Submit your post

Follow Us

दिल्ली चुनाव: AAP के सभी 70 प्रत्याशी घोषित, 15 के टिकट कटे

5
शेयर्स

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए सभी 70 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. अबकी 46 सिटिंग विधायक को टिकट दी गई है. 15 मौजूदा विधायक को रिप्लेस किया गया है. अबकी 8 महिलाएं को आम आदमी पार्टी ने टिकट दी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पटपड़गंज सीट से चुनाव लड़ेंगे.

न्यूज़ एजेंसी ANI का ट्वीट देखिए.

दिल्ली चुनाव 2020

दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर एक चरण में 8 फरवरी को वोटिंग होगी. इस दिन शनिवार है. वोटों की गणना 11 फरवरी को होगी. नामांकन की आखिरी तारीख 21 जनवरी है. नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 24 जनवरी है.

2015 में क्या हुआ था?

पिछली बार चुनाव 2015 में हुए थे. आम आदमी पार्टी ने 70 सीटों पर चुनाव लड़ा था, इनमें से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी. बीजेपी ने 3 सीटों पर जीत दर्ज की थी. आप को 48 लाख से ज्यादा वोट मिले थे. वोट परसेंट 54.34% था. बीजेपी को 28 लाख वोट मिले थे. वोट परसेंट 32.19% था.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी पुलिस में मचा हंगामा, तो योगी ने की ये बड़ी कार्रवाई

सेक्स चैट से शुरू हुआ था मामला, "घूसखोरी" और पोस्टिंग पर अटकी बात

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...