Submit your post

Follow Us

ओमान में फंसे भारतीयों का वीडियो जो रोते हुए मदद मांग रहे हैं

5
शेयर्स

ओमान के मस्कट में फंसे 14 भारतीयों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, पीएम मोदी, राहुल गांधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और अन्य से मदद की गुहार लगाई है. उन्होंने वीडियो संदेश के जरिए अपनी समस्या बताई है. उनका कहना है कि घर की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण काम की तलाश में ओमान चले गए. कंपनी ने एक साल तक उनका ख्याल रखा, सैलरी देती रही, लेकिन पिछले एक साल से कंपनी ने सैलरी देना बंद कर दिया है. इन लोगों का कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति खराब है. उन्हें खाना पीना भी नहीं मिल रहा है. वे जहां रह रहे हैं वहां बिजली भी नहीं है.

इनका कहना है कि वे अपनी समस्या लेकर इंडियन एंबेसी में  गए थे, लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला. एक व्यक्ति अपनी समस्या बताते हुए रोने लगता है. इन लोगों की अपील है कि इन्हें कैसे भी करके इंडिया वापस बुला लिया जाए. इन्होंने पीएम मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राहुल गांधी ने निवेदन किया है कि उन्हें इंडिया बुलाने के लिए कदम उठाए जाएं. इस मामले से संबंधित वीडियो, फोटो और नेताओं को लिखे गए पत्र हमें दी लल्लनटॉप के एक पाठक ने मेल के जरिए भेजे.

क्या है मामला
ये 14 भारतीय 2015 में नौकरी के लिए ओमान गए थे. दो साल पूरे होने पर 2017 में इन लोगों ने कंपनी के अधिकारियों से भारत भेजने के लिए कहा. कंपनी के अधिकारियों ने मस्कट में ही वीजा बढ़ाने की बात की और कहा कि उन्हें भारत जाने की जरूरत नहीं है. लेकिन कंपनी ने न तो वीजा का समय बढ़ाया न ही इन लोगों को भारत भेजा. अब इन लोगों को सैलरी नहीं मिल रही है. कंपनी के मालिक फरार हो गए हैं. और इन लोगों का पासपोर्ट अपने पास रख लिया है.

सोशल मीडिया पर मदद की गुहार वाला वीडियो आने के बाद इंडियन एंबेसी का जवाब आया है. एंबेसी ने 13 अप्रैल को रिप्लाई किया,

एंबेसी इन वकर्स के संपर्क में है. उन्हें सहायता और जरूरी निर्देश दिए जा रहे हैं. एंबेसी इस मामले से संबंधित संस्थाओं के संपर्क में है.

oman

ट्विटर पर लोगों ने पीएम मोदी, विदेश मंत्री और कई मीडिया संस्थाओं को टैग करते हुए ओमान में फंसे भारतीयों के लिए मदद की गुहार लगाई है. मस्कट में फंसे 14 लोगों में से तीन चूरू के रहने वाले हैं. इनके अलावा 11 लोग पंजाब, केरल, उत्तरप्रदेश, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु के हैं. इन लोगों का कहना है कि ईमेल के माध्यम से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मागी गई थी लेकिन किसी तरह की कोई हेल्प नहीं मिली. एंबेसी के ट्वीट के बाद उम्मीद की जानी चाहिए कि इन लोगों को जल्द ही मदद मिलेगी और ये भारत लौट सकेंगे.


बिहार: ‘विकास’ के गगनभेदी दावों के बीच अपने घर में ही शव दफनाने को मजबूर हैं रब्बीडीह गांव के लोग

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
14 Indians stuck in Muscat Oman ask for help to Sushma Swaraj, PM Modi and Indian Embassy

टॉप खबर

जानिए मोदी को पुतिन की सरकार ने अपना सबसे बड़ा सम्मान क्यों दिया है

मोदी इतने विनम्र हैं कि किसी को कॉल-मैसेज तक नहीं कर रहे.

कांग्रेस की सभा में खाली कुर्सी की फोटो ले रहे पत्रकार को कांग्रेसियों ने पीट दिया

राहुल माथा पोंछते हैं, प्रियंका जूता उठाती हैं, कांग्रेस के कार्यकर्ता पत्रकार को पीट देते हैं.

UPSC के पहले 5 टॉपर्स ने बताया यहां तक पहुंचने के लिए क्या-क्या करना पड़ा?

पांच टॉपर्स ने बताए सफल होने के पांच मंत्र.

क्या भारत की ही मिसाइल का शिकार हुआ था वायुसेना का हेलिकॉप्टर?

जानिए क्या हुआ था 27 फरवरी को बडगाम में...

एमपी में मिली 1500 साल पुरानी मूर्ति पर किस विदेशी का चेहरा बना है?

एक साल से चल रही खुदाई में अब जाकर कामयाबी मिली है.

राहुल गांधी ने हर साल 72,000 रुपए का बड़ा चुनावी दांव खेला

जानिए, ये किसको कैसे मिलेगा... थोड़ी गणित है इसमें...

डायरी के पन्ने से BJP के नेताओं पर 1810 करोड़ रुपए लेने का आरोप, कारवां की रिपोर्ट

जानिए, किसके नाम के आगे कितने करोड़ रुपए लिखे हैं...

पुलवामा हमले में शामिल जैश-ए-मुहम्मद का एक टेररिस्ट दिल्ली में अरेस्ट

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलवामा अटैक के मास्टरमाइंड का करीबी था ये आदमी.