Submit your post

Follow Us

पड़ताल: कोरोना काल में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मस्जिद में नमाज़ अदा करने पहुंच गए?

दावा

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. वायरल वीडियो में अशोक गहलोत एक मुस्लिम धार्मिक स्थल से मुस्लिम समाज के कुछ लोगों के साथ बाहर निकलते नज़र आ रहे हैं. उन्होंने बाकी लोगों की तरह पारंपरिक टोपी भी पहनी हुई है. इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर अशोक गहलोत पर निशाना साधा जा रहा है.

फेसबुक यूज़र संजीव झा ने वायरल वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा है-

“जुम्मे की नमाज़ पढ़ने के बाद मस्जिद से बाहर निकले अशोक गहलोत. ये हिन्दू है.”

जुम्मे की नमाज पढ़ने के बाद मस्जिद से बाहर निकले अशोक गहलोत.ये हिन्दू है।👇👇

Posted by Sanjiv Jha on Friday, 4 June 2021

(आर्काइव)

ट्विटर यूज़र शैलेन्द्र प्रताप ने भी वायरल वीडियो ट्वीट करते हुए यही कैप्शन लिखा है.

(आर्काइव)

इसी तरह के तमाम दावे इस वीडियो के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हैं.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल वीडियो की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला. वायरल वीडियो जनवरी 2019 का है जब अशोक गहलोत राजस्थान के डूंगरपुर जिले में पीर फखरुद्दीन की दरगाह पर गए थे.

कुछ कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर हमें ‘फर्स्ट इंडिया न्यूज़ राजस्थान‘ चैनल के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल की एक रिपोर्ट मिली. 28 जनवरी 2019 को अपलोड किए गए इस वीडियो रिपोर्ट के मुताबिक़,

राजस्थान के मुख्यमंत्री 28 जनवरी को राजस्थान के डूंगरपुर जिले के गलियाकोट गए थे. यहां उन्होंने ओरी माता के मंदिर में पूजा की थी. इसके बाद वो पीर फखरुद्दीन बाबा की दरगाह पर भी ज़ियारत करने पहुंचे थे. ये दरगाह मुस्लिमों के बोरा समुदाय का एक बड़ा धार्मिक केंद्र माना जाता है. वायरल वीडियो इसी दरगाह से बाहर निकलते समय का है. इसके बाद उन्होंने कार्यकर्ता सम्मेलन में भी हिस्सा लिया था.

(आर्काइव)

अशोक गहलोत का वायरल वीडियो हमें एक और यूट्यूब चैनल ‘न्यूज़ 53‘ पर भी मिला. 28 जनवरी 2019 को ही अपलोड किए गए इस वीडियो के डिस्क्रिप्शन के मुताबिक़, अशोक गहलोत ने गलियाकोट में सईद फखरुद्दीन बाबा की मजार पर पहुंच कर ज़ियारत की और उन्हें श्रद्धांजलि दी.

(आर्काइव)

अशोक गहलोत के ऑफिशियल वेबसाइट पर भी उनके डूंगरपुर जिले के इस दौरे की जानकारी दी गई है. वेबसाइट पर बताया गया है कि मुख्यमंत्री ने डूंगरपुर में शीतला माता मंदिर और पीर फखरुद्दीन दरगाह में दर्शन किए.(आर्काइव)

नतीजा

हमारी पड़ताल में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का मस्जिद में नमाज पढ़ने का दावा करता वायरल वीडियो भ्रामक निकला. गहलोत के जिस वीडियो को मस्जिद में नमाज़ पढ़ने के नाम पर वायरल किया जा रहा है, वो असल में 28 जनवरी 2019 का है, जब वो पीर फखरुद्दीन बाबा के दरगाह पर ज़ियारत करने पहुंचे थे. उस दिन गहलोत शीतला माता मंदिर भी गए थे.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


पड़ताल: क्या सड़क-रोटी की जगह राम मंदिर मांगने वाले की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गयी ?

पड़ताल: कोरोना काल में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मस्जिद में नमाज़ अदा करने पहुंच गए?
  • दावा

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मस्जिद में जाकर नमाज़ अदा की.

