Submit your post

Follow Us

पड़ताल: मायावती के पुराने बयान को BSP-BJP गठबंधन से जोड़कर किया वायरल

दावा

विधानसभा सीटों की संख्या के लिहाज से देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में साल 2022 में चुनाव होने हैं. विधानसभा चुनाव से पहले सूबे की हर छोटी-बड़ी पार्टी राजनीतिक जोड़-तोड़ और गठबंधन के समीकरणों को साधने में जुटी है. यूपी में गठबंधन को लेकर एक दावा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वायरल दावे में मौजूद है एक अखबार की कटिंग, जिसकी हेडलाइन है-

‘भाजपा से मिल सपा को हराएंगे’

साथ ही इस अखबार की कटिंग में बीएसपी प्रमुख मायावती की एक फोटो भी लगी हुई है. दावा किया गया है कि मायावती आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी से गठबंधन कर रही हैं.

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण राजभर ने वायरल तस्वीर ट्वीट कर लिखा, (आर्काइव)

‘भाजपा-बसपा एक है । दोनो का सूफड़ा साफ़ होगा।’

भाजपा-बसपा एक है । दोनो का सूफड़ा साफ़ होगा। pic.twitter.com/Ws8obTUjsH

फेसबुक पेज We Support Abhay Dubey ने वायरल तस्वीर  को पोस्ट  कर लिखा,

‘जी बहन जी समझ गए हम, शुक्रिया. आप भाजपा का साथ दो.’

जी बहन जी समझ गए हम, शुक्रिया 😃 आप भाजपा का साथ दो।

Posted by We Support Abhay Dubey on Sunday, 12 December 2021

खुद को भाजपा देवरिया का मीडिया प्रभारी बताने वाले अम्बिकेश पांडेय ने वायरल तस्वीर ट्वीट  कर कैप्शन दिया, (आर्काइव)

‘ #कमल_है_तो_कल_है भाजपा से मिल सपा को हराएंगे.’

कई और सोशल मीडिया यूज़र्स ने इस कटिंग के ज़रिए सेम दावा किया है.

पड़ताल

वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए ‘दी लल्लनटॉप’ ने पड़ताल की. हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक निकला. बीएसपी प्रमुख के पुराने बयान को सूबे में आगामी विधानसभा चुनावों से जोड़कर शेयर किया जा रहा है.

दावे की पड़ताल के लिए सबसे पहले हमने वायरल कटिंग को पूरा पढ़ा. अखबार की कटिंग पढ़ने पर पता चलता है कि ये ख़बर यूपी में ‘विधान परिषद चुनाव’ से पहले की है.

इसके बाद हमने ‘भाजपा से मिल सपा को हराएंगे मायावती’ कीवर्डस को इंटरनेट पर सर्च किया. सर्च करने पर हमें दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट का पता मिला. ये रिपोर्ट 29 अक्टूबर 2020 को पब्लिश हुई थी. जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक, मायावती ने कहा था,

‘प्रदेश में आने वाले विधान परिषद के चुनाव में हम समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को बुरी तरह हराएंगे. इसके लिए हम तो अपनी पूरी ताकत झोंक देंगे. इसके लिए अगर हमें भाजपा या किसी अन्य पार्टी के प्रत्याशी को अपना वोट देना पड़े तो हम वो भी करेंगे.’

Untitled Design (3)
जागरण की वेबसाइट पर वायरल बयान को लेकर छपी ख़बर.

मायावती के इस बयान का वीडियो न्यूज एजेंसी ANI ने अपने ट्विटर हैंडल से 29 अक्टूबर 2020 को ट्वीट किया था.
ट्वीट का कैप्शन अंग्रेज़ी में लिखा है, जिसका हिंदी अनुवाद है-

‘बसपा प्रमुख मायावती का कहना है कि समाजवादी पार्टी के दूसरे उम्मीदवार को हराने के लिए उनकी पार्टी भविष्य में यूपी एमएलसी चुनाव में बीजेपी या किसी पार्टी के उम्मीदवार को वोट देगी.’

#WATCH BSP Chief Mayawati says that her party will vote for BJP or any party’s candidate in future UP MLC elections, to defeat Samajwadi Party’s second candidate.

