Submit your post

Follow Us

बलात्कार के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को अब संत-महंत भी समर्थन देने लगे

5
शेयर्स

चिन्मयानंद पर बलात्कार के आरोप हैं. खुद उन्होंने स्वीकार किया है कि मालिश करवाना “अनैतिक” है. लेकिन चिन्मयानंद के नाम के आगे “स्वामी” लिखा जाता रहेगा. स्वामी-संत-महंत. ओहदा बना रहेगा. कौन कहता है ऐसा? अखाड़ा परिषद कहता है. वही अखाड़ा परिषद्, जिसने कुछ दिनों पहले मीटिंग की थी और मीटिंग में ये बात सामने आई थी कि चिन्मयानंद से “स्वामी” की पदवी छीन ली जाएगी.

सोमवार को अखाड़ा परिषद् ने बाकायदा बयान जारी किया. अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा,

“स्वामी चिन्मयानंद के साथ अन्याय हुआ है. अखाड़ा परिषद् स्वामी चिन्मयानंद का हर तरह से साथ देगा.”

उन्होंने आगे कहा,

“चिन्मयानंद मामले की आड़ में साधु-संतों को बदनाम करने और उनकी छवि को बिगाड़ने की बड़ी साजिश की जा रही है. मामले में आरोप लगाने वाली लड़की की भूमिका संदिग्ध है. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि स्वामी चिन्मयानंद को नशीला पदार्थ खिलाकर फंसाने की कोशिश की गयी है.”

इसके पहले नरेंद्र गिरी ने बयान दिया था कि पूरी संभावना है कि चिन्मयानंद से उनकी पदवी छीनी जा सकती है. 10 अक्टूबर में हरिद्वार में संतों की होने वाली बैठक में चिन्मयानंद को अखाड़े से बाहर करने का प्रस्ताव पास हो सकता है, इस तरह की खबरे चली थीं. ये भी बात हुई थी कि इस मीटिंग में सभी 13 अखाड़े के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे, और सर्वसम्मति से चिन्मयानंद निष्कासित हो जाएंगे.

लेकिन 10 अक्टूबर को होने वाली मीटिंग का एजेंडा बदल गया है. निष्कासन की कार्रवाई नहीं होगी, बल्कि सब चिन्मयानंद का साथ देगे,

पूर्व भाजपा नेता, सांसद और केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल सिंह उर्फ़ चिन्मयानंद पर ये आरोप हैं कि उन्होंने शाहजहांपुर में मौजूद अपने लॉ कॉलेज की एक छात्रा का बलात्कार किया, यौन शोषण किया, अपहरण किया, और धमकी दी. वहीं इस मामले की पीड़िता ने एक वीडियो जारी कर दिया, जिसमें वह चिन्मयानंद की मालिश कर रही है. चिन्मयानंद ने स्वीकार किया है कि उन्होंने मसाज करवाया है, लेकिन बलात्कार के आरोपों को उन्होंने स्वीकार नहीं किया है. वहीं एक और वीडियो मीडिया और एसआईटी के हत्थे चढ़ा है, जिसमें पीड़िता अपने सहयोगियों के साथ मिलकर चिन्मयानंद से फ़िरौती मांग रही है.


वीडियो : योगी आदित्यनाथ के करीबी और शाहजहांपुर के रेप आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को कौन बचा रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हिंदू राष्ट्र की बात करते-करते पाकिस्तान की बात क्यों करने लगे संघ प्रमुख भागवत?

मोहन भागवत ने और भी बहुत कुछ कहा है, जो संघ के पुराने विचारों से मेल नहीं खाता.

'राम-राम' नहीं कहा तो अलवर में पति को पीटा, पत्नी के कपड़े उतारने की कोशिश की

पति-पत्नी मुसलमान थे.

भिखारिन के अकाउंट से इतने पैसे मिले कि बैंक भी सकते में है

यहां लाखों नहीं, करोड़ों की बात हो रही है.

क्या है गौतम नवलखा केस, जिसे सुनने से अबतक CJI समेत सुप्रीम कोर्ट के 5 जज इनकार कर चुके हैं

किसी भी जज ने कोई कारण नहीं बताया है, पूर्व जज ने कहा था, कारण बताने से पारदर्शिता बढ़ती है.

टीवी पर शुरू हो रहा है 'दी लल्लनटॉप क्विज' सौरभ द्विवेदी के साथ, पूरी जानकारी पाइए

टीवी के इतिहास का सबसे मस्त क्विज, शनिवार 5 अक्टूबर से.

चिन्मयानंद को बचाने के लिए वकील ने कोर्ट में गजब का तर्क दिया है

और ऐसी बात जिसका केस से कोई संबंध नहीं.

योगी का नया ऐप ये काम कर देगा, किसी ने सोचा भी नहीं था

ये क्या बवाल मोल ले लिया योगी जी ने.

चिन्मयानंद और कुलदीप सेंगर के फोन में ऐसा क्या ख़ास है कि पुलिस उलझ गयी है

माथापच्ची हो रही, लेकिन उनका फोन नहीं खुल पा रहा.

13 साल की लड़की 'भाई, भाई' कहते गिड़गिड़ाती रही, लड़के रेप करते रहे, वीडियो बनाते रहे

एक ऐसा बर्बर वीडियो वायरल किया गया, जिसे देखा नहीं जा सकता.

गोरखपुर हादसा : यूपी सरकार ने जांच में कफ़ील खान को क्लीन चिट दे दी

जांच रिपोर्ट में और क्या कहा गया है?