Submit your post

Follow Us

क्या एक्ट्रेस और सांसद नुसरत जहां को ड्रग्स ओवरडोज़ की वजह से अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा?

1
शेयर्स

बंगाली फिल्मों की एक्ट्रेस और सांसद नुसरत जहां को तो आप जानते ही हैं. बंगाल के बशीरहाट से लोक सभा चुनाव जीतने के बाद वो काफी चर्चा में रही थीं. 17 नवंबर यानी बाते रविवार को नुसरत की तबीयत इतनी बिगड़ गई कि उन्हें हॉस्पिटलाइज़ करना पड़ा. उनके इलाज के लिए अपोलो ग्लेनइगल्स अस्पताल में डॉक्टर्स की एक खास टीम बनाई गई थी. हालांकि, सोमवार की शाम उन्हें डिस्चार्ज कर घर घर लाया जा चुका है. कहने का मतलब अब वो ठीक हैं.

नुसरत को हुआ क्या था?

आइएएनएस ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया है कि नुसरत को अस्थमा यानी सांस संबंधी दिक्कत रही हैं. इसके लिए वो इनहेलर का इस्तेमाल करती हैं. रविवार को उन्हें अपने पति निखिल जैन का बर्थडे मनाया और कुछ तस्वीरें अपने इंस्टाग्रैम अकाउंट पर भी शेयर कीं. लेकिन शाम होते-होते उन्हें सांस लेने में समस्या होने लगी. कुछ ही देर में ये प्रॉब्लम इतनी बढ़ गई कि उनका इनहेलर भी हैंडल नहीं कर पाया. इसके बाद आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया. जहां पर कुछ देर का बाद ही उनकी स्थिति सुधरने लगी. नुसरत का अपने पति को बर्थडे विश करने वाला पोस्ट आप यहां देख सकते हैं:


View this post on Instagram

Happy bday hubbilicious.. @nikhiljain09 My world 🌍 starts and ends with u…

A post shared by Nusrat (@nusratchirps) on

ड्रग्स लेने की बात कहां से आई?

जैसे ही नुसरत के हॉस्पिटलाइज़ होने की खबर मार्केट में आई लोगों ने अटकलें लगानी शुरू कर दीं. पब्लिक का मानना था कि नुसरत की तबीयत ड्रग ओवरडोज़ की वजह से बिगड़ी है. ये खबर क्यों और कहां से आई किसी को नहीं पता. हालांकि कई मीडिया साइट्स और चैनल्स ने इस बात को पुलिसिया सूत्रों के हवाले लिखा था. एनडीटीवी ने अपने सूत्र के हवाले से लिखा कि उनके ड्रग ओवरडोज़ की बात उनके मेडिकल रिकॉर्ड्स को देखते हुए आई. कहा जाने लगा कि नुसरत की तबीयत ड्रग ओवरडोज़ से, किसी दवाई की ऐलर्जी से या भारी संख्या में नींद की गोली खाने से बिगड़ी है. यहां एक चीज़ जो बताने वाली है कि ड्रग सिर्फ वही नहीं होते जिन्हें नाक से सूंघा या सुइयों से अपने नसों में उतारा जाए. कुछ ड्रग्स फार्मास्यूटिकल यानी दवाइयों में भी इस्तेमाल किए जाते हैं. उन्हें मेडिसिनल ड्रग्स कहते हैं. हालांकि नुसरत की फैमिली ने ऐसी किसी भी अफवाह को सिरे से खारिज़ किया है.

लोक सभा चुनाव में अपनी जीत के बाद नुसरत पार्लियामेंट में दिए अपने भाषणों को लेकर काफी चर्चा में रही थीं.
लोक सभा चुनाव में अपनी जीत के बाद नुसरत पार्लियामेंट में दिए अपने भाषणों को लेकर काफी चर्चा में रही थीं.

जनता को ड्रग्स से इतना प्यार क्यों है?

ये पहला मौका नहीं है, जब पब्लिक ने किसी सेलेब्रिटी को जबरदस्ती ड्रग्स के पचड़े में लपेटा हो. कुछ ही दिन पहले करण जौहर की पार्टी से आए वीडियो में विकी कौशल को देखकर कहा गया कि उन्होंने ड्रग्स लिया है. इसके पीछे किसी तरह का कोई लॉजिक या सबूत नहीं था. लोगों को लगा कि ऐसा हो सकता है और बाकी लोगों ने इसे सीरियसली लेकर माहौल बना दिया. वही चीज़ शाहरुख खान की बेटी सुहाना के साथ भी हुई थी. सुहाना ने अपनी एक मिरर सेल्फी सोशल मीडिया पर पोस्ट की. उनकी इस तस्वीर में उनके फोन के कवर में रखा एटीएम कार्ड दिख रहा था. लोगों को लगा अमीर लोग कार्ड का इस्तेमाल सिर्फ ड्रग्स की लकीरें खींचने के लिए ही करते हैं. ऐसे में सुहाना के बारे में भी कई सारी बातें कही और लिखी गईं. हमारा कंफ्यूज़न ये है कि जनता को ड्रग्स से इतना लगाव आखिर क्यों हैं?


वीडियो देखें: शाहरुख खान की बेटी सुहाना ने एक सेल्फी डाली और सोशल मीडिया की जनता पगला गई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बरसों से इंडिया का मित्र राष्ट्र रहा नेपाल क्या अब ज़मीन को लेकर कसमसा रहा है?

'कालापानी' को लेकर उत्तराखंड के CM टीएस रावत चिंता में हैं या गुस्से में, कहना मुश्किल है.

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.