Submit your post

Follow Us

नोएडा फेक एनकाउंटर: जिस दोस्त की गाड़ी से बहादुरी अवॉर्ड लेने गया, उसी के भाई को गोली मारी!

नोएडा सेक्टर 122 में 3 फरवरी की रात कथित तौर पर पुलिस के हाथों जिम ट्रेनर जीतेंद्र को गोली लगने के मामले में कई खुलासे हुए हैं. आरोप है कि सेक्टर 122 के चौकी इंचार्ज विजय दर्शन शर्मा ने 3 फरवरी की रात जीतेंद्र यादव नाम के एक लड़के की गर्दन में गोली मार दी. जीतेंद्र स्कॉर्पियो से अपने दोस्तों के साथ गाजियाबाद से बहन की सगाई से लौट रहा था, जबकि विजय दर्शन के साथ तीन पुलिसकर्मी और थे.

जीतेंद्र के दोस्तों के मुताबिक विजय दर्शन ने उन्हें धमकी दी कि ‘प्रमोशन का सीज़न चल रहा है और आउट ऑफ टर्न प्रमोशन के लिए उन्हें एक-दो को टपकाना है.’ इन दिनों बदमाशों का धड़ल्ले से एनकाउंटर कर रही यूपी पुलिस पर नोएडा के इस मामले की वजह से फेक एनकाउंटर का आरोप लग रहा है, जबकि पुलिस इसे ‘आपसी रंजिश का मामला’ बता रही है. इस केस में अब तक चार पुलिसवाले सस्पेंड हो चुके हैं और आरोपी सब इंस्पेक्टर विजय दर्शन को गिरफ्तार किया गया है.

ये भी पढ़ें: 48 घंटे में 15 एनकाउंटर करने वाली यूपी पुलिस के दरोगा ने एक फ़र्जी एनकाउंटर भी किया है?

आइए जानते हैं इस मामले में और क्या-क्या बातें सामने आईं:

क्या पुलिस ने जीतेंद्र के दोस्तों को गायब कर दिया

3 फरवरी की रात जीतेंद्र स्कॉर्पियो में अपने दोस्तों के साथ था. उसके दो दोस्तों सोनू और लखन यादव ने बताया कि पहले विजय दर्शन ने उनका एनकाउंटर करने की बात कही. जब जीतेंद्र ने इसका विरोध किया, तो उन्होंने उसे गोली मार दी. जब उन्होंने कॉल करने के लिए फोन उठाया, तो वो गाड़ी में गिर गया, जिसे पुलिस ने दोबारा उठाने नहीं दिया. फिर विजय ने किसी अधिकारी को फोन करके बताया कि ‘एक का एनकाउंटर हो चुका है और दो बंदे बचे हैं. इनका क्या करना है.’ फोन कटने के बाद पुलिस इन दोनों को जंगल की तरफ ले जाने लगी और विजय ने फिर किसी को फोन करके तमंचा लेकर आने को कहा.

मीडिया से बात करने के दौरान जीतेंद्र के दोस्त. इन्होंने बताया कि 3 फरवरी की रात क्या हुआ था.
मीडिया से बात करने के दौरान जीतेंद्र के दोस्त. इन्होंने बताया कि 3 फरवरी की रात क्या हुआ था.

ये सुनकर ये दोनों शोर मचाने लगे और पुलिसवालों के पैर पकड़ गुहार लगाने लगे कि वो पहले जीतेंद्र को हॉस्पिटल ले चलें. इसके बाद विजय की फिर किसी पुलिसवाले से बात हुई और फिर वो जीतेंद्र को हॉस्पिटल ले गए. इसके बाद से वो पुलिसवाले फरार हैं और जीतेंद्र के अन्य तीन दोस्त भी नहीं मिल रहे हैं. पुलिस पर आरोप है कि उन्होंने ही जीतेंद्र के बाकी तीनों दोस्तों को गायब किया है, जिससे केस कमज़ोर हो सके.

