Submit your post

Follow Us

दिल्ली में केजरीवाल सरकार और मुख्य सचिव की भिड़ंत के पीछे एक विज्ञापन है

दिल्ली तो वैसे भी चर्चा में रहती है. देश की राजधानी जो ठहरी. कभी किसी का रेप, कभी किसी की हत्या. अच्छे काम तो याद्दाश्त पर जोर डालने से भी याद नहीं आते. तो इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए एक और शर्मनाक खबर के कारण दिल्ली चर्चा में है. ऐसा मामला शायद पहली बार चर्चा में आया है जब किसी प्रदेश के सबसे बड़े अधिकारी माने चीफ सेक्रेटरी को ही घेर लिया गया हो. मारपीट, गाली-गलौज का आरोप लगा हो. मगर दिल्ली में ये हो गया है. चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया है कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में एक मीटिंग के दौरान उनसे गाली-गलौज की गई. मारपीट की गई. आरोप आप विधायकों पर लगा. एक हैं प्रकाश जारवाल और दूसरे अमानतुल्लाह खान. पुलिस ने देवली से विधायक प्रकाश जारवाल को तो गिरफ्तार कर लिया था. मगर ओखला से AAP विधायक अमानतुल्लाह फरार चल रहे थे. पुलिस ने उनके घर पर दबिश भी दी, लेकिन वो घर पर नहीं मिले.

21 फरवरी को आरोपों-प्रत्यारोपों के बीच मुख्य आरोपी विधायक अमानतुल्लाह ने जामिया नगर थाने में सरेंडर कर दिया है. वो पैदल ही सरेंडर करने पहुंचे. आरोप लगाया कि ये सब बीजेपी की साजिश है. उसके नेताओं के इशारे पर ये सब हो रहा है. वो बेकसूर हैं. खैर, पुलिस उन्हें उत्तरी दिल्ली ले जा जा रही है, क्योंकि इस मामले में केस वहीं दर्ज है. उनकी गिरफ्तारी वहीं की जाएगी. मामले में आरोपियों की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं. वो इसलिए क्योंकि मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की मेडिकल रिपोर्ट में उनके चेहरे पर कट का निशान और कंधे पर चोट के निशान पाए गए हैं. पुलिस ने इसे कन्फर्म कर दिया है.

दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन को भी 21 फरवरी की सुबह 7 बजे हिरासत में लिया था. महारानी बाग में स्थित उनके घर से. हालांकि तीन घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया है. वीके जैन ने ही मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को फोन कर बैठक में आने को कहा था. उपराज्यपाल अनिल बैजल ने भी मामले की रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंप दी है.

ऐसे पकड़े गए प्रकाश जारवाल

देवली से आप विधायक प्रकाश की गिरफ्तारी 20 फरवरी की रात उस वक़्त हुई जब वो एक शादी में शरीक होने जा रहे थे. खानपुर रेड लाइट पर उन्हें हिरासत में लिया गया था. सूत्रों के मुताबिक जारवाल को पहले डिफेन्स कॉलोनी थाने लाया गया. बाद में उन्हें सिविल लाइन थाने ले जाया गया. यहीं पर AAP के दक्षिणपुरी से पार्षद प्रेम चौहान, प्रकाश जारवाल के छोटे भाई अनिल और कुछ आप कार्यकर्ता पहुंचे, लेकिन उन्हें प्रकाश जारवाल से मिलने नहीं दिया गया. पार्षद प्रेम चौहान ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस ने इस मामले में जिस तरह से कार्रवाई की है वो राजनीति से प्रेरित है. जिस तरह से विधायक को रात में गिरफ्तार किया गया वो सही नहीं है. फिलहाल पुलिस प्रकाश जारवाल से पूछताछ कर रही है.

