Submit your post

Follow Us

वायुसेना की इन वैकेंसी के रिजल्ट घोषित नहीं होने से कैंडिडेट क्यों इतना डरे हुए हैं?

#Airforce_Result_Do. बीते दिनों ट्विटर पर ये हैशटैग ट्रेंडिंग में रहा. हैशटैग के साथ में रक्षा मंत्रालय और इंडियन एयरफोर्स के आधिकारिक हैंडल को टैग कर ग्रुप X और Y के एनरोलमेंट लिस्ट और रिजल्ट जारी करने की मांग की जा रही थी. रिजल्ट के लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चला रहे अभ्यर्थियों ने दावा किया कि इस हैशटैग पर करीब 20 लाख ट्वीट्स हुए, इसके बावजूद रिजल्ट को लेकर कोई आश्वासन नहीं मिला.

क्या है पूरा मामला?

सबसे पहले तो समझिए ग्रुप X और Y की भर्ती क्या होती है. ग्रुप X और Y के कर्मचारियों को एयरमैन कहा जाता है. एयरफोर्स की ओर से साल में दो बार इनकी भर्ती के लिए परीक्षा कराई जाती है. ऐसे छात्र जो 12वीं पास कर चुके हों या इस बार परीक्षा दे रहे हों, वे इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं. ग्रुप X में एयरमैन टेक्निकल ट्रेड का काम करते हैं. जबकि Y ग्रुप में नॉन टेक्निकल काम करते हैं. ग्रुप X और Y के कर्मचारी अधिकारी रैंक के नीचे के कर्मचारी होते हैं.

क्या समस्या आई?

सोशल मीडिया पर कैंपेन चला रहे अभ्यर्थियों का कहना है कि हर साल दो बार एयरफोर्स की ओर से वैकेंसी निकाली जाती थीं. लेकिन पिछले दो साल में केवल दो बार ही ये वैकेंसी आईं. कैंडिडेट्स की शिकायत है कि ये दो वैकेंसी भी अब तक पूरी नहीं हो सकी हैं. एक परीक्षा नवंबर 2020 में हुई थी. जिसकी सारी प्रक्रिया पूरी हो गई है लेकिन इसकी फाइनल एनरोलमेंट लिस्ट नहीं जारी की जा रही है. एनरोलमेंट लिस्ट यानी कि लिखित परीक्षा, फिजिकल और मेडिकल टेस्ट के बाद जारी होने वाली फाइनल लिस्ट. नवंबर 2020 की परीक्षा में शामिल अमित (बदला हुआ नाम) दी लल्लनटॉप से बात करते हुए कहते हैं,

पिछले साल जुलाई में इनटेक 2 का एग्जाम होना था. कोरोना की वजह से वो हुआ था नवंबर 2020 में. उसके बाद फिजिकल जनवरी में हुआ और मेडिकल फरवरी में हुआ. फिर उन्होंने नोटिस लगाकर बताया कि एनरोलमेंट 26 जुलाई को आएगा. (लेकिन) 26 जुलाई को बताया कि कुछ प्रशासनिक कारणों की वजह से अनिश्चितकाल तक के लिए डिले हो हो गया है. जबकि एयरफोर्स की ये पॉलिसी है कि एग्जाम होने के 30 दिन के अंदर रिजल्ट आ जाना चाहिए. लेकिन कोई अपडेट नहीं मिल पा रहा है.

ये तो हो गई नवंबर 2020 की परीक्षा की बात. जिसका एनरोलमेंट लिस्ट अभी नहीं आया है. अब बात जुलाई 2021 में हुई लिखित परीक्षा की. इसका रिजल्ट भी अब तक नहीं आया है. सोशल मीडिया पर चल रहे कैंपेन में शामिल सूर्या (बदला हुआ नाम) बताते हैं,

सेलेक्शन प्रोसेस जो होता है उसमें सबसे पहले रीटेन एग्जाम होता है. फिर उसका रिजल्ट आता है. हर बार 30 दिन के अंदर इसका रिजल्ट आ जाता है. लेकिन जुलाई में एग्जाम हुआ और 3 महीने बीत चुके हैं लेकिन अब तक रिजल्ट नहीं आया है. पिछली वैकेंसी की एनरोलमेंट लिस्ट नहीं आई है. जबकि इस साल वाली वैकेंसी का रिजल्ट नहीं आया है.