  • नतीजा

    वायरल वीडियो दो साल पुराना है, जब अशोक गहलोत पीर फखरुद्दीन दरगाह पर ज़ियारत करने पहुंचे थे.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaalmail@gmail.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: राशन कार्ड में दलाली का आरोप लगाती महिलाओं ने अमरोहा के BJP विधायक को पीट दिया?

पड़ताल: राशन कार्ड में दलाली का आरोप लगाती महिलाओं ने अमरोहा के BJP विधायक को पीट दिया?

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों में नेता जी का कुर्ता फटा नज़र आ रहा है.

पड़ताल: क्या 'ऑपरेशन ब्लू स्टार' की बरसी पर बुर्ज खलीफा में भिंडरावाले की तस्वीर दिखाई गई?

पड़ताल: क्या 'ऑपरेशन ब्लू स्टार' की बरसी पर बुर्ज खलीफा में भिंडरावाले की तस्वीर दिखाई गई?

साल 1984 में स्वर्ण मंदिर परिसर सिख चरमपंथी नेता जरनैल सिंह भिंडरावाले के कंट्रोल में था.

केंद्रीय मंत्री सीतारामन और पीयूष गोयल ने कोविड वैक्सीन पर गलत जानकारी दी

केंद्रीय मंत्री सीतारामन और पीयूष गोयल ने कोविड वैक्सीन पर गलत जानकारी दी

नीति आयोग का भ्रामक दावा, "दुनियाभर में कहीं भी बच्चों को वैक्सीन नहीं लग रही."

क्या बुनियादी सुविधाओं की जगह मंदिर मांगने वाले की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई?

क्या बुनियादी सुविधाओं की जगह मंदिर मांगने वाले की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई?

वायरल वीडियो में शख़्स ने कहा था- "सड़क नहीं चाहिए, रोटी नहीं चाहिए, मंदिर चाहिए."

पड़ताल: इसराइल-फ़लस्तीन तनाव के बीच अल-अक्सा मस्जिद पर हमले की है ये तस्वीर?

पड़ताल: इसराइल-फ़लस्तीन तनाव के बीच अल-अक्सा मस्जिद पर हमले की है ये तस्वीर?

सोशल मीडिया पर दावा, इसराइल ने इस्लाम के तीसरे सबसे पवित्र स्थल को तोड़ दिया है.

पड़ताल: नाक में नींबू का रस डालने से कोरोना वायरस ठीक नहीं होता, वायरल वीडियो भ्रामक है

पड़ताल: नाक में नींबू का रस डालने से कोरोना वायरस ठीक नहीं होता, वायरल वीडियो भ्रामक है

स्वास्थ्य मंत्रालय और AIIMS, दिल्ली के डॉक्टर ने इस बारे में जो बताया, यहां पढ़िए!

पड़ताल: फिटकरी का पानी पीने से कोरोनावायरस नहीं मरेगा, उल्टा दिक्कत हो सकती है

पड़ताल: फिटकरी का पानी पीने से कोरोनावायरस नहीं मरेगा, उल्टा दिक्कत हो सकती है

अख़बार की कटिंग वायरल कर दावा, 'बिहार के कई लोग इससे ठीक हुए.'

पड़ताल: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA-Q से ऑक्सीजन लेवल नहीं बढ़ेगा, दावा भ्रामक है

पड़ताल: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA-Q से ऑक्सीजन लेवल नहीं बढ़ेगा, दावा भ्रामक है

इससे पहले आर्सेनिक एल्बम नाम की होम्योपैथिक दवा को भी इलाज बताया गया था.

पड़ताल: इस पर्चे में वैक्सीन के बारे में लिखे दावे भ्रामक हैं, पढ़िए पूरी सच्चाई

पड़ताल: इस पर्चे में वैक्सीन के बारे में लिखे दावे भ्रामक हैं, पढ़िए पूरी सच्चाई

कोरोना को षड्यंत्र मानने और मास्क जलाने की बातें करने वालों ने ये पर्चा जारी किया है.

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस "मंदिर को दरगाह बनाने की कोशिश की?"

सोशल मीडिया पर वायरल हनुमानगढ़ के 'शिला पीर' की सच्चाई क्या है?