Submit your post

Follow Us

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

जम्मू-कश्मीर का बडगाम ज़िला. यहां से श्रीनगर को गुलमर्ग से जोड़ने वाली सड़क गुज़रती है. इस सड़क पर कल CRPF के जवान ने चेकपोस्ट पर एक सिविलियन यानी आम नागरिक को गोली मार दी. सिविलियन – 23 वर्षीय मेहराजुद्दीन शाह. 

CRPF का कहना है कि मेहराजुद्दीन को तब गोली मारी गयी, जब उसने एक के बाद एक चेकप्वाइंट तोड़कर गाड़ी भगाई. और चेतावनी के बाद भी गाड़ी नहीं रोकी. 

लेकिन CRPF के दावे पर सवाल उठ रहे हैं. मेहराजुद्दीन के चाचा और जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी ग़ुलाम हसन शाह ने कहा है कि CRPF ने चलती गाड़ी पर नहीं, बल्कि रुकी हुई गाड़ी पर फ़ायरिंग की. जिसके बाद मेहराजुद्दीन की मौत हुई. ग़ुलाम हसन शाह ख़ुद घटना के समय मेहराजुद्दीन के साथ कार में मौजूद थे.

सुरक्षा बलों के मुताबिक, क्या है घटना?

घटना 13 मई को कावोसा के चेकप्वाइंट पर सुबह 10.20 बजे हुई. 

CRPF ने अपने बयान में बताया,

“13 मई को दोपहर में जिस समय ये घटना घटी, उस समय आर्मी का एक जत्था बग़ल की सड़क से रवाना हो रहा था. एक सिविल कार ग़लत दिशा से चेकप्वाइंट की तरफ़ बढ़ रही थी. CRPF के जवान ने वॉर्निंग देने के लिए फ़ायरिंग की. कार फिर भी नहीं रुकी. जवान ने इसके बाद कार पर फ़ायर किया. कार के ड्राइवर को बाएं कंधे पर गोली लगी.”

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने भी इस घटना पर बयान जारी किया. पुलिस ने बताया कि कार इस चेकप्वाइंट पर पहुँचने के पहले दो चेकप्वाइंट पर बिना रुके आगे बढ़ गयी थी. 

घटना के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने FIR दर्ज की है, और मामले की जांच शुरू कर दी है. 

घटना पर सवाल क्यों उठाए जा रहे हैं?

मेहराजुद्दीन के चाचा जम्मू-कश्मीर पुलिस में असिस्टेंट सब-इन्स्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं. जिस समय मेहराजुद्दीन को गोली मारी गयी, उस समय वो उसके साथ कार में मौजूद थे. उन्होंने बयान दिया है कि उन्होंने किसी भी मौक़े पर कोई भी चेकप्वाइंट नहीं तोड़ा. और जब मेहराजुद्दीन को गोली मारी गयी, उस समय उनकी कार रुकी हुई थी. और गोली मारने के पहले कोई भी वार्निंग नहीं दी गयी थी. 

उन्होंने कहा है कि वे श्रीनगर के पुलिस कंट्रोल रूम में काम करते हैं. घटना के दिन उन्हें दफ़्तर पहुंचने में देर हो गयी थी. उन्होंने मेहराजुद्दीन से कहा कि वो अपनी कार से उन्हें श्रीनगर तक छोड़ आए. मेहराजुद्दीन अपने चाचा को श्रीनगर छोड़ने के लिए सहमत हो गये. 

आगे की कहानी Economic Times में छपे उनके बयान के हवाले से,

“एक तरफ़ की सड़क सुरक्षा बलों द्वारा ब्लॉक कर दी गयी थी. इसलिए दोनों दिशाओं का ट्रैफ़िक सड़क के एक ही साइड से होकर गुज़र रहा था. पहले चेकप्वाइंट पर पुलिसवाले ने हमें जाने दिया. उन्होंने दूसरे चेकप्वाइंट पर मौजूद CRPF के जवान की तरफ़ कुछ इशारा किया. मैं एक बार में समझ नहीं पाया कि क्या इशारा है? अचानक से उस CRPF के जवान ने हमारी तरफ़ बंदूक़ तान दी. हमने कार रोक दी. और उसके बाद उसने मेरे भतीजे के ऊपर गोली चला दी.”

