Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या BJP नेता नितिन गडकरी ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर खुशी जता दी?

दावा

सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का एक वीडियो वायरल है. वायरल वीडियो में नितिन गडकरी बोल रहे हैं-

“सबसे पहले मुझे बहुत खुशी है कि कोविड में इस समय हमारे देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी.”

फेसबुक यूज़र घनश्याम फुलारा ने वायरल वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा है-

“ये क्या बोल गए नितिन गडकरी जी. खुशी है कि कोविड में ऑक्सीजन की कमी से अनेक लोगों को जान गंवानी पड़ी.”

ये क्या बोल गए नितिन गडकरी जी …
खुशी है कि कोविड में ऑक्सीजन की कमी से अनेक लोगों को जान गंवानी पड़ी ..

Posted by Ghanshyam Fulara on Friday, 11 June 2021

ट्विटर यूज़र Faizal Peraje ने भी वायरल वीडियो ट्वीट किया है.

(आर्काइव)

फेसबुक यूज़र संजय झा ने नितिन गडकरी के इस बयान पर अख़बार में छपी एक खबर की कटिंग पोस्ट की है. साथ में लिखा है-

“भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री का बयान. शर्म की बात है.”

भारत सरकार के केन्द्रिय मंत्री का बयान ।
शर्म की बात है

Posted by Sanjay Jha on Wednesday, 9 June 2021

(आर्काइव)

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने नितिन गडकरी के वायरल बयान की पड़ताल की. ये बात सही है कि गडकरी ने ही ये शब्द बोले हैं, लेकिन पूरा वीडियो देखने पर पता चलता है कि वे भूलवश गलत शब्दों का प्रयोग कर गए हैं. प्रयागराज में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वो ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने की बात कर रहे थे.

कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर हमें नितिन गडकरी के इस भाषण का पूरा वीडियो ‘TV 1 India Live‘ नाम के एक यूट्यूब चैनल पर मिला. 9 जून 2021 को अपलोड किए गए इस वीडियो का टाइटल है-

“ऑक्सीजन प्लांट की आधारशिला रखते नितिन गडकरी”

नितिन गडकरी ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए बोलते हैं-

“सबसे पहले मुझे बहुत खुशी है कि कोविड में इस समय हमारे देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी. ऑक्सीजन जो हमें मिलता है, कुछ जिले में हवा से ऑक्सीजन तैयार करने की दो बड़ी कंपनियां हैं. वो हमें लिक्विड ऑक्सीजन देती है और उस ऑक्सीजन को फिर कम्प्रेस करके सिलेंडर में डालकर वो फिर अस्पताल में मिलता है.”

नितिन गडकरी का पूरा भाषण सुनने पर पता चलता है कि वो ये बता रहे हैं कि कैसे कोरोना के तीसरे और चौथे वेव से लड़ने की तैयारी करनी है. वो जिलों को ऑक्सीजन सप्लाई में आत्मनिर्भर बनाने और अस्पतालों में बेड्स बढ़ाने की बाते कर रहे हैं. (आर्काइव)

हमें ‘न्यूज़ 18‘ की वेबसाइट पर 9 जून 2021 की एक ख़बर भी मिली. ख़बर के मुताबिक़,

9 जून को नितिन गडकरी ने प्रयागराज में ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल उद्घाटन किया था. इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उनकी जुबान फिसल गई. हालांकि जैसे ही गडकरी को अपनी भूल का एहसास हुआ उन्होंने संभलते हुए कहा कि किसी को तीन से चार लीटर ऑक्सीन, तो किसी को तीन मिनट में 20 लीटर ऑक्सीजन की जरूरत होती है. ऐसे में सभी जिलों को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होना होगा.

News 18
न्यूज 18 की रिपोर्ट.

इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, यूपी के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और BJP नेता महेंद्र नाथ पांडेय भी मौजूद थे. (आर्काइव)

नतीजा

हमारी पड़ताल में नितिन गडकरी का ऑक्सीजन की कमी से हुई कोरोना मौतों पर खुशी जताने का दावा करता वीडियो अधूरा सच साबित हुआ. पूरा वीडियो देखने पर पता चलता है कि गडकरी ने भूलवश ये बात कह दी. गडकरी का पूरा बयान सुनने पर पता चलता है कि वो ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने संबंधी बातें कर रहे थे.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


पड़ताल: क्या राजस्थान में आधार कार्ड के बिना रह रहे पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को वैक्सीन नहीं लग रही?

