Submit your post

Follow Us

पड़ताल: सेब की पेटी में गोलियां-ग्रेनेड, पर पकड़े गए शख़्स को कांग्रेस MLA बताते दावे ग़लत

दावा

सोशल मीडिया पर हाथों में हथकड़ी लगे एक शख़्स की तस्वीर वायरल हो रही है. साथ में एक पेटी से कुछ बिखरे हुए सेब, कुछ कारतूस और ग्रेनेड्स की तस्वीर भी शेयर की जा रही है. दोनों तस्वीरों को शेयर कर रहे सोशल मीडिया यूज़र्स इसे असम के कथित कांग्रेस नेता अज़मत अली(अमजात) की तस्वीर बता रहे हैं. दावा कर रहे हैं ये कथित कांग्रेस नेता हमले की प्लानिंग कर रहा था.

फेसबुक यूज़र अजय मोदी ने वायरल तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा है,

#असम के कांग्रेस नेता अमजात अली🐷 सेब🍎की पेटी में हथियार और गोलियों के साथ… हिरासत में। काफिरों को मारने का कर रहा था…

Posted by Ajay Modi on Saturday, 13 November 2021

ट्विटर यूज़र शिवदान सिंह छौंकर ने भी यही दावा किया है (आर्काइव).

फेसबुक और ट्विटर के अलावा वाट्सऐप पर भी ये दावा तेजी से वायरल हो रहा है.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल दावे की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में वायरल तस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला.

रिवर्स इमेज सर्च के ज़रिए हमें हाथ में हथकड़ी लगे शख़्स की तस्वीर बांग्ला न्यूज़ नाम के एक ब्लॉगस्पॉट पर मिली. इसके मुताबिक, शख़्स का नाम मुबारक हुसैन है, जिसे 4 साल की बच्ची का बलात्कार और हत्या करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था. मुबारक घटना के वक्त बांग्लादेश के मेमनसिंह शहर के एक मदरसे में इमाम था. ये ब्लॉग 16 मई 2018 को पब्लिश हुआ था. (आर्काइव लिंक)

ओरिजनल रिपोर्ट बांग्ला में लिखी गई है. तस्वीर में दिख रहा अंग्रेज़ी का वर्जन गूगल ट्रांसलेट से ट्रांसलेट किया गया है.
ओरिजनल रिपोर्ट बांग्ला में लिखी गई है. तस्वीर में दिख रहा अंग्रेज़ी का वर्जन गूगल ट्रांसलेट से ट्रांसलेट किया गया है.

वायरल हो रही तस्वीर में दिख रहे पुलिसकर्मियों ने जो वर्दी पहनी है, वही वर्दी मेमनसिंह शहर की पुलिस कीहै.

बाईं ओर है वायरल तस्वीर. दाईं ओर है मेमनसिंह शहर की पुलिस की एक तस्वीर. (स्रोत- bdnews24)
बाईं ओर है वायरल तस्वीर. दाईं ओर है मेमनसिंह शहर की पुलिस की एक तस्वीर. (स्रोत- bdnews24)

हालांकि, हम इस तस्वीर के बारे में ब्लॉगस्पॉट में लिखी जानकारी की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं कर पाए हैं.

इस घटना के बारे में बांग्लादेश की न्यूज वेबसाइट ‘द डेली स्टार’ ने भी 6 मई, 2018 को रिपोर्ट छापी थी.

दूसरी तस्वीर में सेब के साथ कुछ कारतूस और बम-ग्रेनेड बिखरे हुए हैं. रिवर्स सर्च करने पर हमें जम्मू-कश्मीर पुलिसके ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर ये तस्वीर मिली. 29 अक्टूबर 2018 को किए गए इस ट्वीट के मुताबिक, श्रीनगर के बाहरी इलाके में गोलीबारी हुई. जिसमें तीन संदिग्ध आतंकी गिरफ़्तार हुए, जिसमें से एक घायल है. जांच शुरू है.(आर्काइव लिंक)

जम्मू-कश्मीर पुलिस के अलावा जागरण वेबसाइट ने भी 30 अक्टूबर 2018 को ये तस्वीर ख़बर समेत पब्लिश की है. (आर्काइव लिंक)

हमने अमजात अली(अज़मत) नाम के कांग्रेस नेता के बारे में इंटरनेट पर खोजा, लेकिन सर्च रिज़ल्ट में कहीं भी असम कांग्रेस के किसी ऐसा नेता के बारे में कोई जानकारी हमें नहीं मिली.

नतीजा

हमारी पड़ताल में असम के कथित कांग्रेसी नेता के आतंकी साज़िश में शामिल होने के नाम पर वायरल दावा और तस्वीरें भ्रामक निकलीं. वायरल दावे के साथ शेयर की जा रही दोनों तस्वीरें अलग-अलग जगह और समय की हैं. पुलिस की गिरफ़्त में खड़े शख़्स की तस्वीर बांग्लादेश की है. वहीं सेब की पेटी से निकले हैंड ग्रेनेड की तस्वीर कश्मीर की है. इनका असम या किसी कांग्रेस नेता से कोई वास्ता नहीं है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


पड़ताल: क्या सड़क पर नमाज़ पढ़ने का वीडियो भारत का है?

