Submit your post

Follow Us

चार बार गुजरात के मुख्यमंत्री रहे माधव सिंह सोलंकी का निधन, मोदी ने इस तरह याद किया

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता माधव सिंह सोलंकी नहीं रहे. वे 94 साल के थे. चार बार गुजरात के सीएम रहे सोलंकी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख व्यक्त किया. लिखा –

“माधव सिंह सोलंकी जी अद्भुत लीडर थे. उन्होंने दशकों तक गुजरात की राजनीति में अहम भूमिका निभाई. उन्हें समाज की जो सेवा की, उसके लिए उन्हें याद रखा जाएगा. उनके निधन से दुखी हूं. मैंने उनके बेटे भरत सोलंकी जी से बात कर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं.

राजनीति से इतर, माधव सिंह जी पढ़ने के शौकीन थे और कल्चर के प्रति जुनूनी थे. जब कभी भी हम मिलते तो वे मुझसे किताबों के बारे में बात करते थे. बताते थे कि उन्होंने कौन सी नई किताब पढ़ी. हमारी बातों को मैं हमेशा याद रखूंगा.”

राहुल गांधी ने ट्वीट किया –

“माधव सिंह सोलंकी जी के निधन से दुखी हूं. कांग्रेस की विचारधारा को मजबूत करने और सामाजिक न्याय को बढ़ावा देने में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा. उनके परिवार और मित्रों के साथ मेरी संवेदनाएं.”

इनके अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारम्मैया और तमाम अन्य राजनेताओं ने दुख व्यक्त किया.

सोलंकी का खाम समीकरण

माधव सिंह सोलंकी पहली बार 1976 में गुजरात के मुख्यमंत्री बने. इसके बाद 1980, 1985 और 1989 में वे सीएम बने. गुजरात की राजनीति में जीत का एक बड़ा समीकरण उन्हीं की देन माना जाता है. ये समीकरण है – खाम (KHAM). यानी क्षत्रिय (ओबीसी), हरिजन, आदिवासी और मुस्लिम. यह बात अलग है कि उन्होंने अपने मुंह से कभी ‘खाम’ शब्द का उपयोग नहीं किया. इसी समीकरण के दम पर कांग्रेस ने 1985 के विधानसभा चुनाव में रिकॉर्ड 149 सीट जीती थीं.

ये ऐसा रिकॉर्ड था, जिसे आज तक गुजरात का कोई सीएम तोड़ नहीं सका. आई रिपीट – कोई भी सीएम नहीं तोड़ सका. 2012 के गुजरात विधानसभा से पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों से कहा था कि इस बार हमें किसी भी हालत में माधव सिंह सोलंकी का रिकॉर्ड तोड़ना है. इस चुनाव में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिला, लेकिन सोलंकी का वो रिकॉर्ड नहीं टूट सका.


यह शख्स चार बार सूबे का मुख्यमंत्री बना

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

फ़ेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम ने ट्रम्प पर बैन लगा दिया है.

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

BJP, AAP और कांग्रेस मंदिर ढहाने का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़ रही हैं.

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसान नेताओं ने क्या ऐलान किया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

मध्य प्रदेश में बीजेपी विधायक के बेटे ने दर्ज करवाया था केस.

तीसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के पांच खिलाड़ियों को आइसोलेट क्यों कर दिया गया?

इसमें रोहित शर्मा का नाम भी शामिल है.

देश के स्वास्थ्य मंत्री बोले सबको फ्री देंगे वैक्सीन, फिर ट्वीट करके कुछ और बात कह दी

जानिए देश में कहां-कहां वैक्सीन का ड्राई रन चल रहा है.

BCCI अध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली अस्पताल में भर्ती

ममता बनर्जी का ट्वीट-गांगुली को हल्का कार्डियक अरेस्ट आया है.

राजीव गांधी सरकार में नंबर-2 रहे बूटा सिंह का निधन, PM मोदी ने ट्वीट कर दुख जताया

बूटा सिंह 86 साल के थे, अक्टूबर-2020 में उन्हें ब्रेन हैमरेज के बाद AIIMS में भर्ती कराया गया था.

नए साल पर देश को मिला कोविड वैक्सीन का तोहफा!

एक्सपर्ट कमेटी ने दी मंज़ूरी. अब बस DCGI की हां बाकी.

मोबाइल बेचने के लिए होर्डिंग पर लगा दी मोदी-योगी की फोटो, UP के मंत्री का भाई फंस गया

इस पर मंत्री जी ने क्या कहा है?