Submit your post

Follow Us

अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी पर क्या बड़ी कार्रवाई कर रही है योगी सरकार

बाहुबली कहलाने वाले पूर्व सांसद अतीक अहमद. गुजरात के अहमदाबाद की जेल में बंद हैं. यूपी की योगी सरकार ने अतीक पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. अतीक अहमद की लगभग 25 करोड़ की पांच संपत्ति को कुर्क किया गया है. 13 अन्य प्रॉपर्टी के खिलाफ भी कार्रवाई की तैयारी चल रही है. पुलिस का कहना है कि ये प्रॉपर्टी गैर-कानूनी धंधे के पैसों से बनाई गई हैं. डीएम भानु चन्द्र गोस्वामी ने गैंगस्टर एक्ट के तहत 28 अगस्त तक अतीक की सात संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश दिया था.

प्रयागराज के एसपी अभिषेक दीक्षित ने बताया-

माफिया अतीक अहमद की संपत्तियों की जब्ती की कार्रवाई की गई. इसमें थाना खुल्दाबाद क्षेत्र की दो संपत्तियां हैं, जिनती अनुमानित लागत 2.5 करोड़ रुपए है. इसी तरह थाना सिविल लाइंस एमजी रोड स्थित एक प्रॉपर्टी है, जिसकी अनुमानित लागत करीब 20 करोड़ है. थाना धूमनगंज में भी इसी तरह जो प्रॉपर्टी हैं, जिन्हें जब्त किया गया है, उनकी भी अनुमानित लागत 2.5 करोड़ रुपए है. इस तरह कुल पांच संपत्तियों की जब्ती की कार्रवाई की गई है, जिनकी कुल लागत 25 करोड़ रुपए बताई जाती है.

दो और प्रॉपर्टी हैं, जिन्हें जब्त करने की कार्रवाई अभी चल रही है. जितने भी माफिया और गैंगस्टर यहां हैं, जिन्होंने अवैध ढंग से प्रॉपर्टी अर्जित की है, उनके खिलाफ कार्रवाई चलती रहेगी.

अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ की 3 जुलाई को गिरफ्तारी हुई थी. इसके बाद से ही अतीक के खिलाफ पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है. अतीक गैंग डी-227 के सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई और अतीक के दो शस्त्र लाइसेंस जब्त होने के बाद अतीक की प्रॉपर्टी पर कार्रवाई हुई है.

क्या बोले सरकार के प्रवक्ता

कैबिनेट मंत्री और यूपी सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने इस कार्रवाई को सही बताया है. उन्होंने कहा है कि योगी सरकार करप्शन और भूमाफियाओं को लेकर जीरो टॉलरेंस वाली सरकार है. इस सरकार में अपराधियों और माफियाओं के लिए कोई जगह नहीं है. उन्होंने अतीक को लेकर कहा है कि जैसी करनी, वैसी भरनी. उन्होंने कहा कि कोई कितना भी ताकतवर अपराधी हो, कानून अपना काम करता रहेगा. साथ ही आगे भी ऐसी सख्त कार्रवाई जारी रहेगी.

मुख्तार के खिलाफ भी कार्रवाई

एक दिन पहले ही खबर आई थी कि मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी और उमर अंसारी की दोमंज़िला बिल्डिंग ढहा दी गई. लखनऊ विकास प्राधिकरण (LDA) ने 27 अगस्त की सुबह ये कार्रवाई की थी. लखनऊ के जियामऊ इलाके में मुख्तार के दोनों बेटों की इमारत थी. आरोप था कि ये बिल्डिंग 8000 वर्ग फुट जमीन पर अवैध तरीके से बनाई गई थी.

योगी सरकार एक्शन में 

खबरों के मुताबिक, योगी सरकार ने प्रदेश के बड़े माफिया नेटवर्क को धराशायी करने का अभियान चलाया है. निशाने पर मुख़्तार अंसारी, अतीक अहमद, अनिल दुजाना और सुंदर भाटी. जानकारी के मुताबिक, यूपी में 40 माफिया सरगनाओं पर यूपी सरकार और पुलिस की नज़र है. उनकी करीब 300 करोड़ रुपये की अवैध सम्पत्ति और अवैध धंधे बंद कराये जा चुके हैं.

माफिया के ख़िलाफ इस बड़े अभियान में अब तक आगरा जोन में 48 करोड़, वाराणसी जोन में 47 करोड, बरेली जोन में 25 करोड़, आजमगढ़, गाजीपुर, नोएडा में करीब 10-10 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की जा चुकी है. अकेले मुख़्तार अंसारी की ही 100 करोड़ रुपये की संपत्ति सरकार ज़ब्त कर चुकी है.


20 JCB और LDA के 220 कर्मचारी, मिनटों में गिरा दीं मुख्तार के बेटों की दो इमारतें

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?