Submit your post

Follow Us

चपरासी के 62 पदों के लिए इतने पीएचडी वाले! और मोदी जी कहते हैं नौकरी की कमी नहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने हाल ही में एक इंटरव्यू दिया. इसमें देश में रोजगार पर उठाए जा रहे सवालों के जवाब दिए. बोले- देश में रोजगार के सही आंकड़े नहीं हैं वरना तो कोई कमी नहीं है नौकरियों की. तर्क दिए कि बताओ – इतनी रोडें बन रही हैं, घर बन रहे हैं, रेल ट्रैक बिछ रही हैं. सब क्या हवा में बन रहे हैं. सब लोग ही बना रहे हैं तो हुआ न ये रोजगार. उन्होंने तमाम स्टार्टअप और स्किल इंडिया के आंकड़े भी बताए और इस तरह करोड़ों रोजगार गिना दिए. एकदम लगा कि देश में बम-बम हो गया है. हमी लोगों की आंखों में कोई दिक्कत है जो ये खुशहाली दिख नहीं रही है.

क्योंकि आपके कहने से बात बन जाती है. (फोटोः रॉयटर्स)
पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में रोजगार की कमी न होने की बात कही थी. (फोटोः रॉयटर्स)

फिर तारीख आई 31 अगस्त. एक खबर आई उत्तर प्रदेश से. रोजगार की. पता चला कि यूपी पुलिस में प्यून(चपरासी) के 62 पदों के लिए आवेदन मांगे गए थे. इन 62 पदों के लिए 93 हजार लोगों ने आवेदन किए हैं. अब समझ में ये नहीं आता कि क्या ये 93000 लोग भी खुली आंखों से मोदी जी के बताए करोड़ों रोजगारों को नहीं देख पा रहे हैं. और देख पा रहे हैं तो क्यों वो एक प्यून की नौकरी के लिए मगजमारी कर रहे हैं. खैर ये सब तो कुछ भी नहीं, असली झटका तो आपको तब लगेगा जब ये जानोगे कि इन 93000 में 3700 लोग पीएचडी धारक हैं. अरे मतलब ये पीएचडी वाले तो पढ़े-लिखे लोग होंगे. इन्हें क्या ये करोड़ों रोजगार नहीं दिख रहे जो वो प्यून के लिए फॉर्म भर रहे हैं.

ये पीएचडी वाले तो कुछ भी नहीं, इस नौकरी के लिए करीब 50 हजार ग्रेजुएट, 28 हजार पोस्ट ग्रेजुएट भी आवेदन कर चुके हैं. अब बताओ ये भी मोदी जी के करोड़ों रोजगारों को नहीं देख पा रहे हैं. मारा-मारी मचाए हुए हैं. और सबसे बड़ी बात कि जिन लोगों को आवेदन करना चाहिए था यानि 5वीं से 12वीं क्लास तक पढ़े लोगों को, उनके सिर्फ 7400 आवेदन आए हैं. कायदे से इन्हीं के आवेदन आने चाहिए थे. अब भाई कोई ग्रैजुएशन, पोस्ट ग्रैजुएशन और पीएचडी करके प्यून क्यों बनना चाहेगा. तो जवाब है- मजबूरी. मजबूरी कुछ भी करवा सकती है. कोई जुमला इस मजबूरी को खत्म नहीं कर सकता. मोदी जी जो करोड़ों नौकरियां बता रहे थे, अगर उनमें से कोई इन लोगों को भी मिल गई होतीं तो शायद ये ग्रैजुएट, पोस्ट ग्रैजुएट प्यून की पोस्ट के पीछे न भागते.

प्यून की नौकरी के लिए 93000 लोगों ने अप्लाई किया है. (सिंबॉलिक इमेज)
प्यून की नौकरी के लिए 93000 लोगों ने अप्लाई किया है. (सिंबॉलिक इमेज)

अब इन भारी भरकम भर्तियों का नतीजा ये होगा कि जो वाकेयी इसके लिए जरूरतमंद लोग हैं, उन्हें ये नौकरी नहीं मिल पाएगी. इस नौकरी की योग्यता 5वीं पास मांगी गई थी. साथ ही साइकिल चलानी आनी चाहिए थी. शुरुआती वेतन लगभग 20 हजार रुपए है. तो इसी 20,000 के लिए मार मच गई है. इस मार का असर ये हो सकता है कि शायद ये भर्ती तमाम भर्तियों की तरह कैंसल हो जाए. इससे पहले सपा सरकार के दौरान ऐसा हो चुका है. तब सचिवालय में फर्राश के 374 पदों के लिए 24 लाख आवेदन आए थे. बड़ी संख्या में आवेदनों को देखते हुए इसे कैंसल कर दिया गया था.

