Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या ओवैसी की पार्टी के नेता ने लॉकडाउन के दौरान मुंबई पुलिस को धमकाया?

दावा

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के पूर्व विधायक वारिस पठान का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में वारिस पठान एक पुलिसवाले से बहस करते दिख रहे हैं. सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि पूर्व विधायक लॉकडाउन को न मानने की धमकी दे रहे हैं.

29 अप्रैल, 2020 को ट्विटर यूजर @Akmritunjai ने वायरल वीडियो ट्वीट (आर्काइव लिंक) करते हुए लिखा,

वारिस पठान मुंबई पुलिस को धमकाते हुये

मस्जिद में आने से रोकना नहीं, 40 साल से मस्जिद में नमाज़ पढ़ रहें हैं. एक तरफ़ अरनव गोस्वामी पुलिस को पूरा सहयोग कर रहा हैं सही होते हुए भी वहीं दूसरी तरफ़ उसी मुंबई में वारिस पठान खुल्लम खुल्ला लॉकडाउन तोड़ने की बात कर रहा है,

बैरकपुर सीट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद अर्जुन सिंह ने भी वीडियो ट्वीट (आर्काइव लिंक) कर ऐसा ही दावा किया. उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए शिवसेना नेता संजय राउत पर भी निशाना साधा.

ये वीडियो वॉट्सऐप पर भी घूम रहा है.

वॉट्सऐप पर वायरल मेसेज.
वॉट्सऐप पर वायरल मेसेज.

वारिस पठान 2014 से 2019 तक मुंबई की भायखला सीट से विधायक रह चुके हैं.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल वीडियो और साथ में शेयर किए जा रहे दावों की विस्तार से पड़ताल की. हमारी पड़ताल में ये दावा भ्रामक निकला.

कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर हमें ‘Mumbai live’ की तीन साल पुरानी एक रिपोर्ट (आर्काइव लिंक) मिली. इसके अंदर अभी वायरल हो रहा वीडियो भी लगा है. इस रिपोर्ट का टाइटल है,

Warris Pathan abuses Abuses Police

(वारिस पठान ने पुलिस के साथ बदतमीजी की)

मुंबई लाइव की 2016 की रिपोर्ट.
मुंबई लाइव की 2016 की रिपोर्ट.

ये वीडियो हमें यूट्यूब पर भी मिल गया. इसे 18 नवंबर, 2016 को अपलोड किया गया था. वीडियो के डिस्क्रिप्शन के मुताबिक़, भायखला इलाक़े में लाउडस्पीकर की आवाज़ कम कराने गए पुलिसवालों के साथ वारिस पठान उलझ गए और उन्होंने धमकी भी दी.

वीडियो के अंत में वारिस पठान स्थानीय लोगों को कायदे-कानून के अंदर रहकर अपना प्रोग्राम जारी रखने के लिए कहते हैं.

हमने आगे और सर्च किया तो हमें इस वीडियो का एक लंबा वर्जन मिल गया. ये वारिस पठान के ऑफ़िशियल फ़ेसबुक पेज पर 14 नवंबर, 2016 को अपलोड हुआ था. वीडियो के टाइटल से पता चलता है कि भायखला में एक मस्जिद में लाउडस्पीकर बंद कराने गई पुलिस के ख़िलाफ़ लोगों की भीड़ जमा हो गई. बाद में, वारिस पठान के दखल देने के बाद माहौल शांत हुआ.

Situation was tense at byculla due to loudspeaker at mosque police harassed locals waris pathan intervens and solved the issue thousands gathered on streets thanks waris pathan

Posted by Waris Pathan on Sunday, 13 November 2016

इससे एक तथ्य सामने आया कि इस वीडियो का कोरोना वायरल लॉकडाउन से कोई लेना-देना नहीं है.

वारिस पठान ने भी वायरल वीडियो के संबंध में अपने ऑफ़िशियल ट्विटर अकाउंट से स्पष्टीकरण (आर्काइव लिंक) जारी किया है.

महाराष्ट्र में अक्टूबर, 2014 से लेकर नवंबर, 2019 तक भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना गठबंधन की सरकार थी. और, उस वक़्त के मुख्यमंत्री थे भाजपा के देवेंद्र फडणवीस. मतलब कि इस घटना के समय उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री नहीं थे. 

