Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या इटली के एक अख़बार ने 1962 में ही कोरोना महामारी की भविष्यवाणी कर दी थी?

दावा

सोशल मीडिया पर इटली के एक पुराने अख़बार का कवर पेज शेयर किया जा रहा है. इसके साथ चल रहे मेसेज में दावा किया जा रहा है कि 1962 के साल में ही कोरोना को लेकर भविष्यवाणी कर दी गई थी.

एक फ़ेसबुक यूजर ने कवर का फ़ोटो पोस्ट (आर्काइव लिंक) करते हुए लिखा,

कोरोना के लिए सोशल डिस्टैन्सिंग जैसे हालात की आशंका इटली को वर्ष 1962 में ही हो गयी थी

कोरोना के लिए सोशल डिस्टैन्सिंग जैसे हालात की आशंका इटली को वर्ष 1962 में ही हो गयी थी

Posted by Sarita Baid on Sunday, 17 May 2020

इस फ़ोटो को वॉट्सऐप ग्रुप में भी सेम दावे के साथ घुमाया जा रहा है. 

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने इस वायरल दावे की विस्तार से पड़ताल की. हमारी पड़ताल में तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला.

हमने सबसे पहले कीवर्ड्स की मदद से अख़बार का पता लगाया. हमें पता चला कि ‘La Domenica del Corriere (संडे कुरियर)’ 1899 में शुरू हुआ एक वीकली अख़बार था. ये ‘Corriere della Sera (इवनिंग कुरियर)’ नाम के एक डेली अख़बार के साथ रविवार को पब्लिश होता था. ये था तो एक सप्लिमेंट्री अख़बार, लेकिन इसे अलग से बेचा जाता था. 1989 में ये सप्लिमेंट आना बंद हो गया.

हमने इस कवर फ़ोटो को रिवर्स इमेज में सर्च किया, तो हमें इमेज शेयरिंग प्लेटफ़ॉर्म Pinterest का एक लिंक मिला. इस पर हमें वायरल फ़ोटो मिल गई. पता चला कि ये इटली के मशहूर कॉमिक आर्टिस्ट वॉल्टर मोलिनो ने 1962 में बनाई थी.

Pinterest पर लगी तस्वीर.
Pinterest पर लगी तस्वीर.

और सर्च करने पर हमें weirduniverse वेबसाइट के एक आर्टिकल (आर्काइव लिंक) का पता मिला. इस आर्टिकल का टाइटल है,

Urban Transport of the Future

(भविष्य का शहरी परिवहन)

इसमें हमें वायरल तस्वीर के साथ, अख़बार के उसी अंक की एक और फ़ोटो मिली, जिसमें एक व्यक्ति न्यूयॉर्क में कार की छत पर चढ़कर निकलने की कोशिश करता दिख रहा है.

वायरल कवर का पहला हिस्सा.
वायरल कवर का पहला हिस्सा.

अभी वायरल हो रही तस्वीर कवर का दूसरा हिस्सा है, जिसमें समस्या का समाधान बताया गया है. इस तस्वीर के कैप्शन में लिखा है,

“क्या शहर ऐसे हो जाएंगे? फिर इस तरह से शहरों में ट्रैफ़िक की समस्या का पूरा समाधान नहीं निकाला जा सका, तो सिंगल सीट वाली कारों के जरिए ट्रैफ़िक को कम किया जा सकेगा.”

वॉल्टर मोलिनो ने अपने आर्ट के दूसरे हिस्से में समाधान भी बताया था.
वॉल्टर मोलिनो ने अपने आर्ट के दूसरे हिस्से में समाधान भी बताया था.

और सर्च करने पर हमें Plurale.net वेबसाइट का एक आर्टिकल (आर्काइव लिंक) मिला. इसमें Singoletta गाड़ी के बारे में बताया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक़, डीन कामेन ने 2001 में Segway नाम के दो चक्के वाली गाड़ी का ईज़ाद किया था. Segway की तस्वीर आप नीचे देख सकते हैं. डीन कामेन का इरादा था, शहरों में बढ़ रही ट्रैफ़िक की समस्या से निज़ात दिलाना.

ये है Segway, जिसका ईजाद डीन कामेन ने 2001 में किया था.
ये है Segway, जिसका ईजाद डीन कामेन ने 2001 में किया था.

इससे काफ़ी पहले वॉल्टर मोलिनो ने अपने आर्ट के जरिए Singoletta की रुपरेखा बता दी थी. Sigoletta चार छोटे-छोटे चक्कों वाली गाड़ी है, जिसमें एक व्यक्ति के लिए जगह होती है. बाहर के मौसम से बचाने के लिए शीशे का कवर लगा होता है. वॉल्टर मोलिनो ने अपने साइंस फ़िक्शन आर्ट के जरिए समझाया था कि कैसे महानगरों में लगने वाले जाम को मात दी जा सकती है.

Plurale के आर्टिकल में वायरल कवर के बारे में विस्तार से बताया गया है.
Plurale के आर्टिकल में वायरल कवर के बारे में विस्तार से बताया गया है.

ये आर्ट 16 दिसंबर, 1962 के La Domenica del Corriere अख़बार के बैक कवर पर पब्लिश किया गया था. इसलिए ये आर्ट किसी वायरस से बचाव के लिए नहीं, बल्कि ट्रैफ़िक की समस्या से निपटने का रास्ता सुझाने के लिए बनाया गया था. ऐसा कहीं नहीं लिखा है कि 2022 में ऐसा कोई दृश्य देखने को मिलेगा. इसमें ‘निकट भविष्य’ का ज़िक्र किया गया है. 2022 में शहरों में शीशे के कवर में सफ़र कर रहे लोगों देखे जाने का दावा काल्पनिक है.

नतीजा

वायरल तस्वीर इटली के वीकली अख़बार La Domenica del Corriere के 16 दिसंबर, 1962 के अंक में बैक कवर पर छपी थी. ये आर्ट पीस मशहूर कॉमिक आर्टिस्ट वॉल्टर मोलिनो का है. उन्होंने भविष्य में ट्रैफ़िक की समस्या से बचने के लिए शीशे के कवर वाली सिंगल सीटर गाड़ी का आइडिया सुझाया था. इसका कोरोना वायरस या किसी भी वायरस से कोई संबंध नहीं है. आर्ट में निकट भविष्य शब्द का ज़िक्र है. 2022 में इस तरह के दृश्य देखे जाने का दावा काल्पनिक है.

अगर आपको भी किसी ख़बर पर शक है
तो हमें मेल करें- padtaalmail@gmail.com पर.
हम दावे की पड़ताल करेंगे और आप तक सच पहुंचाएंगे.

कोरोना वायरस से जुड़ी हर बड़ी वायरल जानकारी की पड़ताल हम कर रहे हैं.
इस लिंक पर क्लिक करके जानिए वायरल दावों की सच्चाई.

पड़ताल: क्या इटली के एक अख़बार ने 1962 में ही कोरोना महामारी की भविष्यवाणी कर दी थी?
  • दावा

    इटली के अख़बार ने 1962 में ही कोरोना के कारण सोशल डिस्टेंसिंग की भविष्यवाणी कर दी थी.

  • नतीजा

    ये दावा भ्रामक है. वायरल तस्वीर सही है. लेकिन इसका कोरोना वायरस से कोई संबंध नहीं है. वायरल आर्ट ट्रैफ़िक की समस्या के लिए बनााया गया था.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaalmail@gmail.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें