Submit your post

Follow Us

टप्पल कांड: भीड़ ने मुस्लिम परिवार पर हमला किया, साथ की हिंदू महिला ने बचा लिया

पहले के जमाने में हैजा-प्लेग फैलता था. गांव के गांव साफ हो जाते थे. मगर उसमें भी कोई-कोई बच निकलता था. अलीगढ़ की ये ख़बर ऐसी ही एक महामारी से बचकर निकलने वाली महिला की है. जिसने एक मुस्लिम परिवार को भीड़ के हाथों पीटकर मार दिए जाने से बचाया. धर्म पूछिए, तो वो खुद हिंदू है.

क्या हुआ?
ये घटना है 9 जून की. अलीगढ़ से 40 किलोमीटर दूर एक जगह है- जट्टारी. हरियाणा के वल्लभगढ़ का एक मुस्लिम परिवार गाड़ी में बैठकर यहां एक सगाई में जा रहा था. अंदर परिवार की बुर्कानशीं औरतें भी बैठी थीं. बाहर से कोई भी देखता और छांटने की कोशिश करता, तो उसे मालूम चल जाता कि गाड़ी में मुस्लिम बैठे हैं. गाड़ी में इस परिवार के साथ उनकी एक परिचित हिंदू लड़की भी थी. नाम, पूजा चौहान. उम्र 24 साल. पूजा और इस परिवार की आपस में दोस्ती है. रास्ते में कुछ लोग बाइक पर बैठकर आए. उनके निशाने पर थी ये वैन. उन्होंने लोहे की सरिया से वैन पर हमला किया. ड्राइवर को चोट आई. उसके हाथ जख्मी हो गए. फिर हमलावरों ने गाड़ी की चाभी निकाल ली. गाड़ी में बैठे मुहम्मद अब्बासी ने उस घटना के बारे में बात करते हुए मीडिया को बताया-

पूजा मेरी बच्ची जैसी है. वो नहीं होती हमारे साथ गाड़ी में, तो उन लोगों ने हमें मार डाला होता. जब उन लोगों ने हमला किया, तो पूजा वैन से बाहर चली गई. वो हमारे और उन हमलावरों के बीच में खड़ी हो गई. हमलावरों ने गले में केसरिया गमछा डाला हुआ था. पूजा पूरी हिम्मत और मजबूती के साथ उनके सामने खड़ी हो गई.

Pooja - 1

अब्बासी के मुताबिक, पूजा ने उन हमालवरों से कहा-

तुम लोग अपना गुस्सा बेगुनाहों पर क्यों निकाल रहे हो? हम सब उस ढाई साल की बच्ची के साथ हुई दरिंदगी से बराबर दुखी हैं. सदमे में हैं.

हमलावरों में से एक को पूजा की बात सुनकर कुछ समझदारी आई
सिविल लाइन्स पुलिस थाने में लिखवाई गई FIR के मुताबिक, पूजा की बातें सुनकर हमलावरों में से एक थोड़ा नरम हुआ. उसने हमें हमारे कार की चाभी लौटाई और धीरे से कहा- फौरन यहां से भाग जाओ. अब्बासी और उनका परिवार सदमे में है. उनके सामने पूजा की भी मिसाल है. और हमलावरों की भी. धर्म तलाशें, तो दोनों हिंदू. लेकिन बिल्कुल अलग. अब्बासी परिवार को कौन सी मिसाल याद रखनी चाहिए? मारने वाले या बचाने वाली?

मुस्लिम परिवार के साथ मौजूद पूजा चौहान ने उन्हें बचाया
मुस्लिम परिवार के साथ मौजूद पूजा चौहान ने उन्हें बचाया

 

अलीगढ़ में दंगे जैसे हालात की खबरें आ रही हैं
अलीगढ़ और इसके आस-पास के इलाकों में काफी तनाव है. दंगे जैसी स्थिति की खबरें आ रही हैं. 2 जून को यहां एक कूड़े के ढेर में एक दो साल की बच्ची मरी मिली. उसके साथ हुई नृशंसता का आरोप जिन दो लोगों पर है, वो मुस्लिम हैं. इस वजह से मामला हिंदू बनाम मुसलमान बना दिया गया. कुछ लोगों ने दो अपराधियों के किए पर पूरे मुस्लिम समाज को दोषी मान लिया. सारे मुस्लिम घृणित अपराधी हो गए. ऐसे माहौल में नफ़रत हावी हो जाती है कई बार. लोग बंट जाते हैं. ऐसे में भी पूजा नहीं बंटी. सही और ग़लत की समझ साफ रही उसके अंदर. ये तसल्ली की बात है. लेकिन अगर पूजा उस परिवार के साथ गाड़ी में नहीं होती, तो? तब शायद हम अलग ही ख़बर बता रहे होते.

क्या हिंदू हिंदुओं के साथ, मुस्लिम मुस्लिमों के साथ क्राइम नहीं करते?
अपराध क्या हिंदू नहीं करते हिंदुओं के साथ? मुसलमान अपराधी क्या मुसलमानों को बख़्श देते हैं? फिर किसी एक अपराध में, किसी एक केस में, फिर चाहे वो कितना भी जघन्य क्यों न हो, अपराध करने वाले और अपराध का शिकार हुए इंसान का मजहब क्यों उभारा जाता है? वो भी तब, जब दोनों के धर्म अलग हों?


अलीगढ़ में 2.5 साल की बच्ची के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सज़ा देने की मांग हो रही है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.