एनकाउंटर आरोपी ट्रेनी SI विजय दर्शन
एनकाउंटर आरोपी ट्रेनी SI विजय दर्शन

पुलिस के पास अपनी अलग थ्योरी है

पुलिस की तरफ से बताया गया कि विजय दर्शन को कुछ लोगों के शराब पीकर गाड़ी में ऊंची आवाज़ में गाना बजाने की शिकायत मिली थी. पुलिस के उनके पास पहुंचने पर एक सिपाही ने जीतेंद्र को पिछली सीट पर भेज दिया और खुद ड्राइविंग सीट पर बैठ गया. जीतेंद्र के विरोध करने पर पुलिस ने उसे धमकाने के लिए पिस्टल निकाली और हाथापाई में गोली चल गई. खुद को बचाने के लिए पुलिसकर्मी इस घटना को एनकाउंटर से जोड़ने लगे, लेकिन ऊपर के अधिकारियों ने साफ मना कर दिया. इसके बाद विजय ने खुद जीतेंद्र को हॉस्पिटल पहुंचाया.

और घरवालों के पास अपनी थ्योरी है

जीतेंद्र का एक भाई आरोपी सब इंस्पेक्टर विजय दर्शन को जानता था. जीतेंद्र के घरवाले कह रहे हैं कि नशे में धुत्त विजय ने प्रमोशन पाने की बात कहकर जीतेंद्र का फेन एनकाउंटर किया. परिवार के कुछ लोग इसे जातीय हिंसा का मामला भी बता रहे हैं. जीतेंद्र के एक भाई करमवीर यादव ने कहा कि यूपी सरकार 48 घंटे में इस केस की CBI जांच की सिफारिश करे, वरना बड़े स्तर पर विरोध किया जाएगा. करमवीर ने बताया कि 3 फरवरी की रात जीतेंद्र जिस बहन की सगाई से लौट रहा था, उसकी 7 फरवरी को शादी है.

प्रमोशन वाले आरोप पर पुलिस तर्क दे रही है कि आरोपी विजय अंडर ट्रेनी है और यूपी में अभी आउट ऑफ टर्न प्रमोशन बंद चल रहा है. पुलिस का यहां तक कहना है कि विजय का मेडिकल भी हुआ, जिसमें उसके नशे में होने की बात गलत साबित हुई.

जीतेंद्र के भाई और आरोपी पुलिसवाले विजय का क्या कनेक्शन है

जीतेंद्र नोएडा सेक्टर 122 के पर्थला गांव में जिम चलाता है. उसके भाई धर्मेंद्र यादव की गांव के पास में ही एक मार्केट है. पर्थला चौकी के सिपाही इस मार्केट में आते थे और जनरल स्टोर से बिना पैसे दिए सामान लेकर चले जाते थे. इस बात पर धर्मेंद्र ने विजय से आपत्ति जताई थी. इसी सिलसिले में धर्मेंद्र को कई बार पुलिस के पास जाना पड़ा और विजय से उनकी दोस्ती हो गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक जब आरोपी विजय ने जीतेंद्र को गोली मारी, तब उसे नहीं पता था कि जीतेंद्र और धर्मेंद्र भाई हैं.

jitendra-noida

जिस गाड़ी से बहादुरी का अवॉर्ड लेने गया, उसी में बैठे आदमी को गोली मारी?

नोएडा पुलिस ने पिछले दिनों फेज़-3 एरिया में कुछ बदमाशों का एनकाउंटर किया था. इन बदमाशों पर गार्ड की हत्या करके लूट करने का आरोप था. पुलिस की जिस टीम ने ये एनकाउंटर किया था, विजय दर्शन भी उस टीम का हिस्सा था. 26 जनवरी को इस टीम को सम्मानित करने के लिए पुलिस लाइन बुलाया गया था. पुलिस लाइन जाने के लिए विजय ने धर्मेंद्र से गाड़ी मंगवाई थी और ये वही स्कॉर्पियो थी, जिसमें 3 जनवरी की रात जीतेंद्र बैठा था.

वो स्कॉर्पियो, जिसमें 3 फरवरी की रात जीतेंद्र सवार था. जीतेंद्र के दोस्त ने बताया कि उसने गाड़ी का कांच इसलिए फोड़ा, ताकि लोग आवाज सुनकर उनके पास आएं.
वो स्कॉर्पियो, जिसमें 3 फरवरी की रात जीतेंद्र सवार था. जीतेंद्र के दोस्त ने बताया कि उसने गाड़ी का कांच इसलिए फोड़ा, ताकि लोग आवाज सुनकर उनके पास आएं.

