Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या सिप्ला कंपनी सरकार को बिना मुनाफे के कोरोना वायरस की टेस्ट किट दे रही है?

दावा

सोशल मीडिया पर एक दावा वायरल हो रहा है कि देश की बड़ी फार्मास्यूटिकल कंपनी सिप्ला कोरोना वायरस (Covid-19) के लिए टेस्ट किट बना रही है (आर्काइव लिंक). दावे में लिखा है कि सिप्ला इस टेस्ट किट को बिना मुनाफा कमाए सरकार को देगी. पोस्ट में बिना भाषाई सुधार किए हम ज्यों का त्यों लिख रहे हैं

Thanks CIPLA covid-19 की टेस्टिंग किट बिना मुनाफा के सरकार को देगी


यह दावा फेसबुक और ट्विटर पर कई यूजर्स ने शेयर किया है. (आर्काइव लिंक- फेसबुक,ट्विटर)

पड़ताल

हमने दावे की पड़ताल की. ‘दी लल्लनटॉप’ की पड़ताल में यह वायरल दावा गलत पाया गया. सिप्ला ने Covid-19 (कोरोना वायरस) की जांच किट बनाने का कोई ऐलान नहीं किया है. बल्कि Covid-19 की दवा बनाने के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट आफ केमिकल टेक्नोलॉजी (IICT) के साथ मिलकर काम करने का ऐलान किया है.

दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने सिप्ला की कम्युनिकेशन टीम से बात की. सिप्ला मैनेजमेंट के बड़े अधिकारियों ने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया,

“कंपनी Covid-19 के लिए टेस्ट किट नहीं बल्कि इस बीमारी की दवा बनाने की कोशिश में है. हाल ही में सिप्ला ने जो ऐलान किया था, वो IICT और काउंसिल आफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR) के साथ मिलकर एक्टिव फार्मा इनग्रीडिएंट (API) बनाने की योजना के बारे में था.”

इस संबंध में ‘द हिंदू’ अखबार ने 17 मार्च को खबर भी पब्लिश की थी.

हाल-फिलहाल सिप्ला की चेयरमैन (गैर कार्यकारी) डॉ. युसूफ हमीद ने मीडिया को दिए अपने किसी इंटरव्यू में Covid-19 की टेस्ट किट के बारे में कोई घोषणा नहीं की है. ‘द हिंदू बिजनेस लाइन’ में 20 मार्च, 2020 को छपे इंटरव्यू में डॉ. हमीद ने कहा,

‘कोरोना वायरस के मामले में जिन दवाइयों के बारे में अच्छा रिस्पांस है वो सिप्ला के पास हैं. जैसा मैंने देखा है, अगर 100 लोगों को कोरोना वायरल संक्रमण होता है तो 80 प्रतिशत आसानी से दोबारा सेहतमंद हो जाते हैं साधारण सी एंटी-फ्लू या पैरासिटामॉल खाकर. क़रीब 15 प्रतिशत इससे ठीक नहीं होते, यहां एंटी-वायरल इस्तेमाल में आ सकती हैं. ताज़ा शोध में सामने आया है कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और अज़िथ्रोमाइसिन के नतीजे अच्छे रहे हैं. सिप्ला के पास ये दोनों दवाइयां हैं.’

नतीजा

कुल मिलाकर हमारी पड़ताल में यह नतीजा निकला कि देश की बड़ी फार्मास्यूटिकल कंपनी सिप्ला Covid-19 की जांच किट नहीं बना रही है, और न ही इसे बिना मुनाफे के सरकार को दे रही है. सिप्ला ने Covid-19 की दवाई बनाने के लिए IICT और CSIR से काम करने का ऐलान किया है. इसकी पुष्टि कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों ने की है.

अगर आपको भी किसी ख़बर पर शक है तो हमें मेल करें- padtaalmail@gmail.com पर. हम दावे की पड़ताल करेंगे और आप तक सच पहुंचाएंगे.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें