Submit your post

Follow Us

पड़तालः विदेशी यूनिवर्सिटी का नाम लेकर कोरोना वायरस के बारे में ये झूठ फैलाया जा रहा है

दावा

कोरोना वायरस के बारे में कई तरह की भ्रांतियां फैलाई जा रही हैं. ऐसा ही दावा जर्मनी की हैमबर्ग यूनिवर्सिटी के नाम पर किया जा रहा है.

फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सऐप समेत कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कुछ आंकड़े वायरल हो रहे हैं, जिनमें जताया जा रहा है कि 2020 के शुरुआती दो महीनों में कोरोना वायरस के मुकाब़ले साधारण जुक़ाम, मलेरिया, आत्महत्या, सड़क हादसे, HIV, शराब और धूम्रपान और कैंसर से ज़्यादा मौतें हुई हैं (आर्काइव लिंक)

इसके अलावा कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. इनमें कोरोना वायरस को अमेरिका-चाइना ट्रेड वॉर जैसी बातों से जोड़ा जा रहा है.

Source:
University of Hamburg data

The number of deaths in the world in the first two months of 2020

2360 :…

Posted by Karnataka Medical Association on Thursday, 12 March 2020

फेसबुक पर कर्नाटक मेडिकल एसोसिएशन नाम के पेज से ये जानकारी पोस्ट हुई है. इसके अलावा भी बहुतेरे यूज़र्स ने ये दावा पोस्ट किया है या फिर शेयर किया है.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ की पड़ताल में ये दावा झूठा पाया गया. हैमबर्ग यूनिवर्सिटी ने इस तरह का कोई डेटा जारी नहीं किया है. इस पोस्ट के कमेंट बॉक्स में कुछ लोगों ने ख़बर की सत्यता पर शक जताया था. खासतौर पर साधारण जुक़ाम से दो महीनों में 70 हज़ार मौतें होने के दावे पर. इस पूरे पोस्ट में कोई भी लिंक ऐसा नहीं दिया गया जिससे दावा सच साबित होता हो. सिर्फ हैमबर्ग यूनिवर्सिटी का नाम लिखा गया था.

हमने हैमबर्ग यूनिवर्सिटी से संपर्क किया. हैमबर्ग यूनिवर्सिटी के ‘कम्यूनिकेशन और पब्लिक रिलेशन विभाग‘ ने ऐसा कोई भी डेटा जारी करने से इनकार किया है. ई-मेल पर दी गई जानकारी में यूनिवर्सिटी अधिकारियों ने कहा,

‘वायरल हो रहे दावे में जो भी आंकड़े दिखाए जा रहे हैं, वो फेक है. हैमबर्ग यूनिवर्सिटी की ओर से ऐसा कोई भी आंकड़ा जारी नहीं किया गया है.’

इसके अलावा यूनिवर्सिटी ने हमें एक लिंक भी भेजा है. जिसमें यूनिवर्सिटी की ओर से उठाए जा रहे कदम बताए गए हैं.

हैमबर्ग यूनिवर्सिटी की ओर से जारी किया गया कोरोना वायरस इन्फोर्मेशन बुलेटिन.
हैमबर्ग यूनिवर्सिटी की ओर से जारी किया गया कोरोना वायरस इन्फोर्मेशन बुलेटिन.

यूनिवर्सिटी ने वायरल हो रहे दावे को झठा बताते हुए ऑफिशियल फेसबुक पेज से पोस्ट लिखा है.

नतीजा

हमारी पड़ताल में कोरोना वायरस के बारे में हैमबर्ग यूनिवर्सिटी का नाम लेकर किया जा रहा दावा झूठ निकला. हैमबर्ग यूनिवर्सिटी ने कोरोना वायरस से हो रही मौतों की तुलना साधारण जुक़ाम, मलेरिया, आत्महत्या, सड़क हादसे जैसी घटनाओं से नहीं की है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावों को हैमबर्ग यूनिवर्सिटी ने आधिकारिक तौर पर ख़ारिज किया है.

अगर आपको भी किसी ख़बर पर शक है तो हमें मेल करें- padtaalmail@gmail.com पर. हम दावे की पड़ताल करेंगे और आप तक सच पहुंचाएंगे.

