Submit your post

Follow Us

पड़ताल: तिरुपति बालाजी मंदिर के चेयरमैन ईसाई और सिद्धि विनायक मंदिर के ट्रस्टी मुस्लिम हैं?

दावा

सोशल मीडिया पर आंध्र प्रदेश स्थित प्रसिद्ध हिंदू मंदिर तिरुपति बालाजी और मुंबई स्थित सिद्धि विनायक मंदिर से जुड़ा दावा वायरल है. दावा किया जा रहा है कि तिरुपति बालाजी मंदिर समिति के अध्यक्ष चंद्रशेखर रेड्डी ईसाई हैं और सिद्धि विनायक मंदिर के ट्रस्टी सलीम मुस्लिम हैं. इसका हवाला देते हुए किसी हिंदू को हाजी अली का ट्रस्टी बनाने की मांग भी की जा रही है.

फेसबुक पेज विराट हिंदू समागम ने वायरल मेसेज में जो भी लिखा है, हम बिना किसी भाषाई सुधार, ज्यों का त्यों लिख रहे हैं-

“तिरुपति बालाजी मंदिर समिति का अध्यक्ष चद्रशेखर रेड्डी ईसाई है. सिंद्धि विनायक मन्दिर का ट्रस्टी सलीम मुस्लिम है. क्यों ? हाजी अली में हिन्दू को ट्रैस्टी बनाओ.”

तिरुपति बालाजी मंदिर समिति का अध्यक्ष चद्रशेखर रेड्डी ईसाई है। सिंद्धि विनायक मन्दिर का ट्रस्टी सलीम मुस्लिम है। क्यों ? हाजी अली में हिन्दू को ट्रैस्टी बनाओ

Posted by Virat Hindu Samagam VHS on Wednesday, 31 March 2021

(आर्काइव)

ट्विटर यूज़र सुरेश शर्मा ने भी यही दावा ट्वीट किया है.

(आर्काइव)

इसी तरह के बाकी दावे भी आप यहां और यहां देख सकते हैं. (आर्काइव) (आर्काइव)

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल दावे की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में तिरुपति बालाजी मंदिर और सिद्धि विनायक मंदिर में किसी ईसाई या मुस्लिम ट्रस्टी के होने से जुड़ा दावा ग़लत निकला. तिरुपति मंदिर के ट्रस्ट बोर्ड के चेयरमैन वाई वी सुब्बा रेड्डी हिंदू हैं और सलीम नाम का कोई भी शख़्स सिद्धि विनायक मंदिर का ट्रस्टी नहीं है.

हमें तिरुपति बालाजी मंदिर की वेबसाइट पर तिरुमाला तिरुपति देवस्थानाम बोर्ड (TTD) ट्रस्ट के चेयरमैन के बारे में जानकारी मिली. TTD के वर्तमान चेयरमैन वाई वी सुब्बा रेड्डी हैं, न कि चंद्रशेखर रेड्डी. वाई वी सुब्बा रेड्डी को आंध्र प्रदेश सरकार ने 2019 में ट्रस्ट का चेयरमैन बनाया था. उन्होंने इस पद के लिए 22 जून 2019 को शपथ ली थी. हमें वेबसाइट पर ट्रस्ट मेंबर्स की लिस्ट में चंद्रशेखर रेड्डी का नाम कहीं नहीं मिला.

Tirupati Balaji
तिरुपति बालाजी मंदिर की वेबसाइट पर TTD बोर्ड के चेयरमैन वाई वी रेड्डी का नाम.

(आर्काइव)

इसके बाद हमने TTD के चेरमैन वाई वी सुब्बा रेड्डी से संपर्क किया. उन्होंने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया-

“मैं जन्म से हिंदू हूं और मेरी पूरी फैमिली हिंदू है. मैं हिंदू धर्म का पालन करता हूं. बोर्ड के चेरमैन के तौर पर मेरी नियुक्ति के समय भी इस तरह का झूठा प्रचार किया गया था. ये पूरी तरह से गलत प्रचार है.”

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक़, ये विवाद पहले भी हुआ था जब आंध्र प्रदेश सरकार ने वाई वी रेड्डी को तिरुमाला तिरुपति देवस्थानाम बोर्ड का चेयरमैन बनाया था. वाई वी रेड्डी आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के रिश्तेदार हैं और मुख्यमंत्री के परिवार के लोग ईसाई और हिंदू दोनों धर्मों में आस्था रखते हैं. इस विवाद पर वाई वी रेड्डी ने तब भी कहा था कि वो एक धार्मिक हिंदू हैं.

रेड्डी के हिंदू मंदिरों में पूजा-अर्चना करने के कुछ वीडियोज़ ऑनलाइन उपलब्ध हैं, जिसे यहां क्लिक करके देखा जा सकता है.

इसके बाद हमने सिद्धि विनायक मंदिर के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ की लिस्ट देखी. मंदिर की वेबसाइट पर मौजूद इस लिस्ट में किसी भी ट्रस्टी का नाम सलीम नहीं है.

Siddhi Vinayak
सिद्धि विनायक मंदिर की वेबसाइट पर बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के नाम.

(आर्काइव)

हमने पुष्टि के लिए बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के चेयरमैन आदेश भांडेकर से बात की. उन्होंने हमें बताया-

“सलीम नाम का कोई भी शख़्स सिद्धि विनायक मंदिर के बोर्ड का ट्रस्टी नहीं है. हमारे बोर्ड में कोई भी मुस्लिम सदस्य नहीं है. ये दावा पूरी तरह फ़ेक है. इससे पहले भी कोई मुस्लिम सदस्य बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज में नहीं था.”

