Submit your post

Follow Us

पड़ताल: PM मोदी ने बांध का उद्घाटन तो किया पर BJP नेताओं ने गलत तस्वीर ठेल दी

दावा

सोशल मीडिया पर एक पोस्टर तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल पोस्टर में उत्तर प्रदेश(यूपी) के CM योगी आदित्यनाथ के साथ एक बांध की तस्वीर दिखाई दे रही है.

दावा है कि ये यूपी के ललितपुर में बना भावनी बांध है. इससे ललितपुर की 3800 हेक्टेयर भूमि को सिंचित और 20 गाँव के 8062 किसानों को सिंचाई की सुविधा मिलने की जानकारी दी जा रहा है.

वेरिफाइड ट्विटर यूजर और यूपी में वाराणसी जिले की पिंडरा विधानसभा से विधायक डॉ अवधेश सिंह ने ट्वीट कर बुलंद बुन्देलखंड का दावा किया, (आर्काइव)

ट्वीट का कैप्शन अंग्रेजी में है जिसका हिंदी अनुवाद है,

पीएम मोदी जी और CM योगी जी के दौरे के दौरान बुंदेलखंड के सूखा प्रभावित क्षेत्र को मिलेगी सिंचाई परियोजनाएँ #बुलन्द_बुन्देलखण्ड

एक और वेरिफाइड ट्विटर यूज़र योगी देवनाथ ने भी वायरल पोस्टर शेयर किया. (आर्काइव)

इसके अलावा ये दावा फेसबुक पर भी शेयर किया जा रहा है.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल दावे की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक निकला. वायरल तस्वीर में दिख रहा बांध कृष्णा नदी पर बना श्रीशैलम बांध है. ये तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की सीमा पर बना है.

हमने वायरल तस्वीर की पड़ताल के लिए रिवर्स इमेज सर्च की मदद ली. हमें  ‘डेक्कन क्रॉनिकल‘ की वेबसाइट पर 10 अगस्त 2018 को पोस्ट किए गए एक आर्टिकल में बांध की वायरल तस्वीर मिली. ये आर्टिकल श्रीशैलम बांध के घटते जलस्तर के बारे में है.  (आर्काइव)

Deccan Chronicle
डेक्कन क्रॉनिकल की वेबसाइट पर छपे आर्टिकल का स्क्रीनशॉट

भावनी बांध की बारे में खोजने पर हमें 19 नवंबर, 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बुंदेलखंड जनसभा का वीडियो PMO के ऑफिशल यूट्यूब चैनल पर मिला. इस वीडियो में प्रधानमंत्री ने भावनी बांध परियोजना का जिक्र किया है. साथ ही वीडियो में 36 मिनट 27 सेकेंड पर भावनी बांध की एक तस्वीर भी देखी जा सकती है.
वीडियो में दिख रहा बांध वायरल दावे में शेयर की जा रही बांध की तस्वीर से बिल्कुल अलग है.

कृष्णा नदी प्रबंधन बोर्ड, हैदराबाद की वेबसाइट के मुताबिक, वायरल दावे में दिख रहा श्रीशैलम बांध तेलंगाना और आंध्र प्रदेश राज्यों की सीमा पर पड़ने वाले जिले महबूबनगर और कुर्नूल के बीच में बना है. नीलम संजीव रेड्डी श्रीशैलम परियोजना के तहत इस बांध के निर्माण कार्य साल 1960 में शुरू हुआ था. साल 1980 में श्रीशैलम बांध बन कर तैयार हो गया था. 

क्यों हो रही है ललितपुर के भावनी बांध की चर्चा ?
दरअसल 19 नवंबर 2021 पीएम मोदी ने यूपी के महोबा में वर्चुअल माध्यम से महोबा समेत कई जिलों में विकास परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया था. ललितपुर की भावनी बांध परियोजना भी इसी लिस्ट में शामिल है, जिसे आधार बनाकर बुन्देलखण्ड इलाके में हो रहे विकास पर कई पोस्ट सोशल मीडिया पर चल रहे हैं.

नतीजा

वायरल पोस्ट में दिख रही तस्वीर ललितपुर के भावनी बांध की नहीं, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सीमा पर बने श्रीशैलम बांध की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर 2021 को बुंदेलखंड के लिए भावनी बांध समेत दो और बांध परियोजनाओं का उद्घाटन तो किया था, लेकिन ‘बुंदेलखंड को सौगात’ के नाम से पोस्ट किए जा रहे वायरल दावे में लगी बांध की तस्वीर गलत है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


वीडियो: ‘क्या भारत को 99 साल की लीज़ पर आज़ादी मिली है’, सच यहां जान लीजिए

पड़ताल: PM मोदी ने बांध का उद्घाटन तो किया पर BJP नेताओं ने गलत तस्वीर ठेल दी
  • दावा

    बुंदेलखंड को सौगात के नाम से चल रहे सोशल मीडिया पोस्ट में लगी तस्वीर भावनी बांध की है.

