Submit your post

Follow Us

अभय देओल ने इंस्टाग्राम पोस्ट लिखकर बॉलीवुड में गुटबाजी की कलई खोली है

सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को सुसाइड कर लिया था. उनकी मौत के बाद से बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद और पक्षपात के आरोप लगातार सामने आ रहे हैं. कहा जा रहा है कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री पारदर्शी नहीं है. यहां पर बाहर से आने वाले कलाकारों के साथ बुरा व्यवहार किया जाता है. इसी कड़ी में अभय देओल भी खुलकर सामने आए हैं.

अभय ने क्या लिखा

उन्होंने इ्ंस्टाग्राम पोस्ट लिखकर बॉलीवुड की गुटबाजी की कलई खोली है. उन्होंने अपनी फिल्म ‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ का उदाहरण देते हुए कहा है,

‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ 2011 में रिलीज हुई थी. आजकल इस टाइटल को मुझे हर रोज बुदबुदाना पड़ता है. जब आप तनाव या बैचेन होते हैं तो इसे देखना बहुत सही रहता है.

अवार्ड शो में केवल ऋतिक-कटरीना का जलवा

अभय ने आगे लिखा कि किस तरह अवार्ड शो में केवल ऋतिक रोशन और कटरीना कैफ को ही तवज्जो दी गई. उन्होंने लिखा,

मैं यह बताना चाहूंगा कि लगभग सभी अवार्ड शो में मुझे और फरहान अख्तर को दबाया गया. हम दोनों को सहायक कलाकार की कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया. ऋतिक और कटरीना को मुख्य भूमिका वाली कैटेगरी के लिए चुना गया. तो इंडस्ट्री के हिसाब से यह फिल्म एक पुरुष और औरत के प्यार में पड़ने की कहानी है. जिसमें उसके दो दोस्त उसके हर फैसले में मदद करते हैं.

अभय ने लिखा,

इंडस्ट्री में कई छुपे और खुले हुए तरीके हैं जिनके जरिए लोग आपके खिलाफ काम करते हैं. इस मामले में वे शर्मनाक तरीके से खुलेआम काम कर रहे थे. मैंने अवार्ड का बहिष्कार कर दिया था लेकिन फरहान को इससे फर्क नहीं पड़ा.

क्या है जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ की कहानी

‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ तीन दोस्तों की कहानी होती है. जो अपनी-अपनी समस्याओं से जूझ रहे होते हैं. फिर किस तरह एक दूसरे की मदद से वे अपनी बंदिशों, परेशानियों से पार पाते हैं, यहीं फिल्म का आधार है. इस फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर भी कामयाबी मिली थी और आलोचकों ने भी इसे खूब सराहा था.

जहां तक बात भारत में फिल्म पुरस्कारों की है तो यह हमेशा से ही कटघरे में रहे हैं. साल दर साल इन पर सवाल उठे हैं. कई फिल्मी सितारों ने इनका बायकॉट कर रखा है. इनमें आमिर खान, अजय देवगन, सलमान खान, इमरान हाशमी जैसे नाम भी शामिल हैं.


Video: सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे के बारे में इस एक्टर ने जरूरी बात कही है!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.