Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन ने कोरोना से ठीक होने के बाद पत्रकारों को चाय पर बुलाया?

दावा

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसके साथ में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने के बाद उन्होंने पत्रकारों को चाय पार्टी पर बुलाया. इस वीडियो में ब्रिटिश पीएम को बिना मास्क के देखा जा सकता है.

वायरल मेसेज (आर्काइव लिंक) अंग्रेज़ी में है, हम आपको उसका हिंदी अनुवाद पढ़वा देते हैं,

ये हैं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, जो हाल ही में COVID-19 संक्रमण से बचकर निकले हैं. कुछ रिपोर्टर उनके घर गए. पुरानी लाल ईंटों की दीवारों वाला उनका घर किसी गुमनाम सैन्य बंकर जैसा दिख रहा था. वहां की सड़कें बहुत संकरी थीं. रहने का कमरा बहुत छोटा था, इसलिए उन्हें रिपोर्टरों को घर के बाहर चाय पिलानी पड़ी. चाय के कप एक-दूसरे से काफ़ी अलग थे.

वो सादे कपड़े और उजड़े बालों में मिले, लेकिन चेहरे पर प्रधानमंत्री वाली मुस्कान के साथ.

This is the British Prime Minister Boris Johnson who had recently recovered from his COVID 19 illness. Some reporters visited his home which was looking like old abandoned military hut with very old red brick walls. The road was narrow and there is no tile; just like ordinary people living in a small lane. The living room was too small, so he had to hold the tea Tray and entertain the reporters outdoor. All the tea cups are of different kind. He met them with disheveled hair, casual clothes but with a confident smile of a Prime Minister. 👍👍👍

Posted by Afjal Khan on Saturday, 2 May 2020

ये वीडियो ऐसे ही दावों के साथ सोशल मीडिया पर कई और भी यूजर ने भी शेयर किया.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल वीडियो और साथ में शेयर किए जा रहे मेसेज की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में ये दावा झूठा निकला.

हमने वायरल वीडियो को गौर से देखा. इस वीडियो के अंत में ‘द टेलीग्राफ़’ का लोगो दिखा. हमने इस क्लू के आधार पर यूट्यूब परकीवर्ड्सकी मदद से सर्च किया. पहले नंबर पर ही ‘द टेलीग्राफ़’ के यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुआ वीडियो मिल गया. ये वीडियो 13 अगस्त, 2018 को अपलोड किया गया था. इसका टाइटल है,

Boris offers tea as he stays quiet over burqa row

(बुर्का विवाद पर मौन बोरिस चाय ऑफ़र करते हुए)

टेलीग्राफ़ के वीडियो की डीटेल्स.
टेलीग्राफ़ के वीडियो की डीटेल्स.

वीडियो के डिस्क्रिप्शन के अनुसार, बोरिस जॉनसन ने ‘टेलीग्राफ़’ में छपने वाले अपने कॉलम में बुर्क़े पर लिखने की वजह से शुरू हुए विवाद पर बोलने से मना कर दिया. हालांकि उन्होंने अपने घर के बाहर खड़े पत्रकारों को चाय भी ऑफ़र की. ये वीडियो तकीबन दो साल पुराना है. उस वक़्त COVID-19 का कोई नामोनिशान तक नहीं था.

अभी वायरल वीडियो और अगस्त, 2018 के वीडियो के एक फ़्रेम की तुलना करने पर हमें दोनों वीडियो एक जैसे ही लगे.

बाईं तरफ़ टेलीग्राफ़ पर अपलोड वीडियो का स्क्रीनग्रैब है तो दाईं तरफ़ अभी वायरल हो रहे वीडियो का. दोनों एक ही हैं.
बाईं तरफ़ टेलीग्राफ़ पर अपलोड वीडियो का स्क्रीनग्रैब है तो दाईं तरफ़ अभी वायरल हो रहे वीडियो का. दोनों एक ही हैं.

