Submit your post

Follow Us

यूपी: कोर्ट परिसर में घुसकर वकील की हत्या, साथी वकीलों ने किसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की?

पिछले महीने दिल्ली की रोहिणी कोर्ट के अंदर हुई गोलीबारी की घटना तो याद होगी. ऐसी ही घटना उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में हुई है. इसमें एक 60 साल के वकील की मौत हो गई है. आजतक से जुड़े विनय पांडे की रिपोर्ट के मुताबिक, शाहजहांपुर के थाना सदर बाजार क्षेत्र स्थित अदालत के परिसर में हमलावरों ने वकील भूपेंद्र सिंह को गोली मार दी, जिनकी मौके पर ही मौत हो गई. वारदात के बाद हमलावर फरार हो गए.

हमले के वक्त अदालत में रोजमर्रा का काम-काज चल रहा था. यहां ग्राउंड फ्लोर और फर्स्ट फ्लोर पर अपर जिला जज की अदालतें हैं. दूसरी मंजिल पर कोर्ट का रिकॉर्ड रूम है. रिपोर्ट के मुताबिक, घटना के समय मृतक वकील यहीं मौजूद थे. हमलावर सीधे रिकॉर्ड रूम पहुंचे और भूपेंद्र सिंह को गोली मार दी. गोली की आवाज सुन पूरे कोर्ट परिसर में जबर्दस्त अफरा-तफरी मच गई. ये अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि मृतक भूपेंद्र सिंह पर ये जानलेवा हमला क्यों हुआ.

घटना के बाद डीएम सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल रिकॉर्ड रूम पहुंचा. डॉग स्क्वायड और फिंगर प्रिंट लेने वाली टीम को भी बुलाया गया. वहां शव के पास से एक तमंचा भी बरामद हुआ है. पुलिस ने उसे कब्जे में ले लिया है.

कड़ी सुरक्षा के बावजूद हुआ हमला

इस घटना से दूसरे वकीलों और न्यायाधीशों की सुरक्षा पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. रिपोर्टर विनय पांडे की रिपोर्ट के मुताबिक कोर्ट परिसर के अंदर जाने के लिए सभी लोगों को गेटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था से गुजरना होता है. इसके बावजूद हथियारबंद हमलावर कैसे अंदर पहुंच गए, ये एक एक बड़ा सवाल है.

मृतक वकील भूपेंद्र सिंह जलालाबाद जिले के रहने वाले बताए गए हैं. उनकी हत्या के बाद साथी वकीलों में डर के साथ काफी गुस्सा भी है. उनका कहना है कि गेट पर लगे सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होना चाहिए.

बार एंड बेंच की रिपोर्ट के मुताबिक एक स्थानीय वकील ने कहा,

“ये एक भयानक घटना है. (भूपेंद्र) सिंह को कोर्ट परिसर के अंदर गोली मारी गई है. वे तब किसी से बात कर रहे थे.”

पुलिस क्या कह रही?

पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने कहा है कि घटना से जुड़े हर बिंदू को इन्वेस्टिगेट किया जा रहा है. वहीं, शाहजहांपुर के पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने बताया,

“दूसरे फ्लोर पर एसीजीएम फर्स्ट का कार्यालय है. वहां एक बाबू (यानी वकील) खड़े थे. गोलीबारी के बाद वे गिर पड़े. उन्हीं के पास एक कट्टा मिला है. अभी तक मिली जानकारी से पता चला है कि पीड़ित अकेले खड़े थे. फोरेंसिक टीम सबूत इकट्ठा कर रही है. अभी पोस्टमार्टम किया जाएगा.”

एस आनंद ने किसी सुरेश कुमार गुप्ता नाम के व्यक्ति का जिक्र किया है. उनके मुताबिक, सुरेश कुमार गुप्ता 2019-20 में ही वकील बने हैं. पहले वो कोचिंग का काम करते थे. एस आनंद ने बताया कि मकान की किरायेदारी को लेकर सुरेश गुप्ता और मृतक वकील के कुछ केस चल रहे थे. उसी सिलसिले में सुरेश, भूपेंद्र से मिलने आए थे.

दिल्ली में भी हुई थी ऐसी घटना

ये हमला हाल में दिल्ली के कोर्ट में हुए शूटआउट से मिलता-जुलता है. उसमें वकील के भेस में आए हमलावरों ने अदालती कार्यवाही के बीच एक कुख्यात गैंग्स्टर की गोली मारकर हत्या कर दी थी. जबकि इस घटना में वकील की मौत हुई है. एक अंतर ये भी है कि रोहिणी कोर्ट में गोलीबारी करने वाले शूटरों को पुलिस ने ढेर कर दिया था. जबकि शाहजहांपुर की घटना में हमलावर गोलीबारी करके फरार हो गए.

बहरहाल, यूपी में किसी वकील की हत्या का ये पहला मामला नहीं है. बार एंड बेंच के मुताबिक 2019 में यहां की आगरा बार काउंसिल की महिला प्रेसिडेंट दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. दरवेश यादव आगरा बार काउंसिल की पहली महिला प्रेसिडेंट थीं. हमलावरों ने आगरा कोर्ट में उनके चैंबर में घुसकर उन्हें गोलियां मारी थीं. 2019 में ही हथियारबंद हमलावरों ने नूतन यादव नाम की वकील की हत्या की थी. वो उत्तर प्रदेश सरकार की वकील थीं. हमलावरों ने उनके एटा स्थित ऑफिस में घुसकर उन्हें गोलियां मारी थीं.


वीडियो- UP चुनाव: पति मैकेनिक, पत्नी प्रधान, मगर नेतागीरी में आड़े आ रहीं गांव की दूसरी महिलाएं, कैसे? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?