Submit your post

Follow Us

कमलेश तिवारी के हत्यारोपी रशीद के पिता ने जो कहा, उसे ज़रूर पढ़ना चाहिए

5
शेयर्स

हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में यूपी पुलिस और गुजरात एटीएस ने सूरत से तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह और गुजरात एटीएस ने साफ किया है कि पकड़े गए लोगों मौलाना मोहसीन शेख सलीम, फैजान और रशीद अहमद ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. लेकिन अब इस मामले से जुड़ी एक और कहानी सामने आई है.

और ये कहानी सामने आई सूरत के लिंबायत इलाके से. यहां की पद्मावती सोसायटी की ग्रीन व्यू बिल्डिंग की पहली मंज़िल पर रहता है रशीद अहमद का परिवार. रशीद के पिता हैं ख़ुर्शीद अहमद खान. उनके चार बेटे हैं. उनमें से रशीद और सईद गुजरात एटीएस की गिरफ्त में है. वहीं उनका तीसरा बेटा फ़रीद खान अपने एक दोस्त के साथ ग़ायब है. आजतक चैनल से जुड़े पत्रकार संजय सिंह राठौर से बातचीत में खुर्शीद अहमद खान ने अपने बेटों को बेगुनाह बताया है.

ख़ुर्शीद अहमद खान ने बताया कि फरीद बेरोजगार है. वो अपने पड़ोस में रहने वाले अशफाक के साथ चंडीगढ़ जाने के लिए बोलकर घर से निकला था और फिर वापस नहीं लौटा. ख़ुर्शीद पठान के मुताबिक, 2 नवंबर को सईद की शादी है. शादी के कार्ड भी छप चुके हैं. इसी शादी की तैयारी के लिए रशीद करीब दो महीने पहले ही दुबई से सूरत आया था. और अब गुजरात एटीएस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. गुजरात एटीएस ने सईद को भी हिरासत में लिया था, लेकिन पूछताछ के बाद सईद को छोड़ दिया गया है.

अपने दोनों बेटों रशीद और सईद की गिरफ्तारी के बारे में बताते हुए ख़ुर्शीद अहमद खान ने बताया-

”सामने वाली बिल्डिंग में एक लड़का रहता है. उसने आकर आवाज दी. हमने दरवाजा खोला और वो हमारे दोनों बेटों रशीद और सईद को लेकर चले गए. रशीद दुबई में कंप्यूटर का काम करता है. 2 नवंबर को उसके भाई सईद की शादी है. इसी शादी के लिए वो छुट्टी लेकर आया था.”

अपने बेटों को बेकसूर करार देते हुए ख़ुर्शीद अहमद खान ने बताया-

”मेरा सबसे बड़ा बेटा फरीद बेरोजगार है. उसका एक दोस्त है अशफाक, जो मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव का काम करता है. एक दिन अशफाक मेरे पास आया और कहा कि चंडीगढ़ जाना है परीक्षा देने के लिए. वो मेरे बेटे फरीद को भी साथ लेकर गया और तबसे दोनों नहीं लौटे. मुझे नहीं पता है कि उनके साथ क्या हुआ.”

खुर्शीद अहमद ने अपने बेटे को बेकसूर बताया है.
खुर्शीद अहमद ने अपने बेटे को बेकसूर बताया है.

अपने दोनों बेटों को क्लीन चिट देते हुए खुर्शीद अहमद ने कहा-

‘2 नवंबर को मेरे बेटे की शादी है. कार्ड छप गए हैं. खाने वालों को पैसे दे दिए हैं. बस बुक कर रखी है. आप ही बताइए, अगर मुझे ज़रा भी शंका होती तो मैं ये सब करता. मेरी पत्नी की तबीयत खराब रहती है. घर में शादी का माहौल है, बहुत काम पड़ा है. इसलिए रशीद कहीं आता-जाता नहीं है. हर समय घर में ही काम में लगा रहता है. मैं और मेरे बच्चे पांचों टाइम के नमाज़ी हैं. ऐसा करना तो कोई सोच भी नहीं सकता. आप इस पूरे कॉम्प्लेक्स में हमारे बारे में पता कर सकते हैं.’