पड़ताल: क्या BJP नेता नितिन गडकरी ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर खुशी जता दी?
  • दावा

    नितिन गडकरी ने कहा उन्हें बड़ी खुशी हुई कि ऑक्सीजन की कमी से लोगों को जान गंवानी पड़ी.

  • नतीजा

    असल में आने वाले दिनों में ऑक्सीजन की पूर्ति के संबंध में बात करते हुए नितिन गडकरी की जुबान फिसल गई थी.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: BJP नेताओं ने चीन के एयरपोर्ट की फोटो को नोएडा इंटरनेशल एयरपोर्ट का बताया

पड़ताल: BJP नेताओं ने चीन के एयरपोर्ट की फोटो को नोएडा इंटरनेशल एयरपोर्ट का बताया

सोशल मीडिया यूजर्स इसे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मॉडल से जोड़कर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: PM मोदी ने बांध का उद्घाटन तो किया पर BJP नेताओं ने गलत तस्वीर ठेल दी

पड़ताल: PM मोदी ने बांध का उद्घाटन तो किया पर BJP नेताओं ने गलत तस्वीर ठेल दी

वायरल तस्वीर को शेयर कर 'बुंदलेखंड को सौगात' देने की बात की जा रही है.

पड़ताल: मुस्लिम समुदाय ने नहीं बनाया राम मंदिर निर्माण रुकने की आशंका जताता वीडियो

पड़ताल: मुस्लिम समुदाय ने नहीं बनाया राम मंदिर निर्माण रुकने की आशंका जताता वीडियो

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि ये गाना समाजवादी पार्टी ने बनवाया है.

पड़ताल: इंदिरा गांधी सी-फूड नहीं खा रहीं, तस्वीर के साथ वायरल हो रहा दावा ग़लत

पड़ताल: इंदिरा गांधी सी-फूड नहीं खा रहीं, तस्वीर के साथ वायरल हो रहा दावा ग़लत

नामी फोटोजर्नलिस्ट श्रीधर नायडू की खींची इस वायरल तस्वीर का सच.

पड़ताल: सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदारों की मौत से जुड़े दावों का सच

पड़ताल: सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदारों की मौत से जुड़े दावों का सच

वायरल फोटो को सोशल मीडिया यूजर्स सुशांत के रिश्तेदारों के एक्सीडेंट सीन से जोड़कर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: सेब की पेटी में गोलियां-ग्रेनेड, पर पकड़े गए शख़्स को कांग्रेस MLA बताते दावे ग़लत

पड़ताल: सेब की पेटी में गोलियां-ग्रेनेड, पर पकड़े गए शख़्स को कांग्रेस MLA बताते दावे ग़लत

ये तस्वीरें दो इतर घटनाओं की हैं, एक भारत की, एक बांग्लादेश की.

पड़ताल: वीडियो का छोटा हिस्सा काटकर सावरकर के बारे में फिर झूठ फैलाया जा रहा

पड़ताल: वीडियो का छोटा हिस्सा काटकर सावरकर के बारे में फिर झूठ फैलाया जा रहा

वीडियो दिखाकर सोशल मीडिया यूज़र्स दावा कर रहे हैं कि सावरकर ने जेल में ऐसे कष्ट सहे थे.

पड़ताल:

पड़ताल: "राशिद अल्वी ने जय श्री राम कहने वालों को राक्षस कहा", अमित मालवीय के इस दावे का सच

राशिद अल्वी ने बयान दिया था, "आज भी बहुत लोग जय श्री राम का नारा लगाते हैं वो सब मुनि नहीं वो निशिचरघोरा हैं."

पड़ताल: बीच सड़क नमाज़ अदा करने की ये तस्वीर भारत की नहीं

पड़ताल: बीच सड़क नमाज़ अदा करने की ये तस्वीर भारत की नहीं

सोशल मीडिया पर वेरिफाइड यूज़र्स इसे भारत का बताकर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: क्या हज़ारों लोगों की ये रैली त्रिपुरा हिंसा के विरोध में निकाली गई है?

पड़ताल: क्या हज़ारों लोगों की ये रैली त्रिपुरा हिंसा के विरोध में निकाली गई है?

वायरल वीडियो को लोग "केरल के मुसलमानों की एकता" बताकर सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं.