Submit your post

Follow Us

IPL 2020: चेन्नई की हार में भी धोनी का यह कारनामा याद किया जाएगा!

महेंद्र सिंह धोनी. उनके बारे में नया क्या ही लिखा या कहा जा सकता है. सालों से धोनी लगातार ऐसा काम करते जा रहे हैं, जो तारीफों को अपनी ओर खींचता है. 7 अक्टूबर को कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मैच में भी ऐसा ही कुछ हुआ. जहां धोनी ने सैकड़ों बार की तरह एक बार फिर अपनी कीपिंग से गजब किया.

39 साल के धोनी ने चार कैच पकड़े और एक रन आउट में हिस्सेदारी निभाई. हालांकि बैटिंग में वे नाकाम रहे और चेन्नई 10 रन से मैच हार गई. केकेआर के 167 रन के जवाब में टीम 157 रन ही बना सकी. सीएसके की यह छह मैचों में चौथी हार है.

धोनी और उनके कैच

धोनी की बात करें तो सबसे पहले उन्होंने शुभमन गिल का कैच लपका. यह कैच शार्दुल ठाकुर की गेंद पर आया. लैंथ बॉल पर गिल ने स्लॉग शॉट लगाना चाहा. गेंद बल्ले का निचला किनारा लेकर धोनी के दस्तानों में समा गई. गिल 11 रन बना सके.

धोनी का दूसरा कैच ऑएन मॉर्गन का रहा. विकेट सैम करन के नाम रहा. बाउंसर मॉर्गन की कमजोरी रही है. करन ने इसी का फायदा उठाया. उन्होंने एक तीखी बाउंसर मॉर्गन के शरीर के पास फेंकी. यह ग्लव्स को किस करते हुए विकेट के पीछे गई. जहां धोनी ने बाकी का काम कर दिया. मॉर्गन सात रन बना सके.

केकेआर के आतिशी बल्लेबाज आंद्रे रसैल भी विकेट के पीछे कैच देकर आउट हुए. वे धोनी का तीसरा कैच थे. शार्दुल ठाकुर ने उनका शिकार किया. रसैल बैटिंग को रफ्तार देना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने तगड़ा शॉट लगाने की तैयारी कर ली थी. लेकिन ठाकुर ने क्रॉस सीम से छोटी गेंद डाली. यह बल्ले को चूमती हुई धोनी के ग्लव्स में आराम करने को चली गई. रसैल दो रन ही बना सके.

धोनी ने चौथा कैच शिवम मावी का पकड़ा. यह सबसे कमाल का भी रहा. ड्वेन ब्रावो ने ऑफसाइड में वाइड स्लॉअर बॉल डाली. मावी ने बल्ला चलाया. धोनी ने आखिरी ओवर होने की वजह से दाएं हाथ का ग्लव निकाल लिया था. गेंद इसी हाथ के पास गई. हाथ से लगकर गेंद छिटक गई. एकबारगी लगा कि कैच छूट जाएगा. लेकिन धोनी ने तत्परता दिखाते हुए डाइव लगाकर गेंद को दोनों हाथ से लपक लिया. मावी खाता खोले बिना आउट हुए.

इसके साथ ही IPL में सबसे ज्यादा कैच लेने का रिकॉर्ड धोनी के नाम हो गया. वे 104 कैच ले चुके हैं. उन्होंने दिनेश कार्तिक को पीछे छोड़ा. जिनके नाम 103 कैच हैं.

केकेआर की पारी की आखिरी गेंद पर भी सीएसके को विकेट मिला. वरुण चक्रवर्ती रन आउट हुए. उन्होंने दो रन लेने की कोशिश की. रवींद्र जडेजा का सीधा थ्रो आया. धोनी ने उससे स्टंप्स बिखेर दिए. आखिरी गेंद पर एक ही रन बन सका.


Video: राहुल चाहर की कहानी, जो सिर्फ दिग्गजों के विकेट उड़ाता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

कुछ दिन पहले ही कोरोना से अपने पिता को गंवा दिया.

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

भारी नुक़सान की ख़बरें लेकिन एक राहत की बात है

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

जानिए वैक्सीन को लेकर देश में क्या चल रहा है.

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

डॉक्टर एंथनी एस फॉउसी सात राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके हैं.

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.