Submit your post

Follow Us

सुनील गावस्कर ने बताया, किसकी वजह से सफल कप्तान बने एमएस धोनी!

लिजेंड सुनील गावस्कर ने एमएस धोनी के सफल कप्तान बनने पर बात की है. हाल में ही धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कहा है. जिसपर गावस्कर ने कहा है कि धोनी एक सफल कप्तान, विकेटकीपर बल्लेबाज़ थे. लेकिन कप्तानी में सफलता का कुछ श्रेय उन्हें मिली टीम को भी देना चाहिए. गावस्कर की नज़र में धोनी, एक बेहतरीन टीम की वजह से सफल बन पाए.

इंडिया टुडे के शो इंस्पिरेशन में सुनील गावस्कर ने कहा,

”वो(धोनी) बेहतरीन हैं और सबसे आगे हैं. लेकिन कोई भी कप्तान कोई भी कोच तभी शानदार होता है, जब उसकी टीम बढ़िया होती है. अगर आपकी टीम अच्छी नहीं है तो फिर कोई भी कप्तान या कोच कुछ नहीं कर सकता. इसलिए आपकी टीम का अच्छा होना, टीम का बैलेंस होना बहुत ज़रूरी है. पिछले कुछ सालों में जिस तरह से इंडियन टीम बेहतर हुई है. तो मैं ये कह सकता हूं कि टीम की कप्तानी करना भी आसान हो गया है.”

गावस्कर ने इसी बातचीत में आगे कहा,

”क्योंकि कप्तान के पास बहुत से ऑप्शन मौजूद हैं, पहले कप्तानों के पास इतने सारे ऑप्शन्स नहीं होते थे. लेकिन जिस तरह से शांत और कूल रहते हुए एमएस धोनी ने मैदान पर कप्तानी की. जो कि मैदान पर एक ज़रूरी चीज़ भी है. क्योंकि एक हाई प्रेशर गेम में, एक टी20 गेम में आपको खुद को कूल रखना बहुत ज़रूरी है और महेन्द्र सिंह धोनी ने ऐसा हर बार किया.”

धोनी की कप्तानी तारीफ करते हुए आगे कहा,

”ये सब सिर्फ एक फिनिशर के तौर पर ही नहीं है. जब आपको एक ओवर में 18-20 रन बनाने होते हैं. ये उनकी लिए कोई बड़ी बात नहीं है. क्योंकि वो कूल हैं. लेकिन आमतौर पर उनका जो आचरण है. वो उनके लिए सम्मान प्रकट करवाता है. साथ ही टीम से मिलने वाली रिस्पेक्ट से जो रिस्पॉन्स आता है वो काम करता है. ऐसे में वो टीम से जो मांगते थे वो टीम उन्हें देती थी. इस वजह से ही वो इस (कप्तानी) लिस्ट में टॉप पर हैं.”


धोनी के संन्यास के बाद सुनील गावस्कर ने उनकी कप्तानी पर बताई दिल की बात

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी