Submit your post

Follow Us

ऐपल ने सैमसंग को 7100 करोड़ का जुर्माना किस गलती के लिए चुकाया?

एक स्मार्टफोन में बहुत सारे कम्पोनेंट होते हैं. लेकिन ये ज़रूरी नहीं कि फ़ोन बनाने वाली कम्पनी सारे पुर्ज़े ख़ुद ही बनाए. सैमसंग और ऐपल वैसे तो स्मार्टफोन मार्केट में राइवल हैं, लेकिन ऐपल के आइफोन में लगी हुई डिस्प्ले को सैमसंग ही बनाता है. डिस्प्ले सप्लाई चैन कंसलटेंट्स (DSCC) की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, कम डिस्प्ले ख़रीदने की वजह से ऐपल को अच्छा-ख़ासा हर्जाना चुकाना पड़ा है. ये हर्जाना लगभग 7,100 करोड़ रुपए का है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल, डिस्प्ले की ख़रीद को लेकर ऐपल और सैमसंग के बीच में एक क़रार है. इसके तहत ऐपल को हर साल एक तय लिमिट की डिस्प्ले ख़रीदनी होती है. ऐसा क़रार स्क्रीन की क़ीमत को कम करने के लिए होता है. कोविड-19 के चलते इस साल मार्केट कमज़ोर है. अमेरिका और दूसरे देशों में ऐपल के स्टोर महीनों बंद पड़े रहे. इस सबके चलते ऐपल ज़्यादा आइफ़ोन नहीं बेच पाया. इसी वजह से डिस्प्ले की ज़रूरत भी कम हो गई और बात हर्जाने तक आ गई.

‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के मुताबिक़, सैमसंग ने पिछले हफ़्ते अपने रेवेन्यू और ऑपरेटिंग प्रॉफ़िट की दूसरी तिमाही की रिपोर्ट साझा की थी. इस रिपोर्ट में सैमसंग ने अपने डिस्प्ले बिज़नेस में एक “वन-टाइम” पेमेंट की बात लिखी है. जानकारों का मानना है कि ये भुगतान ऐपल की तरफ़ से किया गया है. सैमसंग ने भुगतान की रक़म नहीं लिखी है, लेकिन DSCC की रिपोर्ट बताती है कि ये रक़म 950 मिलियन अमेरिकी डॉलर है. करेन्सी ट्रांसलेट करने पर ये रक़म लगभग 7,157 करोड़ रुपए बनती है.

पहले भी देना पड़ा है हर्जाना

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि ऐपल को कम डिस्प्ले ख़रीदने की वजह से हर्जाना चुकाना पड़ा हो. पिछले साल भी कम स्क्रीन ख़रीदने की वजह से ऐपल ने सैमसंग को जुलाई में 683 मिलियन अमेरिकी डॉलर दिए थे, जो लगभग 5,149 करोड़ रुपए बनते हैं. इस सबके बीच यह बात भी सामने आयी है कि ऐपल आइफ़ोन की डिस्प्ले के लिए सैमसंग की जगह कोई नया सप्लायर ढूंढ रहा है. कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक़, ऐपल की बातचीत फ़िलहाल चीन के BOE टेक्नॉलजी ग्रुप के साथ चल रही है. अगर ये डील हो जाती है, तो हमें अगले साल के आइफ़ोन मॉडल में नई डिस्प्ले देखने को मिलेगी.


ये स्टोरी हमारे साथी फैसल ने लिखी है.


वीडियो देखें: Google-Apple का बनाया गया कोरोनावायरस से लड़ने वाला API काम कैसे करता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

फेसबुक के बाद अब गूगल ने Jio में इतनी बड़ी रकम लगा दी है

रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं एनुअल मीटिंग में हुई घोषणा.

सुशांत जैसी ही जर्नी वाले एक और एक्टर ने बताया, कैसे 4 साल डिप्रेशन से जूझकर वो वापस आए

टीवी पर शो हिट होने के बाद शरद मल्होत्रा को लगा था वो दूसरे शाहरुख खान बनेंगे.

उरी सर्जिकल स्ट्राइक पर एक धांसू सीरीज़ आ रही है, विक्की कौशल की फिल्म से क्या अलग है इसमें?

आजकल फॉर्म में चल रहे अमित साध और नीरज कबी हैं इसमें.

पुलिस ने फल वाले से छीन ली पूरी पेटी, वीडियो वायरल होने पर सफाई दे दी

ओडिशा के गंजम जिले का मामला.

बोतल में तेल न देने का ऐसा अजीब अंजाम होगा, पेट्रोल पंप वालों ने कभी सोचा नहीं होगा!

पेट्रोल पंप पर लगे CCTV कैमरों में कैद हुई हरकत.

सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI जांच की मांग पर अमित शाह का जवाब आया है

14 जून को सुशांत ने सुसाइड कर लिया था.

वाह! तेलुगु की इस जाबड़ थ्रिलर फिल्म के हिंदी रीमेक में राजकुमार राव का जलवा दिखेगा

ऐसा क्या है इस फिल्म में कि राजकुमार राव इस रोल को शिद्दत से करना चाहते थे?

महाराष्ट्र के 14 हज़ार सरपंच सरकार के ख़िलाफ कोर्ट क्यों जा रहे हैं?

कोविड-19 की वजह से गांव इस वक्त पंचायत चुनाव कराने की स्थिति में नहीं हैं.

सलमान खान पर 'दबंग' डायरेक्टर ने जो आरोप लगाए थे, उस पर अनुभव सिन्हा क्या बोले?

अनुभव सिन्हा ने नेपोटिज़म की बजाए किस बात को इंडस्ट्री की बड़ी दिक्कत बताया?

अर्रे ग़ज़ब! अक्षय कुमार की फिल्म 'बेलबॉटम' की शूटिंग के लिए प्राइवेट जेट से स्कॉटलैंड जाएगी पूरी टीम

फिल्म अगले साल अप्रैल में रिलीज होगी.