Submit your post

Follow Us

मध्य प्रदेश के भोपाल में सीवर में काम करने गए दो लोगों की मौत

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सीवर में काम करने गए दो लोगों की मौत हो गई. घटना सोमवार 13 दिसंबर की बताई जा रही है. इंडिया टुडे/आजतक के मुताबिक मरने वालों में एक मजदूर है, जबकि दूसरा पीड़ित इंजीनियर बताया जा रहा है. ये लोग एक निजी कंस्ट्रक्शन कंपनी के लिए काम करते थे. घटना के बाद नगरीय प्रशासन मंत्री ने जांच के आदेश दिए हैं.

इंडिया टुडे से जुड़े रवीश पाल सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों मृतक केंद्र सरकार की ‘अमृत योजना’ के तहत स्वीकृत सीवेज परियोजना पर काम कर रहे थे. भोपाल के लाऊखेड़ी इलाके के जिस सीवेज टैंक में वे घुसे उसकी गहराई करीब 20 फीट बताई जा रही है. ये दोनों उसमें गए लेकिन जिंदा वापस नहीं आ सके.

ख़बर के अनुसार लोगों ने जब सीवर के बाहर जूते रखे हुए देखे और ये भी देखा कि सीवर का ढक्कन खुला हुआ है तो उनको शक हुआ. इसके बाद उन्होंने पुलिस को इस बात की सूचना दी. पुलिस पहुंची तो पता चला कि सीवर के अंदर 2 लोग गिरे हुए हैं. उसने रस्सियों की मदद से दोनों को बाहर निकाला. लेकिन उस समय तक दोनों की मौत हो चुकी थी.

मौत की असल वजह जानने के लिए पुलिस ने शव बाहर निकालने के बाद उन्हें पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल भेज दिया है. वहीं मध्य प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं. भूपेंद्र सिंह ने भोपाल के संभाग आयुक्त को इस मामले में पत्र भी लिखा है. इसमें उन्होंने लिखा कि हादसे की जांच कर 24 घंटे में इसकी रिपोर्ट विभाग को सौंपी जाए.

रवीश पाल की रिपोर्ट के मुताबिक जांच में इस बात का पता लगाया जाएगा कि दोनों व्यक्ति सीवर में क्यों उतरे थे और क्या सीवर में उतरते समय सुरक्षा के तमाम मानदंडों का पालन किया गया था या नहीं.

वहीं नवभारत टाइम्स की एक ख़बर के अनुसार इस घटना की वजह कंपनी की कथित लापरवाही बताई जा रही है. इस आधार पर गांधी नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. इसमें कहा गया है कि जहां घटना हुई है उसके पास केवल मृतकों के जूते मिले हैं. इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि दोनों व्यक्तियों के पास सुरक्षा के कोई उपकरण मौजूद नहीं थे. पुलिस इस बात की जांच भी कर रही है कि दोनों सीवर में खुद ही उतरे थे या गलती से गिर गए.


मैला ढोने वालों पर सरकार ने चौंकाने वाला खुलासा कर दिया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

इस घटना ने दिल्ली के लोगों को हिलाकर रख दिया है.

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

क्रैश का कारण अभी साफ नहीं हो सका है.

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

मृतक राहुल भट्ट राजस्व विभाग में कार्यरत थे.

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

30% इनकम टैक्स के बाद अब 28% जीएसटी लगाने की तैयारी

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.