Submit your post

Follow Us

रोहित शर्मा को रोल मॉडल मानने वाले इस पाकिस्तानी ने डेब्यू में ही 'हिटमैन' जैसा काम किया

हैदर अली. पाकिस्तान के 19 साल के युवा बल्लेबाज. 1 सितंबर को इंग्लैंड के खिलाफ टी20 मुकाबले में उन्होंने कमाल कर दिया. हैदर अली का यह पहला अंतरराष्ट्रीय टी20 मुकाबला था. और पहले ही मैच में उन्होंने फिफ्टी मार दी. इसके साथ ही वे पहले पाकिस्तानी बल्लेबाज बन गए, जिन्होंने अपने डेब्यू टी20 मैच में अर्धशतक लगाया. उन्होंने 33 गेंद में पांच चौकों और दो छ्क्कों की मदद से 51 रन की पारी खेली.

हैदर भारत के तूफानी बल्लेबाज रोहित शर्मा को अपना आदर्श मानते हैं. और देखिए कितने गजब की बात है कि रोहित ने भी अपने पहले इंटरनेशनल टी20 डेब्यू मैच में अर्धशतक लगाया था. इस तरह रोहित और हैदर, दोनों बराबर हो गए.

दूसरी ही गेंद पर लगाया सिक्सर

हैदर तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे. उन्होंने मोहम्मद हफीज के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 रन की साझेदारी की. इस पार्टनरशिप के चलते पाकिस्तान ने 190 रन का स्कोर खड़ा किया. फिर इंग्लैंड को 185 रन पर रोककर मैच पांच रन से अपने नाम लिख लिया. मैच में हैदर अली ने जिस तरह की बल्लेबाजी की, उससे कभी नहीं लगा कि यह खिलाड़ी पहली बार इंटरनेशनल मैच खेल रहा था. उन्होंने क्या पेसर और क्या स्पिनर, सबकी गेंदों को जमकर धोया. उन्होंने अपनी दूसरी ही गेंद पर मिडविकेट के ऊपर से छक्का लगाया.

पाकिस्तान सुपर लीग में किया था इंप्रेस

हैदर ने सितंबर 2019 में 18 साल की उम्र में फर्स्ट क्लास में डेब्यू कर लिया था. बाद में पाकिस्तानी क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट कायद-ए-आजम ट्रॉफी के फाइनल में शतक उड़ाया था. साल 2020 की शुरुआत में अंडर-19 वर्ल्ड कप में भी खेले थे. हालांकि इसमें वे और उनकी टीम, दोनों ही कुछ खास नहीं कर पाए. लेकिन पाकिस्तान सुपर लीग 2020 में हैदर सितारों के बीच भी बढ़िया से चमके थे. इसमें पेशावर जाल्मी के लिए खेलते हुए 239 रन बनाए. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 158.27 रहा. इस टूर्नामेंट में हैदर ने 14 छक्के लगाए, जो कि उनकी टीम की तरफ से सबसे ज्यादा थे.

यूनिस खान और माइकल वॉन से मिली तारीफ

हैदर पंजाब सूबे के अटॉक शहर के रहने वाले हैं. उन्होंने टेप बॉल क्रिकेट से खेल शुरू किया था. बाद में तेजी से उन्होंने अंडर-15 और अंडर-16 टीमों में जगह बनाई. इन टीमों में बेहतरीन खेल की मदद से पाकिस्तान अंडर-19 टीम में जगह बना ली थी. अपने समय के धाकड़ बल्लेबाज और अब पाकिस्तान के बैटिंग कोच यूनिस खान भी हैदर के मुरीद हैं. उन्होंने क्रिकेट पाकिस्तान को बताया कि हैदर में ऐसी इच्छाशक्ति और स्किल है, जो उसे एक बेहतरीन खिलाड़ी बना सकती है. आने वाले समय में वह पाकिस्तान का स्टार होगा. उसका भविष्य काफी उज्ज्वल है. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने भी हैदर को फ्यूचर स्टार है.

टेप बॉल क्रिकेट क्या होता है

इस तरह का क्रिकेट पाकिस्तान और अफगानिस्तान में खासा लोकप्रिय है. दरअसल लेदर की गेंद काफी महंगी आती है. ऐसे बच्चे इतने पैसे कहां से लाएं, तो वे टेनिस बॉल को टेप बॉल बना लेते हैं. टेनिस बॉल पर इलेक्ट्रिक यूज वाली टेप लगा ली जाती है. जिससे गेंद थोड़ी भारी हो जाती है. साथ ही गेंद कुछ-कुछ लेदर बॉल की तरह बिहैव भी करती है. जैसे- गेंद को सीम मिलती है. खेल के साथ टेप के कटने पर गेंदबाजों को स्विंग भी मिलने लगती है. माना जाता है कि पाकिस्तान में एक से बढ़कर एक स्विंग बॉलर निकलने की टेप बॉल भी एक बड़ी वजह होती है.


Video: ENG vs PAK: मोहम्मद हफीज़ की पारी पर भारी पड़े इयान मोर्गन!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पबजी बैन, सोशल मीडिया ने कहा- ‘उनका’ वीडियो डिसलाइक करने का नतीजा है

118 ऐप्स बैन कर दिए गए हैं.

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए पॉज़िटिव न्यूज़ आई है

बड़े दिनों के बाद.

सेरो सर्वे की मानें, तो ठीक होने के बाद दोबारा हो सकता है कोरोना!

208 में से 97 लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी.

अवमानना वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को क्या सज़ा दी है?

प्रशांत भूषण के दो ट्वीट का मुद्दा था.

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.