Submit your post

Follow Us

3 वजहें जिनसे विनोद खन्ना की ये फिल्म किसी भी दौर की फिल्म पर भारी पड़ेगी

विनोद खन्ना अपने वक्त के सबसे खूबसूरत शरीर वाले हीरो थे. पर करियर के टॉप पर बॉलीवुड छोड़कर ओशो के साथ संन्यासी बन गए. पर बॉलीवुड किसी को छोड़ता नहीं. उनको वापस आना पड़ा.

आए तो स्टाइल में. 1988 में उनकी फिल्म आई दयावान. फिल्म तो फ्लॉप हो गई. पर एक गाने ने इसको वो हैसियत दी कि 29 साल बाद भी इस फिल्म की चर्चा रहती है.

इस फिल्म को इन 3 वजहों से देखना चाहिए:

1. उस वक्त सेंसर बोर्ड को दरकिनार करते हुए विनोद खन्ना और माधुरी दीक्षित पर गाना फिल्माया गया. इस गाने में दोनों लोगों के बीच दो मिनट का किसिंग सीन था. उस वक्त ये अकल्पनीय बात थी. सेंसर बोर्ड तो आज के दौर में ऐसे सीन देखकर आपे से बाहर हो जाता है.

2. सबसे ताकतवर बात थी कि विनोद कुछ दिन पहले तक संन्यासी थे. ओशो के आश्रम में माली का काम करते थे. भारत जैसे देश में संन्यास को बहुत ही हाई लेवल की चीज समझा जाता है. एक संन्यासी का इस तरीके से कदम रखना बहुत सारे मिथकों को तोड़ता है और एक नए मिथक का निर्माण करता है. बाद में माधुरी दीक्षित ने विनोद खन्ना के बेटे अक्षय खन्ना के साथ हिमालय-पुत्र फिल्म की. बाप-बेटे दोनों के साथ अलग-अलग फिल्मों में रोमांस किया. भारतीय समाज की बनावट के हिसाब से ये ऐतिहासिक रोल हैं, भले ही दोनों फिल्में ना चली हों. भविष्य में इन चरित्रों पर बात होगी.

3. रामगोपाल वर्मा माफिया पर फिल्में बनाने के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने वरदराजन मुदलियार पर एक  फिल्म बनाई थी. दयावान फिल्म में मुदलियार का ही जिक्र है.

15 सितंबर 1993 के इंडिया टुडे के अंक में अनुपमा चोपड़ा ने माधुरी दीक्षित का इंटरव्यू किया था. इसमें माधुरी ने दयावान फिल्म के अपने रोल पर खेद जताया था. कहा कि दयावान के किसिंग सीन को कर के मुझे अफसोस है. जब आप नए होते हो तो आप नहीं जानते कि क्या करना चाहिए. जो डायरेक्टर कहे, वही कर देते हैं. पर बाद में मैंने महसूस किया कि मुझे नहीं कह देना चाहिए था. परिंदा में भी लव-मेकिंग सीन है, पर हमने पूरे कपड़े पहने हुए थे. सिर्फ हाथ और कंधे खुले थे.

पर 2012 में अपने एक इंटरव्यू में माधुरी दीक्षित ने कहा कि मुझे इंटीमेट सीन से कोई ऐतराज नहीं है. ये बात उन्होंने इश्किया फिल्म के संदर्भ में कही थी. तो ये तो वक्त-वक्त की बात है. उम्र और वक्त के साथ विचार बदलते रहते हैं. पर दयावान फिल्म अपने आप में आइकॉनिक रहेगी.

ये भी पढ़ें:

विनोद खन्ना का वो किस्सा, जो अमिताभ खुद से कभी जोड़ना नहीं चाहेंगे

दोस्ती और गरीबी पर सबसे अच्छी बातें विनोद खन्ना ने कहीं थीं

मोदी जी, आपकी ये सांसद जिंदा लोगों की खाल उतरवाना जानती हैं

बाहुबली-2 का सबसे पहला रिव्यू

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?