नतीजा

AIMIM के पूर्व विधायक वारिस पठान का एक वीडियो लॉकडाउन के दौरान का बताकर वायरल किया जा रहा है. ये दावा सरासर ग़लत है. ये वीडियो नवंबर, 2016 का है. वारिस पठान उस वक्त भायखला के विधायक थे. और, मस्जिद में लाउडस्पीकर को लेकर स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच बढ़ रहे तनाव को शांत कराने पहुंचे थे.

इस वीडियो का हालिया कोरोना वायरस लॉकडाउन से कोई संबंध नहीं है.

अगर आपको भी किसी ख़बर पर शक है
तो हमें मेल करें- padtaalmail@gmail.com पर.
हम दावे की पड़ताल करेंगे और आप तक सच पहुंचाएंगे.

कोरोना वायरस से जुड़ी हर बड़ी वायरल जानकारी की पड़ताल हम कर रहे हैं.
इस लिंक पर क्लिक करके जानिए वायरल दावों की सच्चाई.

पड़ताल: क्या ओवैसी की पार्टी के नेता ने लॉकडाउन के दौरान मुंबई पुलिस को धमकाया?
  • दावा

    AIMIM के पूर्व विधायक वारिस पठान ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान मुंबई पुलिस को धमकाया.

  • नतीजा

    ये दावा ग़लत है. अभी वायरल हो रहा वीडियो नवंबर, 2016 का है. इसका कोरोना वायरस लॉकडाउन से कोई संबंध नहीं है.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: मोहन भागवत के साथ असदुद्दीन ओवैसी की फोटो वायरल. जानिए सच

वायरल तस्वीर में RSS प्रमुख मोहन भागवत के साथ AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी सोफे पर बैठे नज़र आ रहे हैं

पड़ताल: जयंत चौधरी के 'जाटों का ठेका नहीं लिया' वाले बयान से छेड़छाड़ कर BJP ने भ्रम फैलाया

सोशल मीडिया यूज़र्स वायरल वीडियो को शेयर कर जयंत चौधरी पर कटाक्ष कर रहे हैं.

पड़ताल: PM मोदी ने नहीं बनवाई ओवैसी के गढ़ में सबसे बड़ी हिन्दू मूर्ति, सच्चाई जानिए

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि ओवैसी के घर के बगल में पीएम मोदी ने हिंदू संत की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बनवा दी है.

पड़ताल: क्या केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मोदी के रहते नहीं हो सकता किसानों का हित? जानिए सच

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के वायरल वीडियो का सच ये है.

पड़ताल: योगी आदित्यनाथ कार में भजन सुनते नज़र आ रहे हैं? जानिए सच

सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार में भजन सुनने का दावा वायरल हो रहा है.

पड़ताल: स्वामी विवेकानंद को 1857 क्रांति से जोड़ PIB ने इतिहास बदला, बाद में गलती मानी

PIB इंडिया ने रमण महर्षि को भी 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन से जोड़कर दिखाया.

पड़ताल: मोदी की कैबिनेट बैठक में सिखों को सेना से हटाने पर हुई चर्चा? जानिए सच

सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री मोदी की केंद्रीय मंत्रियों के साथ चल रही बैठक का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा है कि कैबिनेट बैठक में आर्मी से सिखों को निकालने की बात पर चर्चा हुई.

पड़ताल: शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के एयरपोर्ट पर पेशाब करने का दावा वायरल. जानिए सच.

सोशल मीडिया पर बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के एयरपोर्ट पर पेशाब करने का दावा वायरल हो रहा है.

पड़ताल: लड़की के स्कूल बंक कर लड़के के साथ होटल जाने का वीडियो वायरल. जानिए सच

दावा है कि होटल में पकड़ी गई लड़की घर से तो स्कूल जाने के लिए निकलती थी लेकिन बाहर जाते ही वो अपने प्रेमी के साथ होटल चली जाती थी.

पड़ताल: यूपी विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान का दावा वायरल. जानिए सच

सोशल मीडिया पर दावा है कि 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 7 चरणों में होंगे, जिसकी तारीखें 4 फरवरी, 8, 11, 15, 19, 23 और 28 फरवरी बताई जा रहीं हैं.