बीबीसी की रिपोर्ट (आर्काइव लिंक) के मुताबिक़, ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन का नोवेल कोरोना वायरस टेस्ट 27 मार्च, 2020 को पॉजिटिव आया था. इसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री आवास (10 डाउनिंग स्ट्रीट) में क़्वारंटीन होना पड़ा.

बोरिस जॉनसन के कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट.
बोरिस जॉनसन के कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट.

17 अप्रैल, 2020 की‘द गार्डियन’ की रिपोर्ट (आर्काइव लिंक)में बोरिस जॉनसन के संक्रमित होने, आईसीयू में जाने और वहां से ठीक होकर लौटने की पूरी घटना का सिलसिलेवार ब्योरा दिया गया है. इस रिपोर्ट के अनुसार, बोरिस जॉनसन को तीन दिनों तक ICU में रहना पड़ा. 12 अप्रैल को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई. उसी दिन उन्होंने एक वीडियो संदेश जारी कर नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) की नर्सों का शुक्रिया अदा किया.

13 अगस्त, 2018 कीद एक्सप्रेस यूके की रिपोर्ट (आर्काइव लिंक)के मुताबिक़, वीडियो में दिख रहा घर ऑक्सफ़ोर्डशायर में है. फ़ॉरेन सेक्रेटरी का पद छोड़ने के बाद से वो यहां पर रह रहे थे.

बीबीसी की रिपोर्ट (आर्काइव लिंक) के मुताबिक़, ब्रिटेन की कंज़र्वेटिव पार्टी के उम्मीदवार बोरिस जॉनसन को 24 जुलाई, 2019 को ब्रिटेन का प्रधानमंत्री चुना गया.

बीबीसी की ख़बर.
बीबीसी की ख़बर.

अभी वायरल हो रहा वीडियो अगस्त, 2018 का है. उस वक्त न तो बोरिस जॉनसन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री थे, न ही दुनिया में नोवेल कोरोना वायरस महामारी का संकट शुरू हुआ था.

नतीजा

COVID-19 से ठीक होने के बाद, ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन के पत्रकारों से मिलने का दावा पूरी तरह से झूठा है. वायरल हो रहा वीडियो 13 अगस्त, 2018 का है. उस वक़्त बोरिस जॉनसन ब्रिटेन के पीएम नहीं थे, न ही दुनिया में कोरोना वायरस का खतरा शुरू हुआ था.

बोरिस ने अपने कॉलम में बुर्क़े पर विवादित चीज़े लिखी थीं, जिस पर हंगामा हो रहा था. रिपोर्टर उनके ऑक्सफ़ोर्डशायर वाले घर के बाहर खड़े होकर उनके जवाब का इंतज़ार कर रहे थे. बोरिस ने जवाब देने से तो मना कर दिया, लेकिन रिपोर्टरों को चाय ज़रूर ऑफ़र की थी.

इस वीडियो का बोरिस जॉनसन के कोरोना संक्रमण से कोई संबंध नहीं है.

अगर आपको भी किसी ख़बर पर शक है
तो हमें मेल करें- padtaalmail@gmail.com पर.
हम दावे की पड़ताल करेंगे और आप तक सच पहुंचाएंगे.

कोरोना वायरस से जुड़ी हर बड़ी वायरल जानकारी की पड़ताल हम कर रहे हैं.
इस लिंक पर क्लिक करके जानिए वायरल दावों की सच्चाई.

पड़ताल: क्या ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन ने कोरोना से ठीक होने के बाद पत्रकारों को चाय पर बुलाया?
  • दावा

    ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने के बाद पत्रकारों से मिले.

  • नतीजा

    ये दावा पूरी तरह ग़लत है. वायरल वीडियो अगस्त, 2018 का है. उस वक्त न तो बोरिस जॉनसन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री थे और न ही दुनिया में नोवेल कोरोना वायरस महामारी का संकट शुरू हुआ था.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: 1963 में ही हो गई थी कोरोना के 'ओमिक्रॉन' वेरिएंट की भविष्यवाणी?