पड़ताल: सेब की पेटी में गोलियां-ग्रेनेड, पर पकड़े गए शख़्स को कांग्रेस MLA बताते दावे ग़लत
  • दावा

    असम के कांग्रेस नेता अमजात अली सेब की पेटी में हथियार और गोलियों के साथ गिरफ्तार

  • नतीजा

    वायरल तस्वीर में नजर आ रहा शख़्स का संबंध बांग्लादेश से है और दूसरी तस्वीर कश्मीर में मुठभेड़ के बाद हथियार बरामदगी की है. दोनों तस्वीरें साल 2018 की हैं.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: क्या यूपी में वोट मांगने गए इस BJP नेता के लोगों ने कपड़े फाड़ दिए?

पड़ताल: क्या यूपी में वोट मांगने गए इस BJP नेता के लोगों ने कपड़े फाड़ दिए?

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि यूपी में वोट मांगने पर जनता ने बीजेपी नेता को पीटा और फिर कपड़े फाड़ दिए.

पड़ताल: योगी के यूपी में नहीं मिल रही लोगों को एम्बुलेंस? सच जानिए

पड़ताल: योगी के यूपी में नहीं मिल रही लोगों को एम्बुलेंस? सच जानिए

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर में दो आदमी एक महिला के शव को बाइक पर ले जाते नज़र आ रहे हैं.

पड़ताल: सांसद रवि किशन ने दलितों के बारे में क्या कह डाला? जानिए सच

पड़ताल: सांसद रवि किशन ने दलितों के बारे में क्या कह डाला? जानिए सच

सोशल मीडिया पर रवि किशन का कुछ लोगों के साथ कार में बैठे हुए बातचीत का वीडियो वायरल हो रहा है.

पड़ताल: मोहन भागवत के साथ असदुद्दीन ओवैसी की फोटो वायरल. जानिए सच

पड़ताल: मोहन भागवत के साथ असदुद्दीन ओवैसी की फोटो वायरल. जानिए सच

वायरल तस्वीर में RSS प्रमुख मोहन भागवत के साथ AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी सोफे पर बैठे नज़र आ रहे हैं

पड़ताल: जयंत चौधरी के 'जाटों का ठेका नहीं लिया' वाले बयान से छेड़छाड़ कर BJP ने भ्रम फैलाया

पड़ताल: जयंत चौधरी के 'जाटों का ठेका नहीं लिया' वाले बयान से छेड़छाड़ कर BJP ने भ्रम फैलाया

सोशल मीडिया यूज़र्स वायरल वीडियो को शेयर कर जयंत चौधरी पर कटाक्ष कर रहे हैं.

पड़ताल: PM मोदी ने नहीं बनवाई ओवैसी के गढ़ में सबसे बड़ी हिन्दू मूर्ति, सच्चाई जानिए

पड़ताल: PM मोदी ने नहीं बनवाई ओवैसी के गढ़ में सबसे बड़ी हिन्दू मूर्ति, सच्चाई जानिए

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि ओवैसी के घर के बगल में पीएम मोदी ने हिंदू संत की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बनवा दी है.

पड़ताल: क्या केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मोदी के रहते नहीं हो सकता किसानों का हित? जानिए सच

पड़ताल: क्या केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मोदी के रहते नहीं हो सकता किसानों का हित? जानिए सच

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के वायरल वीडियो का सच ये है.

पड़ताल: योगी आदित्यनाथ कार में भजन सुनते नज़र आ रहे हैं? जानिए सच

पड़ताल: योगी आदित्यनाथ कार में भजन सुनते नज़र आ रहे हैं? जानिए सच

सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार में भजन सुनने का दावा वायरल हो रहा है.

पड़ताल: स्वामी विवेकानंद को 1857 क्रांति से जोड़ PIB ने इतिहास बदला, बाद में गलती मानी

पड़ताल: स्वामी विवेकानंद को 1857 क्रांति से जोड़ PIB ने इतिहास बदला, बाद में गलती मानी

PIB इंडिया ने रमण महर्षि को भी 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन से जोड़कर दिखाया.

पड़ताल: मोदी की कैबिनेट बैठक में सिखों को सेना से हटाने पर हुई चर्चा? जानिए सच

पड़ताल: मोदी की कैबिनेट बैठक में सिखों को सेना से हटाने पर हुई चर्चा? जानिए सच

सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री मोदी की केंद्रीय मंत्रियों के साथ चल रही बैठक का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा है कि कैबिनेट बैठक में आर्मी से सिखों को निकालने की बात पर चर्चा हुई.