कैंडिडेट्स का कहना है कि एयरफोर्स अपनी ही पॉलिसी फॉलो नहीं कर रही है. अमित (बदला हुआ नाम) कहते हैं,

ग्रुप X और Y के लिए अप्लाई करने की अधिकतम एज लिमिट 20 साल तक की होती है. साथ में एयरफोर्स की ये पॉलिसी भी है कि एनरोलमेंट जारी होते समय कैंडिडेट की उम्र 21 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए. लेकिन अगर इसी तरीके से चलता रहा तो काफी कैंडिडेट्स के लिए दिक्कत हो जाएगी.

डिफेंस एग्जाम्स की तैयारी करने वाले बच्चों के लिए 18 से 21 साल का समय बहुत क्रूशियल होता है. लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं आ रहा. सब यही कह रहे हैं कि प्रशासनिक कारणों से रिजल्ट नहीं आ रहा है. वेबसाइट चेक करते रहो. हम बस ये चाहते हैं कि आप कम से कम हमें ये बता दो कि रिजल्ट कब आएगा.

परीक्षाओं के रिजल्ट में हो रही देरी की वजह से कैंडिडेट्स के एग्जाम देने के चांस भी कम हो रहे हैं. सूर्या (बदला हुआ नाम) कहते हैं,

इसमें हो रही देरी की वजह से एक नई वैकेंसी, जो नवंबर में आने वाली थी, वो कैंसिल हो गई तो एक चांस चला गया. अब अगर ये वैकेंसी नहीं आएगी तो अगली वैकेंसी जो शेड्यूल होगी वो होगी अप्रैल में. इसमें नुकसान ये होगा कि काफी सारे अभ्यर्थी ऐसे हैं जो अगली वैकेंसी आने तक ओवरएज हो जाएंगे. हर साल दो वैकेंसी आती थीं. लेकिन पिछले दो साल में दो वैकेंसी आई हैं और एक भी अभी कम्प्लीट नहीं हो पाई है. एयरफोर्स में ही जो ऑफिसर रैंक की वैकेंसी होती है उसमें कोई दिक्कत नहीं आ रही है. वो सब समय में पर चल रहा है. लेकिन हमारी जो ऑफिसर रैंक से नीचे की वैकेंसी है वो बहुत पीछे चल रही है.

1 अक्टूबर 2021 को जारी नोटिस
1 अक्टूबर 2021 को जारी नोटिस

एयरफोर्स का क्या कहना है?

1 अक्टूबर को एक नोटिस जारी कर एयरफोर्स ने कोरोना महामारी की वजह से पैदा हुई अभूतपूर्व स्थिति और प्रशासनिक कारणों को परिणाम की घोषणा में हो रही देरी की वजह बताया है. इसमे कैंडिडेट्स से अपील की गई है कि नियमित रूप से वेबसाइट और अपना ईमेल चेक करते रहें. केंद्रीय वायुसैनिक चयन बोर्ड (CASB) की हेल्पलाइन पर भी इससे ज्यादा कुछ नहीं बताया जा रहा है.


रंगरूट. दी लल्लनटॉप की एक नई पहल. जहां पर बात होगी नौजवानों की. उनकी पढ़ाई-लिखाई और कॉलेज यूनिवर्सिटी कैंपस से जुड़े मुद्दों की. हम बात करेंगे नौकरियों, प्लेसमेंट और करियर की. अगर आपके पास भी ऐसा कोई मुद्दा है तो उसे भेजिए मेल के जरिए हमारे पास. हमारा पता है rangroot@lallantop.com


तकनीकी शिक्षा की क्वालिटी सुधारने के लिए रखे गए टीचर्स 40 दिन से धरना क्यों दे रहे हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.