच कर खा रहे थे. पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि शव उसी बच्ची का था जिसे पुलिस 4 दिन से ढूंढ रही थी. बच्ची के घरवालों ने भी बच्ची के शव को पहचान लिया. बच्ची की बेरहमी से हत्या की गई थी. उसकी बॉडी को क्षत-विक्षत किया किया गया था. उसे जलाने की भी कोशिश की गई थी. बच्ची की हत्या पैसों की वजह से की गई थी.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची की दोनों आंख डैमेज थीं. रीढ़ की हड्डी टूटी थी. छाती पर जख्म थे. सिर की हड्डियां टूटी हुई थी. सीधा हाथ कटा हुआ था. जिस्म पर तेजाब भी डाला गया था.

लड़की की मां कहा था कि

पुलिस ने समय रहते कार्रवाई नहीं की. वह 30 मई को वह घर के बाहर खेल रही थी. वह बहुत चंचल थी. उन्होंने उसे हमारे घर के बाहर से उठाया. हमने ध्यान नहीं दिया क्योंकि वह आमतौर पर पड़ोस में खेलने चली जाती थी, लेकिन जब वह वापस नहीं लौटी, तो हम घबरा गए और खोजबीन शुरू की. पुलिस ने उस तरह का काम नहीं किया जैसा कि उसे पहले दिन करना चाहिए था.

पैसे के विवाद में हत्या
बच्ची की हत्या पैसों के लेनदेन के विवाद में की गई. बच्ची की पिता के मुताबिक जाहिद और असलम ने 40 हजार रुपये उधार लिए थे. जाहिद ने 35 हजार रुपए उसे वापस तो कर दिए लेकिन बचे हुए 5 हजार रुपयों को लेकर अकसर बहसबाजी होती थी. पैसों के लेन-देन पर दोनों के बीच कई बार कहासुनी भी हुई. इसके बाद बदला लेने के लिए जाहिद और असलम ने मिलकर बच्ची को मार दिया.


अलीगढ़: ढाई साल की बच्ची की हत्या पर योगी के मंत्री बोले ‘होती रहती है ऐसी घटनाएं’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी बोले-तबलीगी जमात की वजह से लॉकडाउन बढ़ाना पड़ा

ये भी कहा-तबलीग़ियों का गुनाह हिंदुस्तान के मुसलमानों का का गुनाह नहीं है.

कोरोना का नियम बदला, अब बिना टेस्ट ही घर भेजे जाएंगे कम बीमार मरीज

जानिए क्या है सरकार की नई गाइडलाइंस.

दवा बेची, समाजसेवा की, फिर पता चला ख़ुद ही कोरोना पॉज़िटिव हैं, अब जेल हो गई

बनारस के दवा व्यापारी ने कई लोगों को बांटा कोरोना.

क्या सोशल डिस्टेंसिंग से चूकने की इतनी बुरी सज़ा देगी पुलिस?

किसी एक पुलिसवाले का ऐसा करना बाकियों की मेहनत पर पानी फेर देता है.

उदयपुर में एक ही दिन में कोरोना वायरस के 58 केस सामने आए

राजस्थान में मरीज़ों की संख्या तीन हज़ार से ऊपर पहुंच चुकी है.

सूरत: BJP कार्यकर्ता पर आरोप, घर पहुंचाने के नाम पर मजदूरों से पैसे लिए, टिकट मांगने पर पीटा!

एक अन्य वीडियो में BJP पार्षद के भाई टिकट के ज्यादा पैसे लेते दिखे.

जिस फ़ैक्टरी से निकली गैस ने तबाही मचाई, उसे क्लीयरेंस ही नहीं मिला था!

आबादी के बीच बना रहे थे स्टायरीन प्रोडक्ट.

रेड जोन में भी जल्द से जल्द लॉकडाउन खत्म करने के पक्ष में क्यों हैं मोंटेक सिंह अहलूवालिया?

बोले- लॉकडाउन की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित गरीबों के लिए सरकार योजना लाए.

राहुल गांधी बोले- कोरोना से लड़ाई में एक मजबूत PM काफी नहीं, कई मजबूत CM और DM की जरूरत

कहा- सरकार को 17 मई के बाद लॉकडाउन खोलने के लिए स्ट्रैटेजी तय करनी ही होगी.

थके हुए मज़दूर रेल की पटरी पर सो रहे थे, मालगाड़ी से कुचलकर 16 की मौत

सुबह मजदूरों के शव पटरी पर बिखरे पड़े थे.