अब ये खबर एक बड़ा सवाल खड़ा करती है. वो ये कि अगर देश में वाकेयी खूब नौकरियां हैं जैसा कि प्रधानमंत्री क्लेम करते हैं तो ये हजारों लोग क्यों अपनी काबिलियत से नीचे की नौकरी के लिए क्यों अप्लाई कर रहे हैं. दूसरी बात ये कि क्या जैसा एक बार बीजेपी अध्यक्ष ने कहा था. जुमला वाली बात. वो क्या इन नौकरी वाली बात पर भी लागू होती है. और नहीं तो इन 93000 लोगों के मामले में सरकारें जवाब दें.


ये भी पढ़ें –

यलगार परिषद की बैठक से लेकर कथित ‘माओवादियों’ की गिरफ्तारी की पूरी कहानी

जब अटल ने कहा- मैं मोदी को हटाना चाहता था पर…

खेल मंत्री के अपने हाथों से खिलाड़ियों को खाना परोसने वाली तस्वीर का सच

पुलिसकर्मियों के परिवारों का अपहरण क्यों कर रहे हैं आतंकवादी?

पाकिस्तान के पीएम इमरान 15 दिनों के अंदर ही भद्द पिटवा बैठे

लल्लनटॉप वीडियो देखें –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

वेस्टइंडीज़ के खिलाफ वनडे और T20I सीरीज के लिए किन प्लेयर्स को चुना गया?

वेस्टइंडीज़ के खिलाफ वनडे और T20I सीरीज के लिए किन प्लेयर्स को चुना गया?

किन नए चेहरों को जगह मिली और किसका कटा पत्ता?

कोहली को डिफेंड करने की आड़ में अपना एजेंडा चला रहे हैं रवि शास्त्री?

कोहली को डिफेंड करने की आड़ में अपना एजेंडा चला रहे हैं रवि शास्त्री?

शास्त्री पर भड़के पूर्व इंडियन क्रिकेटर.

किस टूर्नामेंट के जरिए टेनिस कोर्ट पर वापसी करेंगे नोवाक जोकोविच?

किस टूर्नामेंट के जरिए टेनिस कोर्ट पर वापसी करेंगे नोवाक जोकोविच?

जोकर फ़ैन्स के लिए खुशख़बरी.

ऑस्ट्रेलियन ओपन में बड़े उलटफेर का शिकार होते-होते बचे मेदवेदेव!

ऑस्ट्रेलियन ओपन में बड़े उलटफेर का शिकार होते-होते बचे मेदवेदेव!

सितसिपास के मैच में तो गजब ही हो गया.

ऑस्ट्रेलिया के पाकिस्तान टूर पर अब क्या संकट आ गया?

ऑस्ट्रेलिया के पाकिस्तान टूर पर अब क्या संकट आ गया?

डर रहे हैं ऑस्ट्रेलियन प्लेयर्स.

रेलवे परीक्षार्थियों की समस्या सुलझाने को लेकर रेल मंत्री ने क्या कदम उठाने को कहा?

रेलवे परीक्षार्थियों की समस्या सुलझाने को लेकर रेल मंत्री ने क्या कदम उठाने को कहा?

मंत्री बोले, छात्र हमारे साथी हैं. संवेदनशीलता से हल करेंगे समस्या.

RRB NTPC रिजल्ट के खिलाफ छात्रों को भड़काने के आरोप पर क्या बोले खान सर?

RRB NTPC रिजल्ट के खिलाफ छात्रों को भड़काने के आरोप पर क्या बोले खान सर?

"RRB अगर पहले ही ये स्टेप ले लेता, तो ये आंदोलन ना होता."

गांगुली-द्रविड़-लक्ष्मण और कुंबले ने कौन सा वर्ल्ड कप जीता है?

गांगुली-द्रविड़-लक्ष्मण और कुंबले ने कौन सा वर्ल्ड कप जीता है?

शास्त्री ने विराट के आलोचकों से पूछा कड़ा सवाल.

छात्र कर रहे हैं RRB NTPC में गड़बड़ी की बात, रेलवे का तो कुछ और ही कहना है

छात्र कर रहे हैं RRB NTPC में गड़बड़ी की बात, रेलवे का तो कुछ और ही कहना है

रेलवे के समझाने के बाद भी छात्र नहीं मान रहे?

बुरी तरह से बंट चुका है इंडियन क्रिकेट टीम का ड्रेसिंग रूम?

बुरी तरह से बंट चुका है इंडियन क्रिकेट टीम का ड्रेसिंग रूम?

कोहली को कप्तानी से भगाया गया?