  • नतीजा

    वायरल पोस्ट में दिख रही तस्वीर ललितपुर के भावनी नहीं बल्कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सीमा पर बने श्रीशैलम बांध की है.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: मुस्लिम समुदाय ने नहीं बनाया राम मंदिर निर्माण रुकने की आशंका जताता वीडियो

पड़ताल: मुस्लिम समुदाय ने नहीं बनाया राम मंदिर निर्माण रुकने की आशंका जताता वीडियो

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि ये गाना समाजवादी पार्टी ने बनवाया है.

पड़ताल: इंदिरा गांधी सी-फूड नहीं खा रहीं, तस्वीर के साथ वायरल हो रहा दावा ग़लत

पड़ताल: इंदिरा गांधी सी-फूड नहीं खा रहीं, तस्वीर के साथ वायरल हो रहा दावा ग़लत

नामी फोटोजर्नलिस्ट श्रीधर नायडू की खींची इस वायरल तस्वीर का सच.

पड़ताल: सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदारों की मौत से जुड़े दावों का सच

पड़ताल: सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदारों की मौत से जुड़े दावों का सच

वायरल फोटो को सोशल मीडिया यूजर्स सुशांत के रिश्तेदारों के एक्सीडेंट सीन से जोड़कर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: सेब की पेटी में गोलियां-ग्रेनेड, पर पकड़े गए शख़्स को कांग्रेस MLA बताते दावे ग़लत

पड़ताल: सेब की पेटी में गोलियां-ग्रेनेड, पर पकड़े गए शख़्स को कांग्रेस MLA बताते दावे ग़लत

ये तस्वीरें दो इतर घटनाओं की हैं, एक भारत की, एक बांग्लादेश की.

पड़ताल: वीडियो का छोटा हिस्सा काटकर सावरकर के बारे में फिर झूठ फैलाया जा रहा

पड़ताल: वीडियो का छोटा हिस्सा काटकर सावरकर के बारे में फिर झूठ फैलाया जा रहा

वीडियो दिखाकर सोशल मीडिया यूज़र्स दावा कर रहे हैं कि सावरकर ने जेल में ऐसे कष्ट सहे थे.

पड़ताल:

पड़ताल: "राशिद अल्वी ने जय श्री राम कहने वालों को राक्षस कहा", अमित मालवीय के इस दावे का सच

राशिद अल्वी ने बयान दिया था, "आज भी बहुत लोग जय श्री राम का नारा लगाते हैं वो सब मुनि नहीं वो निशिचरघोरा हैं."

पड़ताल: बीच सड़क नमाज़ अदा करने की ये तस्वीर भारत की नहीं

पड़ताल: बीच सड़क नमाज़ अदा करने की ये तस्वीर भारत की नहीं

सोशल मीडिया पर वेरिफाइड यूज़र्स इसे भारत का बताकर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: क्या हज़ारों लोगों की ये रैली त्रिपुरा हिंसा के विरोध में निकाली गई है?

पड़ताल: क्या हज़ारों लोगों की ये रैली त्रिपुरा हिंसा के विरोध में निकाली गई है?

वायरल वीडियो को लोग "केरल के मुसलमानों की एकता" बताकर सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं.

पड़ताल: अमेरिका में दिवाली मनाई गई, पर पटाखे फोड़ने का ये ज़ोरदार वीडियो कहीं और का

पड़ताल: अमेरिका में दिवाली मनाई गई, पर पटाखे फोड़ने का ये ज़ोरदार वीडियो कहीं और का

500 मीटर लंबी पटाखों की लड़ी फोड़ने का ये वायरल वीडियो सोशल मीडिया पर लाखों बार देखा जा चुका है.

पड़ताल: क्या अमिताभ बच्चन और विद्या बालन ने KBC में PM मोदी का मजाक उड़ाया?

पड़ताल: क्या अमिताभ बच्चन और विद्या बालन ने KBC में PM मोदी का मजाक उड़ाया?

मज़ाकिया वीडियो इतना वायरल है कि सोशल मीडिया यूज़र्स इसे सच मान रहे हैं.