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने एफआईआर में क्या कहा

कल (19 फरवरी) को मुझे रात करीब 8.45 बजे मुख्यमंत्री के सलाहकार वीके जैन ने फोन किया और कहा कि मुख्यमंत्री आवास पर रात 12 बजे मीटिंग में आना है, जहां मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री टीवी विज्ञापनों के मुद्दे पर चर्चा करेंगे. मैंने कहा कि मीटिंग कल सुबह रख लीजिए, लेकिन वो नहीं माने. मुख्यमंत्री के सलाहकार का रात 11.20 बजे फिर फोन आया और उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैं सीएम आवास आ रहा हूं. इसके बाद मैं अपनी सरकारी कार, ड्राइवर और पीएसओ के साथ सीएम आवास पहुंच गया. सीएम आवास पहुंचने पर मुझे वीके जैन मिले और मुझे सामने वाले कमरे में ले जाया गया, जहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और करीब 11 विधायक मौजूद थे. मुख्यमंत्री ने मुझसे कहा कि कमरे में जो लोग मौजूद हैं ये विधायक हैं और ये सरकार के तीन साल पूरे होने पर सरकार के विज्ञापन कार्यक्रम के बारे में पूछने आए हैं. इसी दौरान एक विधायक ने तुरंत कमरे का दरवाजा बंद कर दिया. कमरे में मुझे विधायक अमानतुल्लाह और एक दूसरे व्यक्ति के बीच सोफे पर बैठना पड़ा. मुख्यमंत्री ने मुझे कहा कि विधायकों को बताएं कि टीवी विज्ञापनों में देरी क्यों हो रही है. मैंने उन्हें बताया कि अधिकारी सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस के तहत नियमों से बंधे हुए हैं. इसके बाद विधायक मुझ पर चिल्लाने लगे और गाली देने लगे. इस दौरान वो अधिकारियों पर सरकार का अधिक प्रचार न करने का आरोप लगाते रहे. एक विधायक, जिसे मैं पहचान सकता हूं, मुझे धमकी देने लगे कि अगर टीवी विज्ञापन रिलीज नहीं किए गए तो उन्हें पूरी रात बंदी बना लेंगे. मुझे एससी-एसटी एक्ट के तहत झूठे इल्जाम में फंसाने की धमकी दी जाने लगी. एक विधायक जिन्हें मैं पहचान सकता हूं ज्यादा गुस्सा होने लगे और मुझे जान से मारने की धमकी दी. इसी दौरान अचानक अमानतुल्लाह खान और मेरी बाईं ओर बैठे व्यक्ति/विधायक ने मुझे मारना शुरू कर दिया. मुश्किल से बाहर निकला.

आम आदमी पार्टी का क्या कहना है

अंबेडकरनगर से आप विधायक अजय दत्त ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिखकर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के खिलाफ शिकायत की है. उस पत्र में क्या लिखा है वो भी देख लीजिए – राशन न मिलने की वजह से मेरी विधानसभा की जनता बहुत परेशान थी. इन्हीं सब दिक्कतों को लेकर मुख्य सचिव से मिलना चाहता था. सोमवार रात को सीएम के घर पर मेरी उनसे मुलाकात हुई. मैंने उनसे कहा कि मेरी विधानसभा में एससी, एसटी बड़ी संख्या में हैं. उन लोगों को समय पर राशन वितरण नहीं किया जा रहा है. वह मेरी बात सुनकर भड़क गए. उन्होंने मेरे साथ बदसलूकी की और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर मेरा अपमान किया. वहीं, एक अन्य विधायक प्रकाश जारवाल ने जब राशन वितरण की समस्या पर मुख्य सचिव से बात करना चाही तो उनसे भी जातिसूचक शब्द कहे. उन्हें कहा कि तुम अपनी औकात में रहो, विधायकों को यह हक नहीं है कि मुझसे कोई सवाल करे. अपशब्द कहते हुए और गाली देते हुए कमरे से बाहर निकल गए. दोनों विधायकों ने पुलिस से जातिसूचक शब्द कहने पर सीएस पर एससी, एसटी कानून के तहत एफआईआर दर्ज करने व कार्रवाई करने की मांग की है.

विवाद की मेन वजह है एक विज्ञापन

दिल्ली सरकार के तीन साल पूरे होने पर एक वीडियो विज्ञापन बनाया गया था. इस विज्ञापन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि दिल्ली में तीन वर्षों में दिल्ली में भ्रष्टाचार में भारी कमी आई है. अब एक-एक पैसा जनता के विकास पर खर्च हो रहा है. बाधाएं बहुत आई हैं, पर आपके हक के लिए हम हर कठिनाई से लड़े. ईश्वर ने हर कदम पर साथ दिया. जब आप सच्चाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं तो ब्रह्मांड की सारी दृश्य और अदृश्य शक्तियां आपकी मदद करती हैं.

बस यही आखिरी लाइन दिल्ली सरकार के अफसरों को पसंद नहीं आई. इस लाइन को सर्टिफाई करने से अफसरों ने इनकार कर दिया. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार ऐसे किसी भी विज्ञापन की लाइनों को संबंधित सरकार के विभाग को सत्यापित करना होता है. अफसरों का कहना था कि आखिर ब्रह्मांड की ये दृश्य और अदृश्य शक्तियां किस विभाग के तहत आती हैं.

