Submit your post

Follow Us

ओमान में फंसे भारतीयों का वीडियो जो रोते हुए मदद मांग रहे हैं

ओमान के मस्कट में फंसे 14 भारतीयों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, पीएम मोदी, राहुल गांधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और अन्य से मदद की गुहार लगाई है. उन्होंने वीडियो संदेश के जरिए अपनी समस्या बताई है. उनका कहना है कि घर की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण काम की तलाश में ओमान चले गए. कंपनी ने एक साल तक उनका ख्याल रखा, सैलरी देती रही, लेकिन पिछले एक साल से कंपनी ने सैलरी देना बंद कर दिया है. इन लोगों का कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति खराब है. उन्हें खाना पीना भी नहीं मिल रहा है. वे जहां रह रहे हैं वहां बिजली भी नहीं है.

इनका कहना है कि वे अपनी समस्या लेकर इंडियन एंबेसी में  गए थे, लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला. एक व्यक्ति अपनी समस्या बताते हुए रोने लगता है. इन लोगों की अपील है कि इन्हें कैसे भी करके इंडिया वापस बुला लिया जाए. इन्होंने पीएम मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राहुल गांधी ने निवेदन किया है कि उन्हें इंडिया बुलाने के लिए कदम उठाए जाएं. इस मामले से संबंधित वीडियो, फोटो और नेताओं को लिखे गए पत्र हमें दी लल्लनटॉप के एक पाठक ने मेल के जरिए भेजे.

क्या है मामला
ये 14 भारतीय 2015 में नौकरी के लिए ओमान गए थे. दो साल पूरे होने पर 2017 में इन लोगों ने कंपनी के अधिकारियों से भारत भेजने के लिए कहा. कंपनी के अधिकारियों ने मस्कट में ही वीजा बढ़ाने की बात की और कहा कि उन्हें भारत जाने की जरूरत नहीं है. लेकिन कंपनी ने न तो वीजा का समय बढ़ाया न ही इन लोगों को भारत भेजा. अब इन लोगों को सैलरी नहीं मिल रही है. कंपनी के मालिक फरार हो गए हैं. और इन लोगों का पासपोर्ट अपने पास रख लिया है.

सोशल मीडिया पर मदद की गुहार वाला वीडियो आने के बाद इंडियन एंबेसी का जवाब आया है. एंबेसी ने 13 अप्रैल को रिप्लाई किया,

एंबेसी इन वकर्स के संपर्क में है. उन्हें सहायता और जरूरी निर्देश दिए जा रहे हैं. एंबेसी इस मामले से संबंधित संस्थाओं के संपर्क में है.

oman

ट्विटर पर लोगों ने पीएम मोदी, विदेश मंत्री और कई मीडिया संस्थाओं को टैग करते हुए ओमान में फंसे भारतीयों के लिए मदद की गुहार लगाई है. मस्कट में फंसे 14 लोगों में से तीन चूरू के रहने वाले हैं. इनके अलावा 11 लोग पंजाब, केरल, उत्तरप्रदेश, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु के हैं. इन लोगों का कहना है कि ईमेल के माध्यम से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मागी गई थी लेकिन किसी तरह की कोई हेल्प नहीं मिली. एंबेसी के ट्वीट के बाद उम्मीद की जानी चाहिए कि इन लोगों को जल्द ही मदद मिलेगी और ये भारत लौट सकेंगे.


बिहार: ‘विकास’ के गगनभेदी दावों के बीच अपने घर में ही शव दफनाने को मजबूर हैं रब्बीडीह गांव के लोग

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.