Submit your post

Follow Us

UP में 10 साल तक चले अरबों के स्कॉलरशिप घोटाले में उन्नाव के दर्जनों अफ़सरों पर केस दर्ज

5
शेयर्स

उन्नाव की 10 तहसीलों में हुए छात्रवृत्ति घोटाले में आर्थिक अपराध अनुसंधान (EOW) ने 10 अलग-अलग मुकदमे दर्ज कर लिये हैं. ये घोटाला 2001 से 2010 के बीच हुआ था. EOW ने 22 लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया है. इनमें तत्कालीन 10 जिला समाज कल्याण अधिकारी, 2 पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी और इन दोनों विभागों के बाबु आदि शामिल हैं.

बताया जा रहा है इस छात्रवृत्ति घोटाले में जिले की 10 तहसीलों  में अरबों रुपयों की हेराफेरी की गई.

# क्या है मामला

आर्थिक अपराध अनुसंधान (EOW) की जांच में पाया गया कि फर्जी लोगों को छात्रवृत्ति दे दी गई थी. जांच में पाया गया कि प्रधानाचार्य, ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव और अफसरों ने इस घोटाले को अंजाम दिया. उन्होंने मिलकर छात्रवृत्ति के पैसों की हेराफेरी की. इससे पहले 2012 में भी छात्रवृत्ति घोटाले में 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

दरअसल, उत्तर प्रदेश में 2001 से 2010 के बीच कई जिलों में स्कॉलरशिप घोटाला हुआ. सिर्फ मेरठ और इटावा में ही 15 करोड़ रुपयों से ज्यादा की हेराफेरी का मामला सामने आया था. छात्रवृत्ति घोटाला में करीब तीन साल पहले ही सरकार ने ईओडब्ल्यू को जांच सौंपी थी.

इसके अलावा 243 स्कूलों के तत्कालीन प्रधानाचार्य और सहखाताधारकों को भी आरोपी बनाया गया है. इन सभी पर मिलीभगत कर छात्रवृत्ति और किताबों के पैसों में हेराफेरी का आरोप है.


ये भी देखें:

फ्रांस ने डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह को सौंपा पहला रफाल एयरक्राफ्ट, पूजा भी की

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राफेल बनाने वालों ने राजनाथ सिंह से ऐसी बात कह दी कि निर्मला सीतारमण का दिल बैठ जाए

टैक्स को लेकर क्या कह दिया?

हिंदू राष्ट्र की बात करते-करते पाकिस्तान की बात क्यों करने लगे संघ प्रमुख भागवत?

मोहन भागवत ने और भी बहुत कुछ कहा है, जो संघ के पुराने विचारों से मेल नहीं खाता.

'राम-राम' नहीं कहा तो अलवर में पति को पीटा, पत्नी के कपड़े उतारने की कोशिश की

पति-पत्नी मुसलमान थे.

भिखारिन के अकाउंट से इतने पैसे मिले कि बैंक भी सकते में है

यहां लाखों नहीं, करोड़ों की बात हो रही है.

क्या है गौतम नवलखा केस, जिसे सुनने से अबतक CJI समेत सुप्रीम कोर्ट के 5 जज इनकार कर चुके हैं

किसी भी जज ने कोई कारण नहीं बताया है, पूर्व जज ने कहा था, कारण बताने से पारदर्शिता बढ़ती है.

टीवी पर शुरू हो रहा है 'दी लल्लनटॉप क्विज' सौरभ द्विवेदी के साथ, पूरी जानकारी पाइए

टीवी के इतिहास का सबसे मस्त क्विज, शनिवार 5 अक्टूबर से.

चिन्मयानंद को बचाने के लिए वकील ने कोर्ट में गजब का तर्क दिया है

और ऐसी बात जिसका केस से कोई संबंध नहीं.

योगी का नया ऐप ये काम कर देगा, किसी ने सोचा भी नहीं था

ये क्या बवाल मोल ले लिया योगी जी ने.

चिन्मयानंद और कुलदीप सेंगर के फोन में ऐसा क्या ख़ास है कि पुलिस उलझ गयी है

माथापच्ची हो रही, लेकिन उनका फोन नहीं खुल पा रहा.

13 साल की लड़की 'भाई, भाई' कहते गिड़गिड़ाती रही, लड़के रेप करते रहे, वीडियो बनाते रहे

एक ऐसा बर्बर वीडियो वायरल किया गया, जिसे देखा नहीं जा सकता.