अब ये कहा जा सकता है कि खुर्शीद अहमद खान बाप हैं, तो अपने बेटों को बचाएंगे ही. लेकिन कमलेश तिवारी की मां कुसुम तिवारी ने भी तो ऐसे ही सवाल उठाए हैं. हत्या के तुरंत बाद कुसुम तिवारी ने अपने बेटे की हत्या के लिए योगी सरकार के साथ ही बीजेपी के एक नेता शिव कुमार गुप्ता को जिम्मेदार ठहराया था. कहा था-

‘ये राज्य सरकार की गलती थी कि उसने मेरे बेटे की सुरक्षा हटा ली थी. अब प्रशासन कुछ नहीं कर सकता है. अब पुलिस कुछ बेगुनाहों की परेड करवाएगी और उन्हीं में से एक को पकड़कर कहेगी कि इसी ने मेरे बेटे की हत्या की है.”

योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कुसुम तिवारी ने कहा था-

‘अखिलेश सरकार में मेरे बेटे के पास 17 सुरक्षाकर्मी थे. जब योगी मुख्यमंत्री बने तो पहले तो सुरक्षा घटाकर आठ-नौ कर दी गई और फिर बाद में और घटाकर चार कर दी गई. उनमें दो हमेशा मेरे बेटे के साथ रहते थे. बेटा जहां भी जाता था, उसके साथ जाते थे, जबकि दो सुरक्षाकर्मी ऑफिस में रहते थे. हत्या के दिन चारों में से कोई भी सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं था.’

अब सच क्या है नहीं पता. एक सच है जो यूपी पुलिस और गुजरात एटीएस कह रही है. एक सच कुसुम तिवारी का भी है, जो शिव कुमार गुप्ता पर आरोप लगा रही हैं. और एक सच खुर्शीद अहमद खान का है, जो अपने बेटों को बेगुनाह बता रहे हैं.


हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी मर्डर केस में पांच गिरफ्तार, लेकिन असली कातिल अब भी फरार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

पाकिस्तान ने सीज़फायर तोड़ा, भारत ने जवाब में मार गिराए पांच पाकिस्तानी सैनिक और कई आतंकवादी

पाकिस्तान ने भी मान लिया कि भारत ने हमला किया है.

अयोध्या : मुस्लिम पक्ष ने कहा, 'केवल हमसे ही सारे सवाल क्यों पूछे जा रहे?'

इस पर हिन्दू पक्ष ने कोर्ट में क्या कह दिया?

राफेल बनाने वालों ने राजनाथ सिंह से ऐसी बात कह दी कि निर्मला सीतारमण का दिल बैठ जाए

टैक्स को लेकर क्या कह दिया?

हिंदू राष्ट्र की बात करते-करते पाकिस्तान की बात क्यों करने लगे संघ प्रमुख भागवत?

मोहन भागवत ने और भी बहुत कुछ कहा है, जो संघ के पुराने विचारों से मेल नहीं खाता.

'राम-राम' नहीं कहा तो अलवर में पति को पीटा, पत्नी के कपड़े उतारने की कोशिश की

पति-पत्नी मुसलमान थे.

भिखारिन के अकाउंट से इतने पैसे मिले कि बैंक भी सकते में है

यहां लाखों नहीं, करोड़ों की बात हो रही है.

क्या है गौतम नवलखा केस, जिसे सुनने से अबतक CJI समेत सुप्रीम कोर्ट के 5 जज इनकार कर चुके हैं

किसी भी जज ने कोई कारण नहीं बताया है, पूर्व जज ने कहा था, कारण बताने से पारदर्शिता बढ़ती है.

टीवी पर शुरू हो रहा है 'दी लल्लनटॉप क्विज' सौरभ द्विवेदी के साथ, पूरी जानकारी पाइए

टीवी के इतिहास का सबसे मस्त क्विज, शनिवार 5 अक्टूबर से.

चिन्मयानंद को बचाने के लिए वकील ने कोर्ट में गजब का तर्क दिया है

और ऐसी बात जिसका केस से कोई संबंध नहीं.