Submit your post

Follow Us

गुजरात: घरवालों ने अस्पताल में भर्ती कराया था, कोरोना मरीज का शव बस स्टैंड पर मिला

गुजरात से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां पर अहमदाबाद अस्पताल में भर्ती एक कोरोना पेशेंट का शव बस स्टैंड पर मिला. जानकारी मिलने पर पुलिस ने शव को अस्पताल पहुंचाया.

सांस लेने में दिक्कत हुई तो भर्ती कराया था

इंडिया टुडे की गोपी मनियार की खबर के अनुसार, 67 साल के एक व्यक्ति को 10 मई को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया. घरवालों ने बताया कि उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने पर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल की ओर से कहा गया था कि ठीक होने पर जानकारी दे दी जाएगी. दो दिन बाद यानी 12 मई को अस्पताल ने बताया कि वे कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं.

सिक्योरिटी गार्ड ने दी लाश की जानकारी

मृतक के बेटे के अनुसार, इसके बाद से मरीज का कोरोना का इलाज चल रहा था. लेकिन 15 मई को पुलिस का फोन आया. कहा गया कि दानी लिमड़ा इलाके में बीआरटीएस बस स्टैंड पर उनके पिता की लाश मिली. उनकी जेब से मिले मोबाइल फोन से घरवालों के बारे में पता चला.

पुलिस ने बताया कि एक सिक्योरिटी गार्ड ने लाश के बारे में जानकारी दी थी. पहले तो उसने सोचा कि कोई आदमी सो रहा है. ऐसे में उसने जगाने की कोशिश की.

परिवार वालों ने बस स्टैंड पर शव मिलने पर अस्पताल व्यवस्था पर सवाल खड़े किए. उनका कहना है कि कोरोना पॉजिटिव होने पर वे कैसे अस्पताल से निकल गए? साथ ही घरवालों को इस बारे में जानकारी क्यों नहीं दी गई?

अस्पताल ने कहा- नए नियमों के तहत दी थी छुट्टी

द क्विंट की रिपोर्ट के अनुसार, अस्पताल ने बताया कि सरकार ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए नए निर्देश जारी किए हैं. इसके तहत कम लक्षणों वाले मरीजों को घर जाने दिया जाता है. इस मरीजे में भी कोरोना के लक्षण हल्के थे. तो उन्हें घर पर ही क्वारंटीन होने को कहा गया. 14 मई को उन्हें छुट्टी दे दी गई. उस समय वह बिलकुल ठीक थे. अस्पताल की गाड़ी से उन्हें उनके घर भेजा गया था. हो सकता है उन्हें घर के पास वाले बस स्टैंड पर छोड़ा गया हो. यह पता नहीं चल पाया है कि मरीज के परिवार को छुट्टी देने के बारे बताया गया या नहीं.

परिवार वालों के हंगामे के बाद मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने रिटायर आईएएस जेपी गुप्ता को जांच कमिटी का मुखिया बनाया है. उनसे दो दिन में रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video:कोरोना वायरस से लड़ते डॉक्टर्स ने बताया – मरीज़ों का अंतिम संस्कार तक ‘स्वीपर’ कर रहे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

घर जाने को लेकर राजकोट में 500 मज़दूरों का सब्र जवाब दे गया, सड़क पर उतरे

हंगामे के बीच पुलिस घायल, किसी तरह शांत हुआ मामला.

चोटिल बेटे को खटिया पर लादकर 900 किमी दूर घर के लिए निकल पड़ा ये मज़दूर

पंजाब से चला था परिवार, मध्य प्रदेश जाना था.

20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की आख़िरी किश्त में मनरेगा को 40 हजार करोड़, अन्य को क्या मिला?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सात सेक्टर्स के लिए घोषणाएं कीं.

यूपी: औरैया में दो ट्रक टकराने से 24 मज़दूर मारे गए, योगी ने कई पुलिसवालों को सस्पेंड किया

पीएम मोदी ने घटना पर शोक जताया है.

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

राहत वाली बात ये है कि छह महीने तक आधी सैलरी मिलती रहेगी.

बंगाल में हफ्तेभर से क्या बवाल चल रहा है, जिसमें 129 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं

‘तुम कोरोना फैला रहे हो’ कहकर हमला किया, हिंसा भड़की.

लंबे वक्त तक क्रिकेट के नक्शे पर पाकिस्तान को जिंदा रखा था इस जोड़ी ने

वो दिन, जब मिस्बाह-उल-हक़ और यूनिस खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

क्या है घटना का सच?

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.