Submit your post

Follow Us

राहुल बजाज ने शाह से सवाल पूछा था, बीजेपी आईटी सेल के अमित मालवीय गड़े मुर्दे उखाड़ लाए

मोदी सरकार पर दिए राहुल बजाज के बयान के बाद, वे ट्विटर पर जमकर ट्रोल किए जा रहे हैं. राहुल बजाज ने ईटी नाउ के एक अवॉर्ड फंक्शन में अमित शाह के सामने कहा कि बिजनेसमैन के बीच डर का माहौल है. लोग सरकार की आलोचना से घबराते हैं. जिस पर कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने तो आ ही गई है, लोग सोशल मीडिया पर भी बजाज को ट्रोल कर रहे हैं.

राहुल बजाज के बयान का इस्तेमाल करते हुए कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने दो ट्वीट किए. बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने लिखा-

‘ईटी अवार्ड्स में राहुल बजाज ने कहा कि आप अनिश्चितता का वातावरण बना रहे हैं. जो डर गया वो मर गया. कॉरपोरेट दुनिया के किसी व्यक्ति ने लंबे समय बाद, जिसका सभी लोग बहुत विरोध करते हैं, सच बोलने का हिम्मत दिखाया है.’

दूसरे ट्वीट में अभिषेक मनु सिंघवी ने लिखा-

‘राहुल बजाज ने ईटी अवॉर्ड्स के एक कार्यक्रम में कहा कि यूपीए सरकार में किसी को भी गाली दे सकते थे. आपके खिलाफ बोलने से लोग डरते हैं. आप काम कर रहे हैं तो फिर लोगों को बोलने की आजादी क्यों नहीं है. इस कार्यक्रम में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद थीं.’

राहुल बजाज के बयान पर कांग्रेस की राजनीतिक टिप्पणी का जवाब बीजेपी की तरफ से अमित मालवीय ने दिया. उन्होंने सीधा राहुल बजाज के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया. पहले तो उन्होंने अमित शाह के भाषण का वो टुकड़ा पोस्ट किया, जिसकी चर्चा कम हो रही है. इसके बाद राहुल बजाज को ‘कांग्रेसी’ बता दिया. अमित मालवीय ने राहुल बजाज के पुराने बयान को शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा-

‘राहुल बजाज ने कहा था कि राहुल गांधी को छोड़कर मेरे लिए किसी की भी तारीफ करना मुश्किल है.

अपनी आस्तीन पर राजनीतिक चोला खुलकर पहन लें और बकवास के पीछे छुपने से बचें कि डर का माहौल या फिर ऐसा वैसा…’

अमित मालवीय ने राहुल बजाज के एक और पुराने बयान को शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा-

‘अगर किसी के पास राहुल गांधी के प्रति इस तरह की चापलूस सोच थी, जबकि वो खुद एक आपदा है. तो ऐसा लगना स्वाभाविक है कि मौजूदा शासन सबसे खराब है.

सच तो यह है कि लाइसेंस राज में फलने-फूलने वाले उद्योगपति हमेशा से कांग्रेस के आभारी रहेंगे’

अमित मालवीय ने राहुल बजाज के उस बयान पर भी ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि वो कभी मिनिस्टर्स से नहीं मिलते. अमित मालवीय ने आईआईएम की एक केस स्टडी ट्वीट करते हुए लिखा-

क्या राहुल बजाज ने ऐसा कहा कि वो मंत्रियों से नहीं मिलते हैं?

राहुल बजाज ने स्कूटर्स इंडिया में हेरफेर करने के लिए अपने मिनिस्ट्रियल कॉन्टैक्ट का इस्तेमाल किया. बजाज ऑटो के साथ प्रपोज़्ड डील ट्रांस्परेंट नहीं था.

अब सरकार के खिलाफ किसी का इतना बड़ा बयान हो और ट्विटर यूजर्स ट्रोल ना करे ऐसा हो ही नहीं सकता है. राहुल बजाज के इस बयान पर ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा है-

‘सच में राहुल बजाज ऐसा है क्‍या? क्‍या यूपीए की सरकार में लोग जिसकी चाहते थे, उसकी आलोचना कर पाते? आपने अपना बयान बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के सामने दिया है. मुझे वो वीडियो दिखाइए जिसमें आप सोनिया गांधी के सामने आलोचना कर रहे हों. मुझे वो आर्टिकल भी दिखाइए जिनमें सोनिया गांधी की आलोचना हुई हो.’

इसके अलावे भी कई लोगों ने राहुल बजाज को ट्रोल किया और बजाज कंपनी को बुरा भला कहा. हालांकि राहुल बजाज की तारीफ करने वालों की भी संख्या काफी बड़ी मात्रा में थी.


Video: लोकसभा में अमित शाह ने बताई क्यों बदली गई गांधी परिवार की सुरक्षा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.