Submit your post

Follow Us

तबलीगी जमात पर बीजेपी नेता के सवाल को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कायदे की बात कही है

दिल्ली में तबलीगी जमात के कार्यक्रम पर काफी हल्ला मचा था. यह कार्यक्रम दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में हुआ था. लॉकडाउन लगने के बाद हजारों लोगों को जमात के सेंटर से निकाला गया था. देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने का दोष तबलीगी जमात को दिया जाता है. अब इस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन का बयान आया है. उन्होंने कहा कि जमात के कार्यक्रम के बाद भारत में अचानक से मामले बढ़े. लेकिन इस बारे में बात करने का कोई मतलब नहीं है. क्योंकि तबलीगी जमात से गए लोगों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कर ली गई. साथ ही जिन्हें कोरोना हुआ उनका भी इलाज हो गया.

बीजेपी नेता के सवाल पर हर्ष वर्धन ने दिया जवाब

दरअसल बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने डॉ. हर्ष वर्धन से तबलीगी जमात के बारे में सवाल किया था. उन्होंने पूछा कि क्या इस घटना से मामला बदला? इस पर हर्ष वर्धन ने कहा,

यह मामला पुराना हो चुका है. इस पर काफी बात भी हो चुकी है. साथ ही काफी विश्लेषण भी किया जा चुका है. इस मामले को बार-बार उठाते हुए बुरा लगता है. लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं कि मार्च के दूसरे सप्ताह तक पूरी दुनिया में कोरोना के मामले फैल रहे थे. लेकिन भारत में पहला मामले आने के डेढ़ महीने बाद भी कोरोना के केस कम थे. फिर यह बदकिस्मत और लापरवाही भरी घटना सामने आई.

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि दिल्ली में उस समय 10-15 से ज्यादा लोगों के इकट्ठे होने की अनुमति नहीं थी. ऐसे समय में भी 10-12 देशों के लोग वहां मौजूद थे. वहां सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा गया.

हर्ष वर्धन ने कहा,

जब केस अचानक से बढ़े तो उस समय देश को बड़ा झटका लगा. ऐसे में सरकार को लॉकडाउन जैसे कड़े कदम उठाने पड़े. लेकिन यह घटना सभी समुदायों के लिए सबक थी. क्योंकि जब देश एक सामूहिक फैसला लेता है तो सभी को अनुशासन से उसका पालन करना चाहिए. इसी में सबकी भलाई होती है.

लॉकडाउन की तारीफ

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉकडाउन लगाने को साहसी फैसला बताया. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन ने एक तरह से प्रभावी सामाजिक वैक्सीन की तरह काम किया. यह फैसला सही समय पर लिया गया. कई विकसित देश ने लॉकडाउन लागू करने में समय लगाया. ऐसे में हालात उनके नियंत्रण से बाहर हो गए.

बता दें कि भारत में 25 मार्च से लॉकडाउन लगा था. इसके बाद से इसे तीन बार बढ़ाया जा चुका है. अभी 31 मई तक लॉकडाउन है.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: कोरोना वायरस से बचने के लिए दो मीटर नहीं, बल्कि छह मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करना है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.

ऑनलाइन क्लास में Noun समझाने के चक्कर में पाकिस्तान की तारीफ, टीचर सस्पेंड

टीचर शादाब खनम ने माफी भी मांगी, लेकिन पैरेंट्स ने शिकायत कर दी.

लद्दाख में तकरार बढ़ी, तीन जगह चीनी सेना ने मोर्चा लगाया, तंबू गाड़े

दोनों ओर के सैनिकों ने मोर्चा संभाला.

पाताल लोक वेब सीरीज में फोटो से छेड़छाड़ पर BJP विधायक ने की अनुष्का से माफी की मांग

प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा पर रासुका के तहत कार्रवाई की मांग की.

कानपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकी और खाने को लेकर आपस में भिड़ गए प्रवासी मज़दूर

दो कोचों के मज़दूर आपस में झगड़ पड़े. कुछ को खाना मिला, बाकी जमीन पर गिर गया.

दुनिया का सबसे तेज़ इंटरनेट, एक सेकेंड में 1000 एचडी मूवी डाउनलोड का दावा

ऑस्ट्रेलिया की तीन यूनिवर्सिटी के टेक रिसर्चर्स ने मिलकर ये कनेक्शन तैयार किया है.

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.