पड़ताल: 1963 में ही हो गई थी कोरोना के 'ओमिक्रॉन' वेरिएंट की भविष्यवाणी?

वायरल तस्वीरों में ओमिक्रॉन वेरियंट को कुछ पुरानी फिल्मों से जोड़ा जा रहा है.

पड़ताल: जन्मदिन मनाते हुए लड़के की मौत का दावा करते वायरल वीडियो का सच

पड़ताल: जन्मदिन मनाते हुए लड़के की मौत का दावा करते वायरल वीडियो का सच

वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि बर्थडे मनाने के क्रूर तरीके के कारण लड़के की मौत हो गई.

पड़ताल: आपने योगी आदित्यनाथ का केशव प्रसाद मौर्य को डांटने वाला वीडियो देखा? अब सच जानिए

पड़ताल: आपने योगी आदित्यनाथ का केशव प्रसाद मौर्य को डांटने वाला वीडियो देखा? अब सच जानिए

सोशल मीडिया यूजर्स का दावा है कि योगी आदित्यनाथ ने मंच पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को डांट-फटकार लगाई.

पड़ताल: दिल्ली के सरकारी स्कूल को मदरसा बनाने वाली साजिश के दावे का पूरा सच

पड़ताल: दिल्ली के सरकारी स्कूल को मदरसा बनाने वाली साजिश के दावे का पूरा सच

सोशल मीडिया यूजर्स का दावा है कि वायरल वीडियो दिल्ली के सरकारी स्कूल का है, जहां गुरुपर्व की छुट्टी के दिन स्कूल में मदरसा चलाया जा रहा है.

पड़ताल: सिर्फ प्लेटफॉर्म टिकट से कर सकते हैं ट्रेन में यात्रा? जानिए पूरा सच

पड़ताल: सिर्फ प्लेटफॉर्म टिकट से कर सकते हैं ट्रेन में यात्रा? जानिए पूरा सच

दावा है कि सिर्फ प्लेटफॉर्म टिकट होने पर व्यक्ति ट्रेन में यात्रा भी कर सकता है.

पड़ताल: BJP नेताओं ने चीन के एयरपोर्ट की फोटो को नोएडा इंटरनेशल एयरपोर्ट का बताया

पड़ताल: BJP नेताओं ने चीन के एयरपोर्ट की फोटो को नोएडा इंटरनेशल एयरपोर्ट का बताया

सोशल मीडिया यूजर्स इसे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मॉडल से जोड़कर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: PM मोदी ने बांध का उद्घाटन तो किया पर BJP नेताओं ने गलत तस्वीर ठेल दी

पड़ताल: PM मोदी ने बांध का उद्घाटन तो किया पर BJP नेताओं ने गलत तस्वीर ठेल दी

वायरल तस्वीर को शेयर कर 'बुंदलेखंड को सौगात' देने की बात की जा रही है.

पड़ताल: मुस्लिम समुदाय ने नहीं बनाया राम मंदिर निर्माण रुकने की आशंका जताता वीडियो

पड़ताल: मुस्लिम समुदाय ने नहीं बनाया राम मंदिर निर्माण रुकने की आशंका जताता वीडियो

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि ये गाना समाजवादी पार्टी ने बनवाया है.

पड़ताल: इंदिरा गांधी सी-फूड नहीं खा रहीं, तस्वीर के साथ वायरल हो रहा दावा ग़लत

पड़ताल: इंदिरा गांधी सी-फूड नहीं खा रहीं, तस्वीर के साथ वायरल हो रहा दावा ग़लत

नामी फोटोजर्नलिस्ट श्रीधर नायडू की खींची इस वायरल तस्वीर का सच.

पड़ताल: सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदारों की मौत से जुड़े दावों का सच

पड़ताल: सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदारों की मौत से जुड़े दावों का सच

वायरल फोटो को सोशल मीडिया यूजर्स सुशांत के रिश्तेदारों के एक्सीडेंट सीन से जोड़कर शेयर कर रहे हैं.