पड़तालः विदेशी यूनिवर्सिटी का नाम लेकर कोरोना वायरस के बारे में ये झूठ फैलाया जा रहा है
  • दावा

    हैमबर्ग यूनिवर्सिटी को स्रोत बताकर कोरोना वायरस से हुई मौतों के आंकड़े की तुलना बाकी बीमारियों से होती मौतों से की जा रही है

  • नतीजा

    हैमबर्ग यूनिवर्सिटी ने साफ किया है कि उन्होंने कोरोनावायरस से हो रही मौतों के बारे में या फिर बाकी बीमारियों से हो रही मौतों के बारे में कोई भी डाटा जारी नहीं किया है.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaalmail@gmail.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

क्या बुनियादी सुविधाओं की जगह मंदिर मांगने वाले की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई?

क्या बुनियादी सुविधाओं की जगह मंदिर मांगने वाले की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई?

वायरल वीडियो में शख़्स ने कहा था- "सड़क नहीं चाहिए, रोटी नहीं चाहिए, मंदिर चाहिए."

पड़ताल: इसराइल-फ़लस्तीन तनाव के बीच अल-अक्सा मस्जिद पर हमले की है ये तस्वीर?

पड़ताल: इसराइल-फ़लस्तीन तनाव के बीच अल-अक्सा मस्जिद पर हमले की है ये तस्वीर?

सोशल मीडिया पर दावा, इसराइल ने इस्लाम के तीसरे सबसे पवित्र स्थल को तोड़ दिया है.

पड़ताल: नाक में नींबू का रस डालने से कोरोना वायरस ठीक नहीं होता, वायरल वीडियो भ्रामक है

पड़ताल: नाक में नींबू का रस डालने से कोरोना वायरस ठीक नहीं होता, वायरल वीडियो भ्रामक है

स्वास्थ्य मंत्रालय और AIIMS, दिल्ली के डॉक्टर ने इस बारे में जो बताया, यहां पढ़िए!

पड़ताल: फिटकरी का पानी पीने से कोरोनावायरस नहीं मरेगा, उल्टा दिक्कत हो सकती है

पड़ताल: फिटकरी का पानी पीने से कोरोनावायरस नहीं मरेगा, उल्टा दिक्कत हो सकती है

अख़बार की कटिंग वायरल कर दावा, 'बिहार के कई लोग इससे ठीक हुए.'

पड़ताल: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA-Q से ऑक्सीजन लेवल नहीं बढ़ेगा, दावा भ्रामक है

पड़ताल: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA-Q से ऑक्सीजन लेवल नहीं बढ़ेगा, दावा भ्रामक है

इससे पहले आर्सेनिक एल्बम नाम की होम्योपैथिक दवा को भी इलाज बताया गया था.

पड़ताल: इस पर्चे में वैक्सीन के बारे में लिखे दावे भ्रामक हैं, पढ़िए पूरी सच्चाई

पड़ताल: इस पर्चे में वैक्सीन के बारे में लिखे दावे भ्रामक हैं, पढ़िए पूरी सच्चाई

कोरोना को षड्यंत्र मानने और मास्क जलाने की बातें करने वालों ने ये पर्चा जारी किया है.

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस "मंदिर को दरगाह बनाने की कोशिश की?"

सोशल मीडिया पर वायरल हनुमानगढ़ के 'शिला पीर' की सच्चाई क्या है?

पड़ताल: हिंदू ने तोड़ी मंदिर की मूर्तियां, सुदर्शन टीवी और सुरेश चव्हाणके ने मुस्लिमों को निशाना बनाया

पड़ताल: हिंदू ने तोड़ी मंदिर की मूर्तियां, सुदर्शन टीवी और सुरेश चव्हाणके ने मुस्लिमों को निशाना बनाया

नवरात्रे शुरू होने से पहले द्वारका, दिल्ली के ककरौला में मूर्तियां खंडित मिली थीं.

पड़ताल: पुलिसवाले ने गुस्से में दो लोगों को सरेराह गोली मार दी? जानिए इस वीडियो का सच

पड़ताल: पुलिसवाले ने गुस्से में दो लोगों को सरेराह गोली मार दी? जानिए इस वीडियो का सच

वीडियो में गोली चालते शख़्स ने हमें खुद बताई सच्चाई.

पड़ताल: क्या किसी चीज़ को छूने पर करंट 5G रेडिएशन की वजह से लग रहा है?

पड़ताल: क्या किसी चीज़ को छूने पर करंट 5G रेडिएशन की वजह से लग रहा है?

किसी चीज़ या शख़्स को छूने पर करंट लगने के मामलों में बढ़ोतरी की बातें सोशल मीडिया यूज़र्स लिख रहे हैं.