Submit your post

Follow Us

टोक्यो पैरालंपिक्स की मेंस हाई जंप में मरियप्पन और शरद ने कमाल कर दिया

मरियप्पन थंगावेलु. भारत का गोल्डन ब्वॉय. रियो पैरालंपिक्स के गोल्ड मेडलिस्ट मरियप्पन ने टोक्यो में भी मेडल जीत लिया है. टोक्यो पैरालंपिक्स में मरियप्पन ने मेंस हाई जंप की T42 कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीता है. साथ ही इसी इवेंट में भारत के शरद कुमार ने ब्रॉन्ज़ मेडल अपने नाम किया.

शरद ने फाइनल में 1.83 मीटर की जंप लगाकर ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. जबकि मरियप्पन ने 1.86 मीटर की जंप के साथ सिल्वर. और इन मेडल्स के साथ टोक्यो 2020 पैरालंपिक्स में भारत के मेडल्स की संख्या आठ से बढ़कर 10 हो गयी है. जिसमें दो गोल्ड, पांच सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज़ शामिल हैं.

बता दें कि मरियप्पन थंगावेलु टोक्यो पैरालंपिक्स में भारत की सबसे बड़ी उम्मीदों में से एक थे. और वह इन उम्मीदों पर खरे भी उतरे. हालांकि, मरियप्पन के चेहरे पर दोबारा गोल्ड न जीत पाने की निराशा साफ दिख रही थी. 1.88 मीटर की जंप के लिए उनकी टक्कर अमेरिका के ग्रीवे से थी. दोनों खिलाड़ियों को तीन प्रयास करने थे. लेकिन मरियप्पन तीनों ही प्रयास में 1.88 मीटर को पार करने में नाकाम रहे.

#वरूण, शरद और मरियप्पन का ऐसा रहा प्रदर्शन

आपको जानकर हैरानी होगी कि मेंस हाई जंप के T42 फाइनल में 10 में से तीन प्रतिभागी भारत के थे. मरियप्पन थंगावेलु, शरद कुमार और वरूण सिंह भाटी. 1.73 मीटर की ऊंची कूद पार करने के बाद अगला पड़ाव 1.77 मीटर का था. मरियप्पन थंगावेलु, शरद कुमार और वरूण सिंह भाटी ने पहले ही प्रयास में इसे पार कर लिया. कोई दिक्कत नहीं हुई. लगने लगा कि तीनों ही खिलाड़ी पोडियम फिनिश करेंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. 1.80 मीटर की ऊंची कूद में वरूण सिंह भाटी नाकाम रहे. उनकी तीनों कोशिशें नाकाम रही. और इस तरह रियो पैरालंपिक्स के ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट भाटी को खाली हाथ ही बाहर होना पड़ा.

#शरद कुमार को मिला ब्रॉन्ज

अब सिर्फ फाइनल इवेंट में 5 ही खिलाड़ी बचे थे. बाकी एथलीट्स भी 1.80 मीटर मार्क से पार पाने में नाकाम रहे. यानि अब पांच खिलाड़ी मेडल की रेस में थे और अगला पड़ाव 1.83 मीटर का. हालांकि, मरियप्पन थंगावेलु और शरद कुमार को ज्यादा मशक्क़त नहीं करनी पड़ी. पहले ही प्रयास में दोनों कामयाब हुए. उधर, अमेरिका के सैम ग्रीवे ने भी पहली ही कोशिश में 1.83 मीटर की कूद लगाई. फ्रांस और पोलैंड के खिलाड़ी इससे पार पाने में नाकाम रहे. और इस तरह मरियप्पन और शरद कुमार का मेडल तो पक्का हो गया. लेकिन शरद 1.86 मीटर की ऊंची कूद के तीनों ही प्रयास में विफल रहे. और ब्रॉन्ज से संतोष करना पड़ा. जबकि मरियप्पन ने तीसरे प्रयास में 1.86 मीटर को पार किया.

आखिर में बचे थे सैम ग्रीवे और रियो पैरालंपिक्स के गोल्ड मेडलिस्ट मरियप्पन थंगावेलु. जैसा कि आपको हमने पहले ही बताया मरियप्पन तीनों ही प्रयास में 1.88 मीटर को पार करने में नाकाम रहे. और सैम ग्रीवे ने अपनी आखिरी कोशिश में बाजी मार ली. इस तरह मरियप्पन को सिल्वर से संतोष करना पड़ा.

 


तीसरा पैरालंपिक पदक जीतने वाले देवेंद्र झाझरिया ने सफलता का राज बताया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?