Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या BJP नेता नितिन गडकरी ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर खुशी जता दी?

दावा

सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का एक वीडियो वायरल है. वायरल वीडियो में नितिन गडकरी बोल रहे हैं-

“सबसे पहले मुझे बहुत खुशी है कि कोविड में इस समय हमारे देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी.”

फेसबुक यूज़र घनश्याम फुलारा ने वायरल वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा है-

“ये क्या बोल गए नितिन गडकरी जी. खुशी है कि कोविड में ऑक्सीजन की कमी से अनेक लोगों को जान गंवानी पड़ी.”

ये क्या बोल गए नितिन गडकरी जी …
खुशी है कि कोविड में ऑक्सीजन की कमी से अनेक लोगों को जान गंवानी पड़ी ..

Posted by Ghanshyam Fulara on Friday, 11 June 2021

ट्विटर यूज़र Faizal Peraje ने भी वायरल वीडियो ट्वीट किया है.

(आर्काइव)

फेसबुक यूज़र संजय झा ने नितिन गडकरी के इस बयान पर अख़बार में छपी एक खबर की कटिंग पोस्ट की है. साथ में लिखा है-

“भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री का बयान. शर्म की बात है.”

भारत सरकार के केन्द्रिय मंत्री का बयान ।
शर्म की बात है

Posted by Sanjay Jha on Wednesday, 9 June 2021

(आर्काइव)

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने नितिन गडकरी के वायरल बयान की पड़ताल की. ये बात सही है कि गडकरी ने ही ये शब्द बोले हैं, लेकिन पूरा वीडियो देखने पर पता चलता है कि वे भूलवश गलत शब्दों का प्रयोग कर गए हैं. प्रयागराज में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वो ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने की बात कर रहे थे.

कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर हमें नितिन गडकरी के इस भाषण का पूरा वीडियो ‘TV 1 India Live‘ नाम के एक यूट्यूब चैनल पर मिला. 9 जून 2021 को अपलोड किए गए इस वीडियो का टाइटल है-

“ऑक्सीजन प्लांट की आधारशिला रखते नितिन गडकरी”

नितिन गडकरी ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए बोलते हैं-

“सबसे पहले मुझे बहुत खुशी है कि कोविड में इस समय हमारे देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी. ऑक्सीजन जो हमें मिलता है, कुछ जिले में हवा से ऑक्सीजन तैयार करने की दो बड़ी कंपनियां हैं. वो हमें लिक्विड ऑक्सीजन देती है और उस ऑक्सीजन को फिर कम्प्रेस करके सिलेंडर में डालकर वो फिर अस्पताल में मिलता है.”

नितिन गडकरी का पूरा भाषण सुनने पर पता चलता है कि वो ये बता रहे हैं कि कैसे कोरोना के तीसरे और चौथे वेव से लड़ने की तैयारी करनी है. वो जिलों को ऑक्सीजन सप्लाई में आत्मनिर्भर बनाने और अस्पतालों में बेड्स बढ़ाने की बाते कर रहे हैं. (आर्काइव)

हमें ‘न्यूज़ 18‘ की वेबसाइट पर 9 जून 2021 की एक ख़बर भी मिली. ख़बर के मुताबिक़,

9 जून को नितिन गडकरी ने प्रयागराज में ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल उद्घाटन किया था. इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उनकी जुबान फिसल गई. हालांकि जैसे ही गडकरी को अपनी भूल का एहसास हुआ उन्होंने संभलते हुए कहा कि किसी को तीन से चार लीटर ऑक्सीन, तो किसी को तीन मिनट में 20 लीटर ऑक्सीजन की जरूरत होती है. ऐसे में सभी जिलों को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होना होगा.

News 18
न्यूज 18 की रिपोर्ट.

इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, यूपी के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और BJP नेता महेंद्र नाथ पांडेय भी मौजूद थे. (आर्काइव)

नतीजा

हमारी पड़ताल में नितिन गडकरी का ऑक्सीजन की कमी से हुई कोरोना मौतों पर खुशी जताने का दावा करता वीडियो अधूरा सच साबित हुआ. पूरा वीडियो देखने पर पता चलता है कि गडकरी ने भूलवश ये बात कह दी. गडकरी का पूरा बयान सुनने पर पता चलता है कि वो ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने संबंधी बातें कर रहे थे.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


पड़ताल: क्या राजस्थान में आधार कार्ड के बिना रह रहे पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को वैक्सीन नहीं लग रही?