ASI शाह ने बताया है कि इसके बाद उन्होंने उस CRPF के जवान से लड़ाई की. कि जवान ने उनके भतीजे को क्यों गोली मारी? ASI शाह के मुताबिक़, 30 मिनट तक उन्हें वहां से नहीं हटाया गया. बाद में पास से एक प्राइवेट कार में एक डॉक्टर गुज़र रहा था. आर्मी के एक जवान ने डॉक्टर को रोका. उसके बाद मेहराजुद्दीन को श्रीनगर के SMHS अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. 

सवाल और प्रदर्शन

ASI शाह ने पुलिस और CPRF के बयानों को झूठा क़रार दिया है. समाचार एजेंसी दी वायर से बातचीत में कहा है कि उन्होंने अपने सीनियर अधिकारियों से इस बारे में बात की, और उनसे कहा कि CRPF और पुलिस के बयान ग़लत हैं. 

जब मीडिया संस्थानों ने जम्मू-कश्मीर पुलिस और CRPF से इन आरोपों की बुनियाद पर सवाल पूछे तो कोई जवाब नहीं दिया गया. फिर कहा गया कि बयान जारी कर दिया गया है. FIR दर्ज कर ली गयी है. जांच चल रही है. 

इसी के साथ बडगाम के मखामा गांव में 2G सेवाओं को बंद कर दिया गया है. लेकिन मेहराजुद्दीन की मौत के बाद प्रदर्शन होने लगे हैं. पुलिस को प्रदर्शन दबाने के लिए आंसू गैस के गोले और पेलेट गन का इस्तेमाल करना पड़ा.


कोरोना ट्रैकर :

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

एमएस धोनी पर चैपल के बोलते ही गुस्से से लाल हो गए हरभजन सिंह!

इंडियन क्रिकेट की बात आई, तो फिर युवराज सिंह भी नहीं रुके.

कोरोना : साइकिल पर फूड डिलिवरी कर रहा है ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट!

स्पॉन्सर्स को मना कर, खुद मेहनत कर रहा ओलंपियन.

अगर ख़ुश हैं कि EPF में बदलाव से ज़्यादा सैलरी मिलेगी, तो रुक जाइए!

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने EPF योगदान में कटौती का ऐलान किया था.

पालघर मॉब लिंचिंग: अब तक 141 आरोपी गिरफ्तार हुए, एक कोरोना पॉजिटिव निकला

दो साधुओं समेत तीन लोगों को भीड़ ने मार डाला था.

सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर में एक्टिव टॉप-10 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट जारी की

लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी शामिल.

अब किसको धमकी दे रहे हैं सलमान खान?

लॉकडाउन का उल्लंघन कर पनवेल से मुंबई आ गए सलमान?

20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की दूसरी किस्त में किसे क्या मिला?

किसान, मजदूर और रेहड़ी वालों के लिए आर्थिक पैकेज में अहम ऐलान.

JJP से चुनाव लड़ चुके पूर्व विधायक शराब चोरी के आरोप में गिरफ्तार

हरियाणा पुलिस ने चंडीगढ़ से पकड़ा.

शर्मनाक! कोरोना से ठीक होकर लौटी डॉक्टर को पड़ोसियों ने घर में बंद कर दिया

बाहर से चिल्लाते रहे- जिसे फोन करना है कर लो, यहां रहने नहीं देंगे.

रोहित शर्मा का ये 'मंत्र' मान लिया, तो लाइफ बन जाएगी

खुद रोहित ने फॉर्मूला बताया है.