Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस "मंदिर को दरगाह बनाने की कोशिश की?"

दावा

सोशल मीडिया पर एक धार्मिक स्थल की दों तस्वीरों का कोलाज वायरल है. वायरल तस्वीर में एक तरफ़ एक महिला एक शिला की पूजा करती दिख रही हैं और दूसरी तस्वीर में शिला पर हरे रंग की चादर नज़र आ रही है.

दावा किया जा रहा है कि राजस्थान के हनुमानगढ़ में एक मंदिर को दरगाह बनाने की कोशिश की गई थी. उसे हिंदुओं ने मुक्त करवा दिया है.

फेसबुक यूज़र के.के सिंह ने वायरल तस्वीर चाणक्य नीति नाम के फेसबुक ग्रुप में शेयर किया है. तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा है-

“राजस्थान के हनुमानगढ़ में सैकड़ों पुराना शिला माता मंदिर है. कांग्रेस की सरकार आने के बाद इसे शिला पीर दरगाह बनाने की कोशिश की गई, जिसे आज हनुमानगढ़ के हिंदू समाज ने वहां की चादर, पीर वाला बोर्ड और इस मंदिर पर कब्ज़ा जमाने वाले मौलवी को हटाकर मंदिर को मुक्त किया.”

K K Singh Fb Post
फेसबुक यूज़र के के सिंह का पोस्ट.

(आर्काइव)

ट्विटर यूज़र इंद्रनील ने वायरल दावा ट्वीट किया. इंद्रनील का लिखा बिना किसी भाषाई बदलाव के, ज्यों का त्यों आपको पढ़ा रहे हैं-

“राजस्थान के हनुमानगढ़ के शीला माता मंदिर पर कब्जा हो गया हैं और उस जगह को शीला पीर (दरगाह) में बदल दिया गया है. वहां पत्थर बनाकर हरा चादर चढ़ाया जा रहा है. भारत के अंदर लैंड जिहाद बहुत तेजी से चल रहा है. भारत के अंदर लाखों अवैध मजार बन रहें हैं, जमीन कब्जाई जा रही हैं.”

(आर्काइव)

इसी तरह के तमाम दावे हनुमानगढ़ के इस धार्मिक स्थल के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हैं.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने ‘शिला पीर’ के नाम पर वायरल दावे की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में राजस्थान के हनुमानगढ़ स्थित ‘शिला पीर’ के नाम से जुड़ा वायरल दावा भ्रामक निकला. ‘शिला पीर’ किसी धर्म से जुड़ा हुआ नहीं है. इस स्थान पर हिंदू और मुस्लिम, दोनों धर्मों के लोग पूजा करने आते हैं.

कुछ कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर हमें ‘दैनिक भास्कर‘ अख़बार की 24 मार्च 2021 की एक रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट के मुताबिक़, ‘शिला पीर’ पर दूध और नमक चढ़ाए जाने को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट्स वायरल हुए थे. इसके बाद प्रशासन ने मौके पर पहुंच कर पारंपरिक रूप से शिला पर नमक और दूध चढ़ाने की प्रकिया को कायम किया. जिले के DM जाकिर हुसैन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस की टीम को तत्काल मौके पर भेजा था.

(आर्काइव)

हमने मामले की अधिक जानकारी के लिए DM जाकिर हुसैन से संपर्क किया. उन्होंने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया-

“शिला पीर पर हिंदू और मुस्लिम दोनों आते हैं. लोग मानते हैं कि यहां पूजा करने से चर्म रोग ठीक हो जाते हैं. कुछ दिनों पहले मैं यहां का DM था, अभी मेरा ट्रांसफर श्रीगंगानगर हो गया है. यहां पारंपरिक रूप से शिला पर नमक और दूध चढ़ाए जाने की प्रक्रिया को रोकने की शिकायत मिली थी. इसके बाद प्रशासन ने मौके पर पहुंच कर यथास्थिति को कायम किया था.”

इसके बाद हमने हनुमानगढ़ के SDM कपिल यादव से बात की. उन्होंने भी हमें यही जानकारी दी.

हमने ‘शिला पीर’ की व्यवस्था देखने वाले यासीन खान ने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया-

“यहां सभी धर्मों के लोग कई सालों से आते हैं. मैं यहां 50 सालों से हूं. हिंदू इस स्थान को ‘शिला माता’ बोलते हैं और मुसलमान ‘शिला पीर’ के नाम से बुलाते हैं. यहां लोग दूध में नमक मिलाकर चढ़ाते हैं और फिर घर ले जाकर उसे शरीर के चर्म रोग वाले हिस्से में लगाते हैं. इससे चर्म रोग ठीक हो जाता है. शिला पर धूल न पड़े इसलिए चादर डाली गई थी. लेकिन कुछ लोगों ने आपत्ति जताई तो उसे हटा दिया गया. यहां कोई विवाद नहीं है. सभी धर्मों के लोग आज भी यहां आ रहे हैं और मन्नतें मांग रहे हैं.”

‘शिला पीर’ के बारे में सर्च करने पर ‘ETV राजस्थान‘ की एक रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट के मुताबिक़, राजस्थान के हनुमानगढ़ स्थित ‘शिला पीर’ हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई एकता की अनूठी मिसाल पेश करती है.

