Submit your post

Follow Us

लोकसभा में कृषि मंत्री बोले- नहीं पता आंदोलन में कितने किसान मरे, मुआवजे का सवाल ही नहीं

पिछले एक साल से भी ज्यादा समय से चल रहे किसान आंदोलन में कितने किसानों की मौत हुई? किसान संगठनों का कहना है कि सैकड़ों आंदोलनकारी किसानों की मौत इस आंदोलन के दौरान हुई है. लेकिन केंद्र सरकार का कहना है कि उसके पास ऐसा कोई डेटा ही नहीं है, जिसके आधार पर मौतों की संख्या बताई जा सके. मंगलवार 30 नवंबर को लोकसभा में एक लिखित सवाल के जवाब में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ये बयान दिया. कहा कि कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के पास किसान आंदोलन के दौरान मरने वाले किसानों की मौत का कोई रिकॉर्ड नहीं है, इसलिए मुआवजा देने का कोई सवाल ही नहीं उठता है.

किस तरह के सवाल पूछे गए थे?

संसद सत्र के दौरान कृषि मंत्रालय से सवाल पूछा गया था कि क्या सरकार के पास राष्ट्रीय राजधानी में और उसके आसपास हुए आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों का आंकड़ा है? ये भी पूछा गया था कि क्या सरकार इस आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिजनों को मुआवजा देने पर विचार कर रही है? इसी सवाल का मंत्रालय ने लिखित जवाब दिया है.

इसके अलावा कुछ और भी सवाल पूछे गए थे. जैसे क्या सरकार ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान संगठनों के साथ बातचीत के लिए कदम उठाए हैं? इसके जवाब में कहा गया है कि गतिरोध को समाप्त करने के लिए सरकार ने सक्रिय रूप से और लगातार आंदोलनकारी किसान संघों के साथ काम किया और मुद्दों को हल करने के लिए सरकार और आंदोलनकारी किसान संघों के बीच 11 दौर की बातचीत हुई. सरकार ने याद दिलाया कि कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए बीती 29 नवंबर को संसद के दोनों सदनों में बिल पारित हो चुका है.

ये भी पूछा गया कि आंदोलन के दौरान किसानों के खिलाफ कितने मुकदमें दर्ज किए गए हैं. इसके जवाब में कहा गया है कि कृषि एवं किसान मंत्रालय के पास इसका भी कोई रिकॉर्ड नहीं है.

MSP पर क्या कहा गया है?

ये भी सवाल पूछा गया था कि क्या सरकार किसानों के हितों की रक्षा के मद्देनजर कृषि उपज के लिए MSP लागू करने का विचार कर रही है?

इसके जवाब में कहा गया है कि भारत सरकार कृषि लागत और मूल्य आयोग CACP की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए हर साल 22 फसलों की MSP तय करती है. इसके अलावा सरकार अपनी अलग-अलग योजनाओं के जरिए किसानों को लाभकारी कीमत देती है. केंद्र और राज्यों की एजेंसियां सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत MSP पर फसलों की खरीदारी करती हैं. सरकार ने कहा कि समग्र बाजार भी एमएसपी की घोषणा और सरकार के खरीद कार्यों पर प्रतिक्रिया देता है जिससे अधिसूचित फसलों की बिक्री मूल्य में बढ़ोतरी होती है.

किसान संगठन क्या कह रहे हैं?

सरकार भले ही ये कहे कि उसके पास आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों का कोई डेटा नहीं है, लेकिन किसान संगठनों का दावा है कि पिछले एक साल में करीब 700 आंदोलनकारी किसानों की जान गई है. किसान संगठनों के साथ-साथ विपक्ष भी इन किसानों के परिजनों को लिए मुआवजे की मांग कर रहा है. इतना ही नहीं बीजेपी के ही सांसद वरुण गांधी ने तो किसानों के परिजनों के लिए एक-एक करोड़ रुपए के मुआवजे की मांग की थी. वहीं तेलंगाना सरकार ने 3-3 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा भी कर दी थी.

दूसरी ओर बुधवार, 1 दिसंबर को BKU प्रवक्ता राकेश टिकैत ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा कि 50-55 हज़ार मुकदमें जो आंदोलन के दौरान दर्ज़ हुए हैं, वे वापस लिए जाएं. MSP गारंटी क़ानून बने और जिन किसानों ने जान गंवाई है उन्हें मुआवजा मिले. टिकैत ने कहा कि जिन किसानों के ट्रैक्टर बंद हैं, उन्हें ट्रैक्टर दिए जाएं. किसान नेता फिर दोहराया कि ये उनके मुख्य मुद्दे हैं जिन पर सरकार को बातचीत करनी चाहिए.


मोदी सरकार को MSP पर किस तरह का कानूनी हक़ किसानों को देना चाहिए, खुद सुनिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"