Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जजों को प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों करनी पड़ी?

8.77 K
शेयर्स

भारत के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार सेवारत जजों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. ये प्रेस कॉन्फ्रेस चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा के बाद सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम जज जस्टिस जे चेलमेश्वर के घर पर हुई. जस्टिस चेलमेश्वर के साथ इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसफ भी मौजूद थे. मीडिया के सवालों के जवाब जस्टिस चेलमेश्वर ने दिए.

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के तुरंत बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को मिलने के लिए बुलाया.

क्या कहा जजों ने?

जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि वो और उनके तीन साथी जज आज सुबह चीफ जस्टिस से मिले और सुप्रीम कोर्ट में अनियमितताओं पर कार्रवाई करने की अपील की. लेकिन जब बात नहीं बनी, तब उन्होंने अपनी बात एक खत में लिख दी. ये खत मीडिया को कुछ देर में मिलने वाली है.

जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में ऐसी चीज़ हो रही हैं, जिसके कारण न्यायपालिका की निष्ठा पर सवाल उठे हैं. जब पत्रकारों ने पूछा कि मामला क्या है, तो जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि उन्होंने अपनी बात एक खत में कह दी है. उस खत की कॉपी आपको मिल जाएगी. उन्होंने कहा कि वो नहीं चाहते कि लोग कहें कि हमने अपनी आत्मा बेच दी है. इसलिए हम अपनी बात देश के सामने रख रहे हैं.

ये पूछने पर कि क्या आप चाहते हैं कि सीजेआई पर महाभियोग चले? तो जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि वो ऐसा कुछ नहीं कह रहे है. इस विषय पर देश को निर्णय लेना है. हमारे पास कोई विकल्प नहीं बचा था. हम देश का कर्ज़ अदा कर रहे हैं.

आखिर मुद्दा क्या है?

ये तब ही सामने आएगा जब जजों का खत सामने आ जाएगा. लेकिन कयास ये लगाए जा रहे हैं मामला नवंबर 2017 का हो सकता है. तब जस्टिस चेलमेश्वर और चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बीच एक केस के अलॉकेशन को लेकर कुछ विवाद हुआ था. ये मामला न्यायपालिका में भ्रष्टाचार से जुड़ा था. लखनउ के एक मेडिकल कॉलेज द्वारा घूस दिए जाने के बाद उसे ब्लैक लिस्ट कर दिया गया था. इस निर्णय को पलटने के लिए कोर्ट केस चल रहा था.

पूरे मामले पर सीजेआई दीपक मिश्रा ने बस इतना कहा है कि सुप्रीम कोर्ट में सभी जज बराबर हैं और सुप्रीम कोर्ट में सभी जजों को काम का बंटवारा बराबरी से ही किया जा रहा है.


ये भी पढ़िए:

जस्टिस लोया की मौत का पूरा मामला

जानिए जज जगदीप सिंह को, जिन्होंने राम रहीम के फैसले पर दस्तखत किए


वीडियो: क्या सोनिया गांधी के इस खास जज ने दीवाली पर बैन किए हैं पटाखे?

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
4 Senior most Judges of Supreme Court Justice J Chelameswar, Ranjan Gogoi, Justice Madan Lokur and Justice Kurien Joseph address media on issue related to Chief Justice of India Deepak Mishra

क्या चल रहा है?

यूपी सरकार ने बचत का नया तरीका निकाला है कि किसी को नौकरी ही न दे!

न नई भर्ती होगी और न ही कोई घोटाला होगा.

इंडिया-पाक मैच से पहले लोगों के घिनौनेपन को सानिया मिर्ज़ा झेल नहीं पाईं

लोग ऐसा तब कर रहे हैं जब वो प्रेगनेंट हैं.

जिस बिल्डिंग में कई मंत्रालय चलते हैं, वहां कैसे होता था सरकारी नौकरी का फर्जी इंटरव्यू?

नौकरी के लिए फोन-मेल सब सही लगता था.

कांग्रेसियों ने भाजपा मंत्री के घर कचरा फेंका, पुलिस ने उनका सिर फोड़ दिया

छत्तीसगढ़ में पुलिस ने प्रदर्शन करने वाले कांग्रेसियों को बेरहमी से पीटा.

हॉन्गकॉन्ग की टीम में 7 पाकिस्तानी थे, आज मुकाबला 11 से है

आज सोशल मीडिया पर बाप-बेटे वाले टुच्चे जोक्स की बाढ़ आएगी.

विकलांगों के प्रोग्राम में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा, टांग तोड़कर बैसाखी दे दूंगा

कितने भले आदमी हैं बाबुल सुप्रियो, जो टांग तोड़ने के बाद बैसाखी भी देंगे!

खुद बच्चे की हत्या कर पड़ोसी पर SC-ST एक्ट लगवाया, 4.5 लाख मुआवजा भी लिया

दो महीने बाद खुला मामला. महीनों जेल में रहा निर्दोष.

जिस राइटर पर न्यूडिटी फैलाने का आरोप लगा था अब वो ये फिल्म ला रहे हैं

और इस फिल्म में कई साल बाद ऋषि कपूर और जूही चावला साथ दिखेंगे.

यूपी-बिहार के बालिका गृहों में रेप के बाद महिला आयोग ने एक अच्छा कदम उठाया है

बिहार के मुजफ्फरपुर में 34 बच्चियों के साथ रेप की खबर आई थी.

DU में छात्रसंघ अध्यक्ष बने ABVP के अंकिव बसोया की डिग्री फर्जी है?

विपक्षी संगठन NSUI ने ये तगड़ा इल्जाम लगाया है वो भी प्रूफ के साथ.