Submit your post

Follow Us

कंपनी ने नौकरी से निकाला तो वेबसाइट हैक कर 18 हजार मरीजों का डेटा उड़ा दिया

दिल्ली पुलिस ने एक हैकर को गिरफ्तार किया है. इसने एक कंपनी की वेबसाइट पर चार साइबर अटैक किए और कई अस्पतालों का 18 हज़ार मरीजों का डेटा उड़ा दिया. इनमें कोरोना के मरीज भी शामिल हैं. यही नहीं, उस पर आरोप है कि उसने तीन लाख मरीजों की बिलिंग से जुड़ी जानकारी हासिल की और 22 हज़ार मरीजों की फ़र्ज़ी एंट्री कर दी. ये कंपनी अलग-अलग संस्थाओं को आईटी से जुड़ी सर्विसेज देती है.

‘आज तक’ की रिपोर्ट के मुताबिक, नार्थ वेस्ट डिस्ट्रक्ट की डीसीपी विजयन्ता आर्या ने बताया,

ईज़ी सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के सीईओ कुणाल अग्रवाल ने दिल्ली पुलिस से शिकायत की थी कि किसी शख्स ने कुछ कोविड अस्पतालों और बाकी दिल्ली के दूसरे अस्पतालों का डेटा हैक कर लिया है.

साइबर सेल ने गिरफ्तार किया

साइबर सेल ने FIR दर्ज करने के बाद जांच-पड़ताल शुरू की. हैकर का आईपी ऐड्रेस निकाला गया. पता चला कि ये दिल्ली के शाहदरा में विकेश शर्मा नाम के शख्स का है. पुलिस ने आईपी ऐड्रेस के आधार पर छापेमारी की और आरोपी को गिरफ्तार किया. रिपोर्ट के मुताबिक, पूछताछ में विकेश ने अपना ज़ुर्म स्वीकार किया.

कंपनी ने नौकरी से निकाला था

जांच में पता चला कि विकेश ने आईटी से MSc किया है. जिसने शिकायत की, उसकी कंपनी में ही विकेश बतौर सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम करता था. आरोप है कि लॉकडाउन में कंपनी ने उसकी सैलरी में कटौती कर दी, जिससे वो नाराज़ था. कथित तौर पर उसने सैलरी कटौती का विरोध किया तो कंपनी ने उसे नौकरी से निकाल दिया. विकेश को कंपनी की वेबसाइट की डीटेल्स के बारे में जानकारी थी. कहा जा रहा है कि इस खुन्नस में उसने ये कदम उठाया, जिससे कंपनी मदद के लिए उसके पास आए.

पुलिस ने विकेश के पास से वो लैपटॉप बरामद किया है, जिससे हैकिंग की गई है. मामले की जांच की जा रही है.


ट्विटर ने बताया, कैसे हैक हुए थे ब्लू टिक वाले दर्जनों अकाउंट

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मास्क बांटने के बहाने बच्चे को किडनैप किया, चार करोड़ मांगे, पुलिस ने 24 घंटे में पकड़ लिया

यूपी के गोंडा का मामला, पांच आरोपी भी गिरफ्तार.

चुनाव आयोग ने बीजेपी IT सेल से जुड़ी कंपनी से चुनावी कामधाम करवाया!

ये कम्पनी पूर्व महाराष्ट्र सरकार और दूसरे सरकारी विभागों का भी काम देख रही थी.

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.