नतीजा भुगतेगी दिल्ली की जनता

आईएएस एसोसिएशन ने दिल्ली सचिवालय में बैठक करके यह भी फैसला लिया कि जब तक मुख्यमंत्री माफी नहीं मांगेंगे और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं करेंगे, तब तक मंत्री या किसी राजनीतिक व्यक्ति के साथ सिर्फ लिखित कम्युनिकेशन करेंगे. बैठकों में शामिल नहीं होंगे. इसका नतीजा यह होगा कि जो काम मौखिक रूप से चंद घंटों में हो जाता, उसमें अब कई-कई दिन लगेंगे. माने नुकसान सीधा जनता का होगा. दिल्ली प्रशासनिक अधीनस्थ सेवा के अधिकारियों ने भी हड़ताल पर जाने का ऐलान किया है.

सचिवालय में आप विधायकों पर हमले का आरोप

चीफ सेक्रेटरी पर हमले की खबर से सचिवालय में कर्मचारी भड़क गए. आरोप है कि इसके बाद 20 फरवरी को जब आप विधायक आशीष खेतान और दिल्ली के पर्यावरण मंत्री सचिवालय पहुंचे तो उन पर हमला किया गया. मारपीट और घक्कामुक्की की गई. आप प्रवक्ता आशीष खेतान का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने उन पर हमला करने वाले गुंडों को हटाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया. मुझे बचाने के लिए भी पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया. सारी फुटेज सीसीटीवी में है. सचिवालय में उस वक्त 150 लोगों का हुजूम था जो अपने आप में ही चौंकाने वाली बात है, मैं लिफ्ट का इंतजार कर रहा था तभी 30 से 35 लोग मारो-मारो के नारे लगाते हुए आए. मेरे साथ मेरा स्टाफ था, जिन्होंने मुझे बचाने की पूरी कोशिश की. इस पूरे घटनाक्रम में मेरे स्टाफ वालों को भी चोटें आई हैं. राज्यसभा सांसद व आप नेता संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली सचिवालय में आप नेताओं पर हुआ हमला इस बात का सबूत है कि मुख्य सचिव अंशु प्रकाश भाजपाइयों के साथ मिलकर गुडांगर्दी करा रहे हैं. मुख्य सचिव सहित हमला करने वालों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए वरना स्थिति भयावह हो सकती है. आरोप लगाया कि केंद्र सरकार दिल्ली की सरकार को अस्थिर करना चाहती है. पुलिस ने इस मामले में भी मुकदमा दर्ज कर लिया है.

राजनीति तो चल ही रही है

दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ हुई घटना पर दुख है. नौकरशाहों को सम्मान तथा बिना भय के काम करने की अनुमति देनी चाहिए. अधिकारी इस मुद्दे पर मुझसे मिले हैं. इस मामले में न्याय किया जाएगा.

– राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृहमंत्री

दुखद है कि सीएस के साथ विधायकों ने धक्का-मुक्की की. यह घटना शर्मनाक है. सीएम खुद भी नौकरशाह रहे हैं. क्या उनके साथ कभी ऐसा हुआ है?

-शीला दीक्षित, कांग्रेस

यह ठीक वैसा ही है, जो 30 जनवरी को सीएम आवास पर भाजपा प्रतिनिधिमंडल के साथ किया गया. अंतत: अरविंद केजरीवाल का अर्बन नक्सलाइट चेहरा सभी के सामने है. केजरीवाल को अब इस्तीफा देना चाहिए.

– मनोज तिवारी, दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष

केजरीवाल को झगड़ा करने वाले अपने विधायकों के खिलाफ तुरंत सख्त कार्यवाही करनी चाहिए. यदि वे ऐसा नहीं कर पाते हैं तो उनको मुख्यमंत्री पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं है. दिल्ली में पहली बार राजनीति का इतना नीचा स्तर देखने को मिला है.

-अजय माकन, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष, दिल्ली

किसी विज्ञापन पर कोई चर्चा नहीं हुई है. सीएस भाजपा के इशारे पर गलत आरोप लगा रहे हैं. उनसे गलत तरीके से आधार लागू करने पर सवाल किया था, जिससे 2.5 लाख परिवार राशन से वंचित हो रहे हैं. सीएस ने कहा कि वह विधायकों या सीएम के प्रति जवाबदेह नहीं हैं. वह उपराज्यपाल को ही जवाब देंगे. उन्होंने विधायकों के खिलाफ खराब शब्द इस्तेमाल किए और बिना जवाब दिए वापस चले गए.