इस जगह पर न तो मंदिर है, न ही मस्ज़िद और न ही गुरुद्वारा. यहां प्राचीन काल से एक शिला है. हिंदू और सिख इसे ‘शिला माता’ के नाम से पूजते हैं तो वहीं मुसलमान इस शिला को ‘पीर’ मानकर इसकी इबादत करते हैं. यहां सभी धर्मों के अनुयायी अपने त्वचा संबंधी रोगों के निवारण के लिए आते हैं. (आर्काइव)

नतीजा

हमारी पड़ताल में राजस्थान के हनुमानगढ़ स्थित ‘शिला पीर’ के नाम पर वायरल साम्प्रदायिक दावा भ्रामक निकला. ‘शिला पीर’ स्थान पर लंबे समय से सभी धर्मों के लोग पूजा करने आते हैं. यहां कोई मंदिर, मस्जिद या गुरुद्वारा नहीं है. कुछ दिनों पहले यहां दूध और नमक चढ़ाने की परंपरा संबंधी विवाद हुआ था. जिसे जिला प्रशासन ने तुरंत सुलझा लिया था.


पड़ताल: क्या 5जी रेडियेशन के कारण हर चीज छूने से महसूस हो रहा करंट?

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस
  • दावा

    हनुमानगढ़ के हिंदुओं ने शिला माता मंदिर को दरगाह बनाए जाने से बचाया.

  • नतीजा

    'शिला पीर' स्थान पर न कोई मंदिर था न कोई दरगाह. यहां एक शिला है जिसकी पूजा हिंदू, मुस्लिम और सिख सालों से करते आ रहे हैं.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaal@lallantop.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: नौजवान की मारपीट और धारदार हथियार से हत्या को मुस्लिमों से जोड़ते वीडियो का सच

पड़ताल: नौजवान की मारपीट और धारदार हथियार से हत्या को मुस्लिमों से जोड़ते वीडियो का सच

वॉट्सऐप पर वायरल वीडियो के एक हिस्से में भीड़ मारपीट कर लड़के को एक इमारत में खींचकर ले जाती है.

पड़ताल: सिद्धार्थ शुक्ला के आखिरी पलों का वीडियो बताकर भ्रम फैलाया जा रहा, जानिए सच

पड़ताल: सिद्धार्थ शुक्ला के आखिरी पलों का वीडियो बताकर भ्रम फैलाया जा रहा, जानिए सच

बिग बॉस विजेता रहे 40 साल के टीवी ऐक्टर सिद्धार्थ शुक्ला की 2 सितंबर को मुंबई में मौत हो गई.

पड़ताल: अमेरिकी सेना के बचे हेलिकॉप्टर्स तालिबान को मिले तो वे इन्हें सड़क पर दौड़ाने लग गए?

पड़ताल: अमेरिकी सेना के बचे हेलिकॉप्टर्स तालिबान को मिले तो वे इन्हें सड़क पर दौड़ाने लग गए?

दावा किया जा रहा है कि ये तालिबान की हेलिकॉप्टर ट्रेनिंग का वीडियो है.

पड़ताल: क्या आर्कटिक में चाँद ने ढक लिया सूरज? देखिए इस वीडियो का सच

पड़ताल: क्या आर्कटिक में चाँद ने ढक लिया सूरज? देखिए इस वीडियो का सच

ये वीडियो एक बार फिर वॉट्सऐप पर वायरल हो रहा है.

पड़ताल: न्यूज़ चैनल CNN ने नहीं की तालिबान की तारीफ, फर्जी है स्क्रीनशॉट

पड़ताल: न्यूज़ चैनल CNN ने नहीं की तालिबान की तारीफ, फर्जी है स्क्रीनशॉट

विवेक अग्निहोत्री, वरुण गांधी समेत कई वेरिफाइड यूज़र्स ने किया दावा.

पड़ताल: क्या इस साल 10वीं और 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स को सरकारी नौकरी के लिए स्पेशल पेपर देना होगा?

पड़ताल: क्या इस साल 10वीं और 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स को सरकारी नौकरी के लिए स्पेशल पेपर देना होगा?

न्यूज़ वेबसाइट के वायरल स्क्रीनशॉट का पूरा सच यहां जानिए.

पड़ताल: किन्नौर में हुए भूस्ख़लन के बाद हिमाचल के पहाड़ों में लगा है ये भयानक जाम?

पड़ताल: किन्नौर में हुए भूस्ख़लन के बाद हिमाचल के पहाड़ों में लगा है ये भयानक जाम?

हिमाचल समेत पूरे हिमालय क्षेत्र में पहाड़ दरकने की ख़बरें लगातार आ रही हैं.

पड़ताल: क्या घरेलू गैस की बढ़ी कीमतों की ज़िम्मेदार

पड़ताल: क्या घरेलू गैस की बढ़ी कीमतों की ज़िम्मेदार "55% टैक्स वसूलने वाली राज्य सरकारें" हैं?

दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार मात्र 5% टैक्स ले रही है, जबकि राज्य सरकारें कई गुणा ज्यादा.

पड़ताल: क्या तस्वीर में दिख रही महिला अफ़ग़ानी राजदूत की बेटी हैं, जिसका पाकिस्तान में

पड़ताल: क्या तस्वीर में दिख रही महिला अफ़ग़ानी राजदूत की बेटी हैं, जिसका पाकिस्तान में "अपहरण" हुआ था?

अफ़ग़ानी राजदूत ने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में उनकी बेटी का अपहरण होने का दावा किया था.

पड़ताल: क्या नागालैंड में उग रहे हैं ये खूबसूरत रंगीन भुट्टे?

पड़ताल: क्या नागालैंड में उग रहे हैं ये खूबसूरत रंगीन भुट्टे?

सोशल मीडिया पर वायरल इस तस्वीर को हज़ारों यूज़र लाइक कर चुके हैं.