Submit your post

Follow Us

दिनेश कार्तिक ने बताया, IPL कप्तानी किसकी वजह से गई

कोलकाता नाइट राइडर्स. IPL की ऐसी टीम जिसे सीज़न की शुरुआत से सौरव गांगुली की कप्तानी मिली, शाहरुख खान जैसा मालिक और खूब सारा स्टारडम. KKR की टीम को बुलंदियों तक पहुंचाया गौतम गंभीर ने. लेकिन पिछले कुछ सालों में KKR की टीम में सबकुछ ठीक नहीं है. ना तो टीम खिताब जीत पाई और ना ही ये समझ आया कि टीम का कप्तान कौन है? क्योंकि कप्तानी की डोर कभी कार्तिक तो कभी मॉर्गन के हाथों में दिखी है.

इन तमाम चीज़ों के बीच दिनेश कार्तिक ने कोलकाता टीम के ड्रेसिंग रूम की कुछ बातें शेयर की हैं. उन्होंने ये साफ करने की कोशिश की है कि टीम के अंदर सबकुछ ठीक है और 2020 सीज़न के बीच उनकी कप्तानी जाने का फैसला किसी का थोपा हुआ फैसला नहीं था.

’22 यार्न विद गौरव कपूर’ पर बात करते हुए दिनेश कार्तिक ने बताया कि कप्तानी छोड़ने के लिए उनको किसी ने फोर्स नहीं किया था. बल्कि इस फैसले पर उन्हें टीम का पूरा सपोर्ट मिला था.

दिनेश कार्तिक ने अपनी कप्तानी छोड़ने के फैसला पर कहा,

”हम इसके बारे में जानते थे. मुझे लगता है कि KKR को बहुत अधिक क्रेडिट दिया जाना चाहिए क्योंकि उन्होंने इसे बहुत अच्छी तरह से संभाला. उन्होंने मेरी स्थिति को समझा. मैं समस्या था, कोई और नहीं. उस वक्त से, जहां मुझे बहुत यकीन नहीं था, तब उन्होंने कहा ‘ठीक है, मॉर्गन हैं. वह (मॉर्गन) वास्तव में बहुत अनिच्छुक था.”

कप्तानी नहीं करना चाहते थे मोर्गन

दिनेश कार्तिक ने बताया, ऑएन मार्गन IPL में आकर सिर्फ इसका लुत्फ उठाना चाहता है. साथ ही वो कप्तान की मदद के लिए टीम का उप-कप्तान था. लेकिन जब मॉर्गन को कप्तानी दी गई तो उनका रिएक्शन बहुत खास था. कार्तिक ने बताया,

”जब मैंने उससे इसके लिए कहा तो उसने कहा,

‘नहीं, नहीं’.

हम उस समय प्वाइंटस टेबल पर भी ऊपर थे. हमने कुछ सात गेम खेले थे और चार जीते थे. हम टेबल पर नंबर 4 या 3 पर थे. उन्होंने कहा

‘क्या तुम पागल हो? तुम ऐसा क्यों करोगे? मुझे समझ नहीं आ रहा है कि तुम क्या करने की कोशिश कर रहे हो.’

इसके बाद मैंने उसे चीजें समझाई.”

कार्तिक ने इस बातचीत में ये भी साफ किया कि 2020 में कप्तानी छोड़ने का फैसला उनका पर्सनल था. ना की फ्रेंचाइज़ या किसी ने उनपर इसके लिए दबाव बनाया था. कार्तिक ने कहा,

”पर्सनली, जो कुछ हो रहा था और यह ऐसा था जो कि मेरे पर्सनल मुद्दों के बारे में ज्यादा था, क्रिकेट या फ्रेंचाइजी या ऐसा कुछ भी नहीं था. इसलिए जब पर्सनल मुद्दा हुआ, तो वह मुख्य कारण था और फिर उन्होंने कहा, ‘ठीक है, मैं यह करूँगा.’ और इसे केकेआर ने भी बहुत अच्छी तरह से संभाला.. वेंकी मैसूर और शाहरुख ने.”

KKR फ्रेंचाइज़ ने 2018 में गौतम गंभीर के जाने के बाद दिनेश कार्तिक को टीम का कप्तान बनाया था. लेकिन गौतम गंभीर के जाने के बाद से कभी भी केकेआर की टीम खिताब नहीं जीत सकी.

इस स्टोरी को लिखा है हमारे साथ इंटर्नशिप कर रहीं गरिमा भारद्वाज ने.


किस भारतीय गेंदबाज की बैटिंग ने शोएब अख्तर को सबसे ज़्यादा हैरान किया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?