– नागेंद्र शर्मा, प्रवक्ता, दिल्ली सरकार


ये भी पढ़ें-

खुलासा: अरविन्द केजरीवाल नहीं, उनका हमशक्ल है दिल्ली का मुख्यमंत्री!

केजरीवाल ने कुमार विश्वास को पैसों के मामले में चोट तो अब पहुंचाई है

देश की राजधानी में जिस तरह अंकित मरा, उससे बुरा कुछ नहीं हो सकता

क्या है ‘पिंक स्लिप’ जो नीरव मोदी बांट रहे हैं, और जिनको मिल रही है वो दुखी हैं

खून से लथपथ इस प्रेमी जोड़े को कौन गोली मारकर चला गया?

लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

जन्म की सलाह देने वाले मां के डॉक्टर पर बेटी ने केस किया, लाखों का हर्जाना जीता

जन्म की सलाह देने वाले मां के डॉक्टर पर बेटी ने केस किया, लाखों का हर्जाना जीता

रीढ़ की हड्डी से जुड़ी एक गंभीर बीमारी से पीड़ित है लड़की.

देश में ओमिक्रॉन के दो मरीज मिले

देश में ओमिक्रॉन के दो मरीज मिले

कोरोना का यह नया वैरिएंट डेल्टा से भी 5 गुना ज्यादा खतरनाक है

'मिर्ज़ापुर' में ललित का रोल करने वाले एक्टर ब्रह्मा मिश्रा नहीं रहे

'मिर्ज़ापुर' में ललित का रोल करने वाले एक्टर ब्रह्मा मिश्रा नहीं रहे

पुलिस को ब्रह्मा के फ्लैट से उनकी डीकम्पोज़्ड बॉडी मिली.

जूही चावला ने बताया KKR के हारने पर टीम मीटिंग में क्या करते हैं शाहरुख खान

जूही चावला ने बताया KKR के हारने पर टीम मीटिंग में क्या करते हैं शाहरुख खान

जूही ने बताया कि जब टीम अच्छा नहीं खेल रही होती, तो शाहरुख उन्हें भी डांट लगा देते हैं.

क्वालकॉम की नई चिप कौन-कौन से एंड्रॉयड स्मार्टफोन में आएगी, जान लीजिए

क्वालकॉम की नई चिप कौन-कौन से एंड्रॉयड स्मार्टफोन में आएगी, जान लीजिए

क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 8 Gen 1 चिपसेट से आप 8K HDR वीडियो कैपचर कर पाएंगे.

UPTET पेपर लीक मामला: सचिव संजय उपाध्याय ने की थी बड़ी डील, दोस्त को ही दिया पेपर छापने का ठेका!

UPTET पेपर लीक मामला: सचिव संजय उपाध्याय ने की थी बड़ी डील, दोस्त को ही दिया पेपर छापने का ठेका!

यूपी STF की जांच में कई बड़े खुलासे हुए हैं

CBSE ने '2002 में मुस्लिम विरोधी हिंसा किसके शासन में फैली' पूछकर दिए चार ऑप्शन

CBSE ने '2002 में मुस्लिम विरोधी हिंसा किसके शासन में फैली' पूछकर दिए चार ऑप्शन

बवाल बढ़ने पर CBSE ने गलती मानते हुए कार्रवाई की बात कही

30 लाख से अधिक ट्वीट कर छात्रों ने रेलवे से पूछा, 'कब होगी परीक्षा?'

30 लाख से अधिक ट्वीट कर छात्रों ने रेलवे से पूछा, 'कब होगी परीक्षा?'

1000 दिन बीत गए, अब तक एग्जाम की डेट नहीं आई.

IPL 2022 के लिए रिटेन नहीं हुए ये 11 खिलाड़ी मिल जाएं तो जीतने वाली टीम तैयार हो जाएगी

IPL 2022 के लिए रिटेन नहीं हुए ये 11 खिलाड़ी मिल जाएं तो जीतने वाली टीम तैयार हो जाएगी

ये खिलाड़ी मिल जाएं तो कोई इन्हें हरा नहीं सकता.

हार्दिक पंड्या, ईशान किशन को रिटेन न कर पाने पर रोहित शर्मा ने क्या कहा?

हार्दिक पंड्या, ईशान किशन को रिटेन न कर पाने पर रोहित शर्मा ने क्या कहा?

मुंबई ने चार खिलाड़ियों को रिटेन किया है.