Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या क्रेन से लाशों को डंप करके जलाने वाला वीडियो इटली का है?

दावा

वॉट्सऐप पर लाशों के ढेर को क्रेन से उठाकर डंप करने का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है. दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो इटली का है और लाशें कोरोना वायरस संक्रमण से मरे लोगों की हैं. वीडियो के ऊपर अंग्रेजी में इटली भी लिखा है.

दावे के अनुसार,

ये इटली में कोरोना वायरस संक्रमण से मरे लोगों को जलाने का वीडियो है.

आपको बता दें कि इटली में कोरोना वायरस से अब तक 13 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ की पड़ताल में ये दावा ग़लत निकला. हमने वायरल वीडियो को कीफ़्रेम्स में तोड़ा. एक फ्रेम को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें 22 फ़रवरी, 2015 को पब्लिश एक ब्लॉग मिला. ये ब्लॉग एक साउथ कोरियन फ़िल्म ‘फ्लू’ के बारे में था. इसमें वैसी तस्वीर भी लगी थी, जो हमने वीडियो को फ्रेम्स में तोड़कर निकाली थी. इसमें एक क्रेन बहुत सारी लाशों को ऊपर उठाती दिख रही है.

इस सुराग के आधार पर हमने यूट्यूब पर सर्च किया. हमें 29 अगस्त, 2013 को अपलोड हुआ एक वीडियो मिला. वायरल वीडियो में जो सीन दिख रहा है, वो आप इस वीडियो में 2:11 मिनट से देख सकते हैं.

ये फ़िल्म 14 अगस्त, 2013 को रिलीज हुई थी. फ़िल्म की कहानी H5N1 नामक वायरस के प्रकोप पर बेस्ड है.

कोरोना वायरस की शुरुआत दिसंबर, 2019 में चीन में हुई थी. इटली इससे सबसे अधिक प्रभावित देशों में से है. शहरों के कब्रिस्तान में जगह न बचने की वजह से लाशों को शहर से बाहर दफनाया जा रहा है. हालांकि, इटली में लाशों को जलाने से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं आई है.

नतीजा

क्रेन से उठाकर लाशों को डंप करने का वीडियो इटली का बताकर शेयर किया जा रहा है. ये दावा पूरी तरह से ग़लत है. वायरल वीडियो में दिख रहा सीन 2013 में आई दक्षिण कोरियाई फ़िल्म ‘फ्लू’ का है. इसका कोरोना वायरस या इटली से कोई संबंध नहीं है.

अगर आपको भी किसी ख़बर पर शक है,
तो हमें मेल करें- padtaalmail@gmail.com पर.
हम दावे की पड़ताल करेंगे और आप तक सच पहुंचाएंगे.

कोरोना वायरस से जुड़ी हर बड़ी वायरल जानकारी की पड़ताल हम कर रहे हैं.
इस लिंक पर क्लिक करके जानिए वायरल दावों की सच्चाई.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें