Submit your post

Follow Us

10 हज़ार वाली टैक्सी सर्विस पर बवाल मचा, तो UP सरकार ने कमिटी बिठाई

दिल्ली का इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट. गुरुग्राम, नोएडा, गाज़ियाबाद, फरीदाबाद, दिल्ली यानी NCR के लोग फ्लाइट पकड़ने के लिए यहीं जाते हैं. ज़ाहिर है कि दूसरे शहरों या देशों से आने वाले NCR के लोग भी इसी एयरपोर्ट पर उतरते हैं. कोरोना वायरस के चलते कई प्रवासी भारतीय विदेशों से भारत लाए गए हैं. लॉकडाउन है, ऐसे में एयरपोर्ट से अपने घर जाने के लिए उन्हें कैब नहीं मिल रही. ऐसे में यूपी सरकार सामने आई. कहा कि नोएडा-गाज़ियाबाद से बिलॉन्ग करने वाले प्रवासी भारतीयों को हम कैब सर्विस देंगे. इससे पहले कि जनता की आंखों में खुशी के आंसू आते, यूपी सरकार ने कैब का किराया बता दिया. हिन्दुस्तान टाइम्स ने बताया कि एयरपोर्ट से 250 किलोमीटर के दायरे में कहीं भी जाना हो, तो कम से कम 10 हजार रुपये देने होंगे.

फिर सफाई आ गई

‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ की इस रिपोर्ट के बाद UPSRTC के मैनेजिंग डायरेक्टर राज शेखर ने एक वीडियो जारी कर कहा कि सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें आ रही हैं कि दिल्ली एयरपोर्ट से नोएडा और गाजियाबाद के लिए टैक्सी सर्विस के लिए 10-12 हज़ार रुपये देने पड़ रहे हैं. अभी तक उत्तर प्रदेश सरकार ने जिन यात्रियों को इस तरह की सुविधाएं दी हैं, वह निशुल्क हैं. कहीं पर किसी से कोई चार्ज नहीं किया गया है. टैक्सी के रेट को लेकर जो मसले थे, उसको लेकर परिवहन निगम ने तीन सदस्यों वाली एक कमिटी बनाई है, जिसमें CJMO, CJMT, RTO हैं. वो इस मामले पर 24 घंटे में फैसला लेंगे. इसके बाद उचित कारवाई की जाएगी.

पहले खबर क्या आई थी?

सिडैन कार के लिए 10 हजार और SUV के लिए 12 हजार रुपये का किराया लगेगा. और अगर घर 250 किलोमीटर से ज्यादा दूर है, तो उसके लिए एक्स्ट्रा पैसे देने होंगे. सिडैन में 40 रुपया प्रति किलोमीटर और SUV में 50 रुपये प्रति किलोमीटर. गाड़ी में ड्राइवर के अलावा सिर्फ दो लोग बैठ सकेंगे.

बस का किराया भी यूपी सरकार ने बताया था. नॉन एसी बस में 100 किलोमीटर तक के दायरे के लिए एक सीट के हज़ार रुपये और एसी बस में एक सीट के लिए 1320 रुपये खर्च करने पड़ेंगे. वहीं 101 से 200 किलोमीटर के सफर के लिए ये किराया दोगुना हो जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए एक बस में अधिकतम 26 लोग बैठ सकेंगे.

‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट मुताबिक़, UPSRTC के मैनेजिंग डायरेक्टर राज शेखर ने 9 मई को नोएडा और गाजियाबाद के क्षेत्रीय प्रबंधकों को चिट्ठी लिखकर बताया था कि वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों से वापस आए भारतीयों को दिल्ली हवाई अड्डे से नोएडा, गाजियाबाद और आसपास के क्षेत्रों में बस और टैक्सी सर्विस दी जाएगी. चिट्ठी में बताया गया है कि स्वास्थ्य प्रोटोकॉल की मंजूरी के बाद ही लोग इस सेवा का इस्तेमाल कर सकेंगे.

UPSRTC गाजियाबाद के क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह ने महंगे किराये को लेकर कहा था कि ये हेडक्वार्टर द्वारा तय किया गया है.

मामले को लेकर नोएडा रेसिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी केके जैन ने कहा है कि लॉकडाउन से पहले हम 800 रुपये में कैब से दिल्ली एयरपोर्ट से नोएडा आते थे. 10 हज़ार रुपये बहुत ज्यादा हैं. सरकार को इस मामले को लेकर दोबारा विचार करना चाहिए. लोगों की मदद करनी चाहिए, क्योंकि कोरोना वायरस और लॉकडाउन को लेकर लोग पहले ही बहुत परेशान हैं.


इस खबर को UPSRTC के मैनेजिंग डायरेक्टर राज शेखर के बयान आने के बाद अपडेट किया गया है.


विडियो- पीएम के 20 लाख करोड़ के पैकेज में से कैसा ट्विस्ट निकल आया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?