नतीजा

हमारी पड़ताल में सोशल मीडिया पर तिरुपति बालाजी मंदिर और सिद्धि विनायक मंदिर से जुड़ा दावा ग़लत निकला. ‘दी लल्लनटॉप’ ने तिरुपति बालाजी देवस्थानम बोर्ड और सिद्धि विनायक मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्षों से बात की. तिरुमाला तिरुपति देवस्थानाम बोर्ड (TTD) के चेयरमैन वाई वी सुब्बा रेड्डी खुद को हिंदू बताते हैं और कई मंचों से ये बात कहते आए हैं. मुंबई के सिद्धि विनायक मंदिर के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज में कोई भी मुस्लिम सदस्य नहीं है.

पड़ताल अब वॉट्सऐप पर. वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


क्या किसी मेडिकल किताब में छपा है कि भारत में कोरोना फैलाने के लिए तब्लीगी जमात जिम्मेदार?

पड़ताल: तिरुपति बालाजी मंदिर के चेयरमैन ईसाई और सिद्धि विनायक मंदिर के ट्रस्टी मुस्लिम हैं?
  • दावा

    तिरुपति बालाजी मंदिर समिति के अध्यक्ष चंद्रशेखर रेड्डी ईसाई हैं और सिद्धि विनायक मंदिर के ट्रस्टी सलीम हैं.

  • नतीजा

    तिरुपति बालाजी देवस्थानम बोर्ड के चेयरमैन वी सुब्बा रेड्डी खुद को हिंदू बताते हैं. सिद्धि विनायक मंदिर के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ में कोई भी मुस्लिम नहीं है.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaalmail@gmail.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: 2025 तक भारत से अमीर हो जाएगा बांग्लादेश?

पड़ताल: 2025 तक भारत से अमीर हो जाएगा बांग्लादेश?

ये भी दावा कि भारत अब विकासशील अर्थव्यवस्था नहीं रहा.

पड़ताल: क्या पंचायत चुनाव से पहले UP में प्रधानों को गैज़टेड अफसरों जितनी सैलरी देने का ऐलान हो गया?

पड़ताल: क्या पंचायत चुनाव से पहले UP में प्रधानों को गैज़टेड अफसरों जितनी सैलरी देने का ऐलान हो गया?

सोशल मीडिया पर अख़बार की एक कटिंग शेयर कर ये दावा किया जा रहा है.

पड़ताल: बंगाल में अमित शाह और योगी आदित्यनाथ की रैली में कुर्सियां खाली रहीं?

पड़ताल: बंगाल में अमित शाह और योगी आदित्यनाथ की रैली में कुर्सियां खाली रहीं?

सोशल मीडिया पर वायरल इस तस्वीर का सच क्या है?

पड़ताल: मेडिकल की किताब ने भारत में कोरोना के लिए तबलीगी जमात को जिम्मेदार बताया?

पड़ताल: मेडिकल की किताब ने भारत में कोरोना के लिए तबलीगी जमात को जिम्मेदार बताया?

किताब की तस्वीर शेयर कर सोशल मीडिया पर किया जा रहा है दावा.

पड़ताल: इंजीनियर बनने के लिए अब वेद और पुराण पढ़ना होगा?

पड़ताल: इंजीनियर बनने के लिए अब वेद और पुराण पढ़ना होगा?

सोशल मीडिया पर वायरल दावे का सच क्या है?

पड़ताल: किसान नेता राकेश टिकैत के साथ ओडिशा में मारपीट हुई?

पड़ताल: किसान नेता राकेश टिकैत के साथ ओडिशा में मारपीट हुई?

ओडिशा में राकेश टिकैत के महापंचायत के बाद सोशल मीडिया पर वायरल है मेसेज.

पड़ताल: देश में हर मंगलवार को सभी मीट की दुकानें बंद रहेंगी?

पड़ताल: देश में हर मंगलवार को सभी मीट की दुकानें बंद रहेंगी?

सोशल मीडिया पर वायरल मेसेज का सच क्या है?

पड़ताल:  बंगाल में लव ज़िहाद के मामले में मां-बेटी की हत्या का सच क्या है?

पड़ताल: बंगाल में लव ज़िहाद के मामले में मां-बेटी की हत्या का सच क्या है?

मां-बेटी की हत्या का मामला सोशल मीडिया पर वायरल है.

पड़ताल: उत्तराखंड CM के फटी जींस वाले बयान पर लोग एक्ट्रेस चित्रांशी को क्यों घसीट रहे?

पड़ताल: उत्तराखंड CM के फटी जींस वाले बयान पर लोग एक्ट्रेस चित्रांशी को क्यों घसीट रहे?

चक दे इंडिया फेम चित्रांशी रावत से जुड़े इस वायरल दावे का सच क्या है?

पड़ताल: क्या केंद्रीय मंत्री आठवले ने कहा, मुझे मुफ़्त में पेट्रोल मिलता है?

पड़ताल: क्या केंद्रीय मंत्री आठवले ने कहा, मुझे मुफ़्त में पेट्रोल मिलता है?

सोशल मीडिया पर वायरल इस बयान की सच्चाई क्या है?