बीएसपी प्रमुख मायावती के ट्विटर अकाउंट पर हमें 29 अक्टूबर, 2020 को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस का एक प्रेस नोट भी मिला. इस प्रेस नोट के कुछ प्रमुख बिंदु हैं-

1. BSP के सात विधायकों ने धन-पद के लालच में सपा समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी के लिए BSP से विश्वासघात किया है. इन सभी सात विधायकों को पार्टी से तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है.

2. आगामी MLC चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को हराने के लिए BSP अपनी पूरी ताकत लगा देगी. चाहे BSP को इन्हें हराने के लिए बीजेपी या अन्य विरोधी पार्टी के उम्मीदवार को ही क्यों ना वोट करना पड़े.

नतीजा

हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ. अखबार की वायरल कटिंग में छपी ख़बर का यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है. भाजपा से मिलकर सपा को हराने वाला बयान बीएसपी प्रमुख मायावती ने 29 अक्टूबर 2020 को सूबे में होने वाले विधानपरिषद चुनावों के लिए दिया था.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


पड़ताल: क्या बीच सड़क पर SP विधायक ने UP पुलिस के दरोगा को पीटा, सच जानिए

पड़ताल: मायावती के पुराने बयान को BSP-BJP गठबंधन से जोड़कर किया वायरल
  • दावा

    दावा है कि मायावती आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी से गठबंधन कर रही हैं.

  • नतीजा

    दावा भ्रामक है. भाजपा से मिलकर सपा को हराने वाला बयान बीएसपी प्रमुख मायावती ने 29 अक्टूबर 2020 को सूबे में होने वाले विधानपरिषद चुनावों के लिए दिया था.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

मस्जिद पर चढ़कर भगवा लहराने का यह वीडियो करौली राजस्थान नहीं, यूपी का है

सोशल मीडिया पर मस्जिद पर भगवा झंडा फहराने की घटना को करौली का बताकर शेयर किया जा रहा है.

नवरात्र में यूपी में मीट की दुकानें रहेंगी बंद? योगी सरकार के आदेश का सच!

दावा है कि यूपी सरकार ने नवरात्र के दौरान प्रदेश में मीट की दुकानों को बंद रखने का फैसला लिया है.

केजरीवाल पर गुजरातियों को धमकी देने का आरोप लगाते हुए वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के भाषण की वीडियो क्लिप वायरल हो रही है.

पंजाब के सीएम भगवंत मान को बाइक चोर बताकर पुरानी तस्वीर वायरल

सोशल मीडिया पर भगवंत मान की पुरानी तस्वीर बाइक चोरी के आरोप में गिरफ्तारी के दावे के साथ वायरल है.

योगी सरकार बनने की खुशी में तीन महीने के फ्री मोबाइल रीचार्ज का दावा वायरल

सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ के फ्री-मोबाइल रीचार्ज का दावा वायरल हो रहा है.

पतंजलि का बहिष्कार करने को कह रहे हिमालया कंपनी के 'मालिक' का सच!

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दिख रहे शख़्स को हिमालया कंपनी का मालिक बताया जा रहा है.

शाहरुख की 2.38 घंटे की फिल्म पठान यूट्यूब पर लीक हो गई? खूब शेयर हो रहा यह लिंक

सोशल मीडिया पर शाहरुख खान की फिल्म पठान के लिंक के साथ एक मैसेज वायरल हो रहा है.

क्या योगी आदित्यनाथ ने कहा, शाहरुख खान की पठान फिल्म न देखें?

सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ का शाहरुख खान से जुड़ा वीडियो पठान फिल्म से जोड़कर वायरल हो रहा है.

मुस्लिम युवक द्वारा हिंदू लड़की की हत्या कर लाश सूटकेस में बंद करने का दावा वायरल

सोशल मीडिया पर एक लड़की की हत्या कर उसकी लाश सूटकेस में छिपाने की खबर वायरल हो रही है.

शिवा गुर्जर का मर्डर करने वाले पांचों मुसलमान थे? जानिए हत्या का सच

शिवा गुर्जर हत्याकांड में सांप्रदायिक एंगल जोड़कर वीडियो वायरल हो रहा है.