पड़ताल: क्या BJP नेता नितिन गडकरी ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर खुशी जता दी?
  • दावा

    नितिन गडकरी ने कहा उन्हें बड़ी खुशी हुई कि ऑक्सीजन की कमी से लोगों को जान गंवानी पड़ी.

  • नतीजा

    असल में आने वाले दिनों में ऑक्सीजन की पूर्ति के संबंध में बात करते हुए नितिन गडकरी की जुबान फिसल गई थी.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: क्या इस साल 10वीं और 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स को सरकारी नौकरी के लिए स्पेशल पेपर देना होगा?

पड़ताल: क्या इस साल 10वीं और 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स को सरकारी नौकरी के लिए स्पेशल पेपर देना होगा?

न्यूज़ वेबसाइट के वायरल स्क्रीनशॉट का पूरा सच यहां जानिए.

पड़ताल: किन्नौर में हुए भूस्ख़लन के बाद हिमाचल के पहाड़ों में लगा है ये भयानक जाम?

पड़ताल: किन्नौर में हुए भूस्ख़लन के बाद हिमाचल के पहाड़ों में लगा है ये भयानक जाम?

हिमाचल समेत पूरे हिमालय क्षेत्र में पहाड़ दरकने की ख़बरें लगातार आ रही हैं.

पड़ताल: क्या घरेलू गैस की बढ़ी कीमतों की ज़िम्मेदार

पड़ताल: क्या घरेलू गैस की बढ़ी कीमतों की ज़िम्मेदार "55% टैक्स वसूलने वाली राज्य सरकारें" हैं?

दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार मात्र 5% टैक्स ले रही है, जबकि राज्य सरकारें कई गुणा ज्यादा.

पड़ताल: क्या तस्वीर में दिख रही महिला अफ़ग़ानी राजदूत की बेटी हैं, जिसका पाकिस्तान में

पड़ताल: क्या तस्वीर में दिख रही महिला अफ़ग़ानी राजदूत की बेटी हैं, जिसका पाकिस्तान में "अपहरण" हुआ था?

अफ़ग़ानी राजदूत ने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में उनकी बेटी का अपहरण होने का दावा किया था.

पड़ताल: क्या नागालैंड में उग रहे हैं ये खूबसूरत रंगीन भुट्टे?

पड़ताल: क्या नागालैंड में उग रहे हैं ये खूबसूरत रंगीन भुट्टे?

सोशल मीडिया पर वायरल इस तस्वीर को हज़ारों यूज़र लाइक कर चुके हैं.

पड़ताल: गुजरात में फिल्मी स्टाइल में हुई गिरफ़्तारी को दिल्ली दंगे से जोड़ता दावा भ्रामक

पड़ताल: गुजरात में फिल्मी स्टाइल में हुई गिरफ़्तारी को दिल्ली दंगे से जोड़ता दावा भ्रामक

इस गिरफ़्तारी को अंजाम देने वाले पुलिस अधिकारी ने 'दी लल्लनटॉप' को बताया पूरा सच!

पड़ताल: क्या नीरव मोदी की बैंक गारंटी देने वालों में राहुल गांधी का भी नाम है?

पड़ताल: क्या नीरव मोदी की बैंक गारंटी देने वालों में राहुल गांधी का भी नाम है?

सोशल मीडिया पर लंदन की कोर्ट के नाम पर वायरल है मेसेज.

पड़ताल: क्या राजस्थान में पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों को नहीं मिल रही कोविड वैक्सीन?

पड़ताल: क्या राजस्थान में पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों को नहीं मिल रही कोविड वैक्सीन?

दावा है कि रोहिंग्या और बांग्लादेश से आए लोगों को वैक्सीन मिली, पर हिंदू शरणार्थियों को नहीं.

पड़ताल: राशन कार्ड में दलाली का आरोप लगाती महिलाओं ने अमरोहा के BJP विधायक को पीट दिया?

पड़ताल: राशन कार्ड में दलाली का आरोप लगाती महिलाओं ने अमरोहा के BJP विधायक को पीट दिया?

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों में नेता जी का कुर्ता फटा नज़र आ रहा है.

पड़ताल: कोरोना काल में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मस्जिद में नमाज़ अदा करने पहुंच गए?

पड़ताल: कोरोना काल में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मस्जिद में नमाज़ अदा करने पहुंच गए?

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है कांग्रेस नेता का ये वीडियो.