पुलिसवालों पर है वसूली का आरोप

घायल जीतेंद्र के मामा वीरेंद्र यादव ने आरोप लगाया है कि जब पुलिसवाले रात में पर्थला गांव के आसपास गाड़ियां खड़ी देखते हैं, तो वसूली करने आ जाते हैं और ये कई महीने से चल रहा है. वीरेंद्र के मुताबिक पुलिसवाले गाड़ियों को चौकी ले जाने और अरेस्ट करने की धमकी देकर हज़ारों रुपए वसूलते हैं. वीरेंद्र मानते हैं कि 3 फरवरी की रात भी यही हुआ. पुलिसवाले वसूली के लिए, बात बिगड़ने पर गोली मार दी और फिर एनकाउंटर की कहानी बनाने लगे.

jitendra-body

गर्दन के पास रीढ़ की हड्डी में फंसी है गोली

जीतेंद्र इस समय नोएडा के फोर्टिस हॉस्पिटल में एडमिट है. गोली उसकी गर्दन के पास रीढ़ की हड्डी में फंसी है और हालत नाज़ुक है. उसे गोली लगने के करीब एक घंटे बाद हॉस्पिटल पहुंचाया गया था, जिसकी वजह से काफी खून बह गया. इसके बाद शनिवार दोपहर उसे करीब 10 यूनिट खून चढ़ाए जाने के बाद उसका ऑपरेशन किया गया.

हॉस्पिटल में एडमिट जीतेंद्र
हॉस्पिटल में एडमिट जीतेंद्र

फोर्टिस के बाहर गांववालों का जमावड़ा, 50 लाख मुआवजे की मांग

जीतेंद्र के बारे में जानकारी मिलने के बाद पर्थला गांव और इसके आसपास के करीब 250 लोग हॉस्पिटल के बाहर जमा हो गए. इन्होंने पुलिसवालों को एक दिन के अंदर अरेस्ट करने और जीतेंद्र के परिवार को 50 लाख रुपए मुआवजा दिए जाने की मांग रखी. गांववालों ने धमकी दी कि मांग पूरी न होने पर वो NH24 जाम कर देंगे. हॉस्पिटल के बाहर के हालात देखते हुए वहां पुलिस और PAC तैनात की गई है.

हॉस्पिटल के बाहर तैनात पुलिसकर्मी
हॉस्पिटल के बाहर तैनात पुलिसकर्मी

विजय दर्शन के चक्कर में फंस गए DSP जीतेंद्र कुमार

नोएडा के फेज़ 3 थाने में तैनात DSP जीतेंद्र कुमार पर ये केस बहुत भारी पड़ रहा है. खेल कोटे से इंस्पेक्टर बने जीतेंद्र की अब तक नोएडा के कई थानों में तैनाती हो चुकी है. वो एनकाउंटर स्पेशलिस्ट हैं और नोएडा में करीब एक दर्जन एनकाउंटर में 20 बदमाशों को पकड़ चुके हैं. पिछले दिनों ही उनका प्रमोशन करके उन्हें DSP पद दिया गया, लेकिन नई तैनाती न मिलने की वजह से अभी वो अपना पुराना चार्ज ही संभाल रहे हैं. पर अब उनका नाम जिम ट्रेनर जीतेंद्र के मामले में आ गया है.

DSP जीतेंद्र
DSP जीतेंद्र

जीतेंद्र के घरवालों ने अपनी शिकायत में DSP जीतेंद्र को भी साजिशकर्ता बताते हुए कार्रवाई की मांग की है. NBT की रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार रात को ही उनका मथुरा में तैनाती का आदेश आया था, लेकिन इससे पहले कि वो रिलीव हो पाते, इस केस में उनका नाम आ गया.


पुलिस के एनकाउंटर्स से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें:

कौन था इंद्रपाल, जो पुलिस एनकाउंटर में मारा गया

2017 के वो 5 धाकड़ पुलिस अधिकारी जिन्होंने अपराधियों का बाजा बजा दिया

अंकित तोमर आपके लिए मर गया, आपको पता चला?

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

पूर्व पत्नी ने लगाया रेप के प्रयास का आरोप, AIMIM नेता ने कहा- बेबुनियाद.

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

ये बदलाव जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.