Submit your post

Follow Us

बीजेपी विधायक के नाम से वायरल लेटर में राजपूत नेताओं के बारे में क्या है कि बवाल कट गया है?

उत्तर प्रदेश. सुल्तानपुर की लंभुआ सीट से बीजेपी विधायक देवमणि द्विवेदी. कथित तौर पर उनका एक पत्र वायरल हुआ. यह पत्र उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव को संबोधित करते हुए लिखा गया. इसमें राजपूत नेताओं पर चल रहे मामलों पर पिछले तीन साल में हुई कार्रवाई और वर्तमान हालात की जानकारी देने की मांग की गई है. हालांकि देवमणि द्विवेदी ने पत्र को फर्जी बताया है. उनका कहना है कि यह पत्र पूरी तरह से झूठा है. उन्होंने इसको लेकर पुलिस में मामला भी दर्ज कराया है.

क्या लिखा है पत्र में

वायरल हुआ पत्र विधायक के लेटरहेड पर अपर मुख्य सचिव गृह को संबोधित करते हुए लिखा गया है. पत्र में लिखा है,

निम्नलिखित व्यक्तियों के विरूद्ध दर्ज मुकदमों में विगत तीन सालों में कृत कार्यवाही तथा वर्तमान स्थिति से अवगत कराने का कष्ट करें.

इसके बाद डॉ. उदयभान सिंह, अशोक चंदेल, अभय सिंह, विनीत सिंह, बृजभूषण सिंह, चुलबूल सिंह, सोनू सिंह, मोनू सिंह, अजय सिंह सिपाही, पिंटू सिंह, सनी सिंह, संग्राम सिंह, चुन्नू सिंह और बादशाह सिंह जैसे नेताओं के नाम लिखे हैं. नाम के आगे उन पर दर्ज मामलों की संख्या भी लिखी गई है. पत्र पर 20 अगस्त की तारीख लिखी है. साथ ही नीचे देवमणि नाम लिखा है.

विधायक ने पत्र को बताया फर्जी

देवमणि द्विवेदी ने इस पत्र को सिरे से खारिज किया है. उन्होंने कहा कि उनके पास भी यह पत्र आया है. वे पत्र की छानबीन करा रहे हैं. उनकी छवि को धूमिल किया जा रहा है. उन्होंने कहा,

हम लोगों ने पत्र देख लिया है. वॉट्सऐप पर हमारे पास भी यह घूमते-घामते आया है. पता नहीं कौन फालतू आदमी है. पत्र में हिंदी में सिग्नेचर है, मैं हिंदी में करता नहीं.

विधायक ने ट्वीट कर भी पत्र को झूठा बताया. साथ ही अपने समर्थकों से कहा कि वह किसी बहकावे में नहीं आएं. पत्र को लेकर लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज की गई है.

पहले ब्राह्मणों को लेकर अपनी ही सरकार को घेर चुके हैं

इससे पहले देवमणि द्विवेदी ने ब्राह्मणों को लेकर बीजेपी और योगी आदित्यनाथ सरकार को घेरने की कोशिश की थी. उन्होंने 16 अगस्त को पिछले तीन सालों में मारे गए ब्राह्मणों की संख्या को लेकर सवाल किया. उन्होंने पूछा था,

वर्तमान भाजपा सरकार के तीन साल से अधिक के कार्यकाल में कितने ब्राह्मणों की हत्या हुई, कितने हत्यारे पकड़े गए? कितने हत्यारों को पुलिस सजा दिलवाने में कामयाब हुई? ब्राह्मणों की सुरक्षा को लेकर सरकार की रणनीति क्या है? क्या ऐसे में सरकार ब्राह्मणों को शस्त्र लाइसेंस देने में प्राथमिकता देगी? कितने ब्राह्मणों ने शस्त्र लाइसेंस के लिए अप्लाई किया और कितनों को लाइसेंस जारी हुआ?

विधायक हाल ही में तब खबरों में आए थे, जब वह भाजपा विधायक राजकुमार सहयोगी के समर्थन में अलीगढ़ गए थे. राजकुमार सहयोगी ने पुलिसवालों पर पिटाई का आरोप लगाया था. इस मामले में देवमणि द्विवेदी ने अलीगढ़ विधायक का समर्थन किया था.


Video: नेता नगरी: राजस्थान में ‘सियासी संकट’ तो खत्म हो गया, पर क्या कड़वाहट मिटेगी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे

पिछले कुछ समय से अमेरिका में रह रहे थे.

प. बंगाल: विश्व भारती यूनिवर्सिटी में जबरदस्त हंगामा, उपद्रवियों ने ऐतिहासिक ढांचे भी ढहाए

एक फेमस मेले ग्राउंड के चारों तरफ दीवार खड़ी की जा रही थी.

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.

धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा

इंस्टाग्राम पोस्ट के ज़रिए रिटायरमेंट की बात बताई.

धोनी क्रिकेट से रिटायर, फैंस ने बताया, एक जनरेशन में एक बार आने वाला खिलाड़ी

एक इंस्टाग्राम पोस्ट करके विदा ले ली धोनी ने.