Submit your post

Follow Us

साजिश के तहत हुए थे कानपुर के पास दो बड़े रेल हादसे?

क्या कोई है जो जान-बूझकर ट्रेन एक्सीडेंट करवा रहा है?

फर्रुखाबाद-कानपुर-अनवरगंज रेलवे सेक्शन के बीच 1 जनवरी की देर रात ऐसा ही एक मामला सामने आया है. यहां रेल पटरी काटकर और फिश प्लेट उखाड़कर एक रेल हादसे को अंजाम देने की नाकाम कोशिश की गई.

इसके बाद शक बढ़ गया है कि हाल में कानपुर के पास पुखरायां के हुआ बड़ा रेल हादसा और उसके बाद रूरा रेलवे स्टेशन के पास हुए दूसरे हादसे भी कहीं किसी साजिश का नतीजा तो नहीं थे?

1 जनवरी को रात 12:10 पर उत्तर पूर्व रेलवे के तहत कल्याणपुर और मंधाना रेलवे स्टेशनों के बीच में 3 जोड़ी फिश प्लेट फटी हुई पाई गई. रेलवे पटरियों को काटा गया था. ट्रैक पेट्रोलिंग के दौरान ट्रैकमेन संजीव कुमार और रामराज ने पटरियों से 50 क्लिप्स को उखड़ा हुआ पाया और साथ ही में 3 जोड़ी फिश प्लेट फटी हुई पाईं.

ट्रैकमैन के मुताबिक, उन्होंने कुल्हाड़ी से रेल पटरी को काटे जाने का निशान भी पाया. इसकी जानकारी तुरंत ही रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स को दी गई. रेलवे कर्मचारियों ने आनन-फानन में पटरी को दुरुस्त किया और बिठूर थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई. आरपीएफ ने रेलवे एक्ट की धारा 153 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. फर्रुखाबाद कानपुर अनवरगंज रेलवे सेक्शन पर चलने वाली सभी ट्रेनों को अब अतिरिक्त सावधानी से चलाया जा रहा है.

Suspect

जिस समय फिश प्लेट हटाई गई थी और पटरी काटी गई थी उसके थोड़ी ही देर बाद वहां से ट्रेन नंबर 14151 कानपुर आनंद विहार एक्सप्रेस को गुजरना था. अगर समय रहते ट्रैकमैन उस जगह की पैमाइश न करते तो बड़ा हादसा हो सकता था.

रेलवे के आला अफसरों के मुताबिक, रूरा रेलवे स्टेशन के पास हाल ही में सियालदा अजमेर एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी. इसे लेकर कुछ संदेह भी हैं. जिस रेलवे लाइन पर यह हादसा हुआ है उसे काफी सेफ माना जाता है. इसी लाइन पर शताब्दी और राजधानी ट्रेनें तेज स्पीड पर चला करती है और इस ट्रैक का मेंटेनेंस लगातार किया जाता रहा है. ऐसे में ये बात रेलवे अफसरों के गले नहीं उतर रही कि यहां किस तरह से ट्रेन पटरी से उतर गई. हालांकि इस रेल हादसे की जांच कमिश्नर रेलवे सेफ्टी कर रहे हैं लेकिन रेलवे के अधिकारी दबी जुबान से ही सही इस बात का संदेह जता रहे हैं इस रेल हादसे में अराजक तत्वों के हाथ की भी जांच की जानी चाहिए.

वैसे रेल मंत्री सुरेश प्रभु का कहना है कि पुखरायां रेल हादसे में ज्यादा लोगों की मौत के पीछे रोलिंग स्टॉक में बरती गई लापरवाही नजर आ रही है. फिलहाल जांच जारी है और पूरी जानकारी उसके बाद ही मिल पाएगी.


 

ये भी पढ़ें

भारत का सबसे बड़ा रेल हादसा, जब सैकड़ों लाशों का पता ही नहीं चला

महज 10 मिनट में दो ट्रेनों का हो गया था ये हाल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

पीएम मोदी के 71वें बड्डे पर बीजेपी करेगी मेगा सेलिब्रेशन, ये है पूरा प्लान

पीएम मोदी के 71वें बड्डे पर बीजेपी करेगी मेगा सेलिब्रेशन, ये है पूरा प्लान

तीन हफ्ते तक चलेंगे कार्यक्रम.

चुनाव आयोग ने सरकार से ऐसा अधिकार मांगा है कि सैकड़ों दलों का पत्ता साफ हो जाएगा

चुनाव आयोग ने सरकार से ऐसा अधिकार मांगा है कि सैकड़ों दलों का पत्ता साफ हो जाएगा

चुनाव आयोग ने 2700 राजनीतिक दलों की खास लिस्ट भी बना ली है.

पत्रकारों पर जुल्म के बाद तालिबान ने विरोध प्रदर्शन पर पाबंदी का नया फरमान जारी कर दिया है

पत्रकारों पर जुल्म के बाद तालिबान ने विरोध प्रदर्शन पर पाबंदी का नया फरमान जारी कर दिया है

अब पहले ये भी बताना होगा कि प्रदर्शन के दौरान नारे कौन से लगेंगे.

टेस्ट रैंकिंग में तगड़े फायदे के साथ कहां पहुंचे रोहित शर्मा?

टेस्ट रैंकिंग में तगड़े फायदे के साथ कहां पहुंचे रोहित शर्मा?

कोहली, बुमराह का क्या हुआ?

युज़वेंद्र चहल को क्यों नहीं मिली T20I विश्वकप टीम में जगह?

युज़वेंद्र चहल को क्यों नहीं मिली T20I विश्वकप टीम में जगह?

सोशल मीडिया पर छा गया है चहल का मुद्दा.

BJP ने पांच चुनावी राज्यों के लिए प्रभारियों की घोषणा की, यूपी का जिम्मा किसे मिला?

BJP ने पांच चुनावी राज्यों के लिए प्रभारियों की घोषणा की, यूपी का जिम्मा किसे मिला?

अनुराग ठाकुर, अर्जुन राम मेघवाल, सरोज पांडेय जैसे नेता यूपी चुनाव के सहप्रभारी होंगे.

T20 वर्ल्ड कप के लिए हुआ महेंद्र सिंह धोनी का सेलेक्शन!

T20 वर्ल्ड कप के लिए हुआ महेंद्र सिंह धोनी का सेलेक्शन!

धोनी को मिला अहम रोल.

इंडियन T20 वर्ल्ड कप टीम से कटा दिग्गजों का पत्ता, दिखे कुछ नए नाम

इंडियन T20 वर्ल्ड कप टीम से कटा दिग्गजों का पत्ता, दिखे कुछ नए नाम

चार साल बाद लौटे अश्विन.

मसरत आलम भट: हुर्रियत का नया नेता, जो सैयद अली शाह गिलानी से भी ज्यादा कट्टर है

मसरत आलम भट: हुर्रियत का नया नेता, जो सैयद अली शाह गिलानी से भी ज्यादा कट्टर है

हुर्रियत कॉन्फ्रेंस ने इसी हफ्ते मसरत आलम को अपना नेता चुना है.

कोहली के सेलिब्रेशन पर मचे बवाल में कूदे माइकल वॉन ने ये क्या कह दिया?

कोहली के सेलिब्रेशन पर मचे बवाल में कूदे माइकल वॉन ने ये क्या कह दिया?

बार्मी आर्मी को पसंद नहीं आएगी वॉन की बात.